ग्रामीण क्षेत्र की विकास योजनाओं में कोताही बर्दाश्त नहीं होगी : सुजान सिंह यादव

फरीदाबाद ( abtaknews.com ) 23 नवंबर, 2021: श्यामा प्रसाद मुखर्जी रुबन मिशन योजना के तहत आने वाले सभी विकास कार्य एवं गतिविधियों को विभागीय अधिकारी तत्परता से पूर्व निर्धारित समय अवधि में पूरा करें। यह आवश्यक दिशा-निर्देश निदेशक एवं विशेष सचिव ग्रामीण विकास विभाग, हरियाणा सुजान सिंह यादव ने श्यामा प्रसाद मुखर्जी रूर्बन मिशन योजना (एसपीएमआरएम) के तहत तिगांव क्लस्टर में संचालित गतिविधियों एवं विकास कार्यो के भौतिक और वित्तीय प्रदर्शन की समीक्षा के सम्बंध में लघु सचिवालय में आयोजित बैठक में उपस्थित विभागीय अधिकारियों से विचार-विमर्श करते हुए दिए।

उन्होंने बताया कि इस मिशन का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण और शहरी अंतर को कम करना है। विकास की संभावना वाले इन क्लस्टरों का अपना आर्थिक महत्व है। इन गांवों को ही रूर्बन की तरह विकसित किया जाना है। इसके तहत ग्रामीण क्षेत्रों में गरीबी और बेरोजगारी को दूर करने पर बल देते हुए स्थानीय आर्थिक विकास को प्रोत्साहित करने सहित ग्रामीण क्षेत्रों में निवेश को बढ़ावा दिया जाएगा। जिसके लिये ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत कौशल विकास प्रशिक्षण, कृषि प्रसंस्करण, कृषि सेवा, भंडारण और वेयर हाउसिंग, मोबाइल हेल्थ यूनिट, स्कूल,पानी की सप्लाई, स्ट्रीट लाइट, गांवों के बीच संपर्क मार्ग, डिजिटल साक्षरता, सीलर लाईट, ई-ग्राम कनेक्टिविटी के लिए सिटिजन सर्विस सेंटर भी स्थापित किए जाने की जैसी सम्बंधित विकास गतिविधियों को अंतिम रूप दिए जाने के लिये योजनाबद्ध रूप से कार्य किया जा रहा है, जिसके लिए अधिकारियों को चाहिए कि वे अपने से जुड़े कार्य दायित्वो का निर्वाह पूर्ण निष्ठा एवं ईमानदारी से करें और अपने से जुड़ी विकास योजनाओं व गतिविधियों  में तेजी लाकर कार्यों को अंतिम रूप प्रदान करें ताकि उक्त योजना का लाभ संबंधित वर्ग को समय रहते देकर योजना के उद्देश्यों की सामुहिक प्रयासों से पूर्ति की जा सके। उन्होंने पशुपालन,शिक्षा, पंचायती राज, बी एंड आर, जन- स्वास्थ्य, हरियाणा एग्रीकल्चर मार्किटिंग बोर्ड सम्बंधित विषयों की समीक्षा करते हुए भी अधिकारियों को आवश्यक दिशा- निर्देश दिए।


उन्होंने अधिकारियों से सख्त लहजे में चेतावनी देते हुए कहा कि जो अधिकारी अपने कार्य- दायित्वों को समय रहते जानबूझकर पूरा नहीं कर रहे और कार्य में बाधा उत्पन्न कर रहे हैं। उनके खिलाफ सख्त अनुशासनात्मक कार्रवाई अमल में लाई जाएगी, लिहाजा सभी अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि उनसे जुड़े सभी विकास कार्य एवं गतिविधि रिकॉर्ड समय में पूरा हो सके। इस अवसर पर अतिरिक्त उपायुक्त सतबीर मान ने उन्हें आश्वस्त करते हुए कहा कि उनके मार्गदर्शन में सभी विकास कार्यों एवं गतिविधियों को योजना के तहत समय रहते जल्द ही अंतिम रूप दिया जा सकेगा।

No comments

Powered by Blogger.