हरियाणा में ‘‘अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस’’ पर किए योगासन से लिया निरोगी रहने का संकल्प 

चण्डीगढ़ (Abtaknews.com)21जून,2021: हरियाणा में आज सभी जिलों में ‘‘अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस’’ के कार्यक्रम कोरोना प्रोटोकॉल को ध्यान में रखते हुए आयोजित किए गए जिनमें मंत्री, सांसद व विधायकों के अलावा अन्य गणमान्य लोगों ने शिरकत की। हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने आज चण्डीगढ़ स्थित अपने निवास स्थान पर आयोजित योग कार्यक्रम में हिस्सा लिया तो वहीं, हरियाणा के स्वास्थ्य एवं आयुष मंत्री श्री अनिल विज ने अंबाला में आयोजित किए गए योग कार्यक्रम में भागीदारी की। ऐसे ही, केंद्रीय जल शक्ति, सामाजिक व न्याय अधिकारिता मंत्री श्री रतन लाल कटारिया और हरियाणा विधानसभा के अध्यक्ष श्री ज्ञान चंद गुप्ता ने पंचकूला में आयोजित योग कार्यक्रम में भाग लिया।
केंद्रीय जल शक्ति, सामाजिक व न्याय अधिकारिता मंत्री, श्री रतन लाल कटारिया
केंद्रीय जल शक्ति, सामाजिक व न्याय अधिकारिता मंत्री श्री रतन लाल कटारिया ने पंचकूला में कहा कि कोविड महामारी के दौरान योग ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है और इसका अभ्यास कर लाखों लोगों को स्वस्थ होने में सहायता मिली है। उन्होंने कहा कि आज योग दिवस पूरे विश्व में मनाया जा रहा है। यह प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी का विजन था, जिनकी एक आवाज पर विश्व के 171 से अधिक देशों ने योग को अपनाया और 21 जून अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के रूप में घोषित हुआ।
हरियाणा विधानसभा के अध्यक्ष, श्री ज्ञान चंद गुप्ता
हरियाणा के विधानसभा अध्यक्ष श्री ज्ञानचंद गुप्ता ने पंचकूला में कहा कि योग कोई नई विद्या नहीं अपितु हमारे ऋषियों-मुनियों द्वारा दी गई सदियों पुरानी पद्धति है, जिसके माध्यम से शरीर को स्वस्थ व निरोग रखा जा सकता है। उन्होंने लोगों से मन और तन की शुद्धता व मन को संकल्पित बनाने के लिये योग करने की अपील की। श्री गुप्ता ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने जिस तरह यूएनओ के माध्यम से पूरे विश्व में योग को एक नई पहचान दिलवाई हैं और इसका प्रचार प्रसार किया, यह हमारे लिये गर्व की बात है।   उन्होंने कहा कि आज अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस भारत में ही नहीं अपितु पूरे विश्व में मनाया जा रहा है। मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल के नेतृत्व में हरियाणा में एक साथ 1100 स्थानों पर योग कार्यक्रम आयोजित किये गये हैं ।  
हरियाणा विधानसभा के उपाध्यक्ष, रणबीर गंगवा
हरियाणा विधानसभा के उपाध्यक्ष रणबीर गंगवा ने हिसार में कहा है कि योग स्वस्थ रहने का मूल मंत्र है, इसलिए निरोगी काया के लिए हम सभी को नियमित रूप से योग क्रियाएं करनी चाहिएं। श्री गंगवा ने कहा कि योग मानवीय जीवन का सर्वोत्तम अभ्यास है, जिसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलवाकर विश्व भर में भारत का गौरव बढ़ाया है। योग हमारे देश की 5000 वर्ष से भी पुरानी पद्धति है। यह भारतीय संस्कृति का प्रतीक है, जो हमें जोडऩे में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है।
स्वास्थ्य एवं आयुष मंत्री, श्री अनिल विज
हरियाणा के स्वास्थ्य एवं आयुष मंत्री श्री अनिल विज ने अंबाला में कहा कि कुरूक्षेत्र में आयुष विश्वविद्यालय की स्थापना की गई है, जहां योग, युनानी, सिद्घा, होम्योपैथी की डिग्रीयां प्रदान की जाएंगी। इस विश्वविद्यालय में योग कोर्स शुरू हो चुके हैं। जगह-जगह योग सिखाएंगे तो क्वालिफाईड योग विशेषज्ञों की जरूरत पड़ेगी, इसलिए 1000 योग शिक्षकों के पदों की भी मंजूरी मिल चुकी है और उन्हें शीघ्र भरा जायेगा।
उन्होंने यह भी कहा कि योग दिवस मनाने का मुख्य उद्देश्य लोगों को योग के प्रति प्रेरित करना है लेकिन स्वास्थ्य की दृष्टि से निरंतरता में योग करते रहना चाहिए। मंत्री विज ने अपने सम्बोधन में आगे कहा कि वर्ष 2014 में देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने यूएनओ में प्रस्ताव रखा था और इसी उम्मीद के साथ यह पास हो जायेगा। प्रधानमंत्री की पहल पर यह प्रस्ताव पास हुआ और 170 देशों ने प्रस्ताव का समर्थन किया और फिर यह तय हुआ कि योग दिवस मनाया जाए। 21 जून सबसे लंबा दिन होता है और इसे लंबी जिंदगी के दृष्टिकोण के साथ इसलिए जोड़ दिया गया कि योग की निरंतरता के चलते आयु भी लंबी होगी। उन्होंने कहा कि योग सिखाने की मांग आए दिन बढ़ रही है।  
शिक्षा मंत्री, कंवर पाल
शिक्षा मंत्री कंवर पाल ने यमुनानगर में कहा कि योग स्वस्थ जीवन जीने की एक पद्धति है। आज की भौतिक भाग-दौड़ को देखते हुए योग का अभ्यास अति आवश्यक है क्योंकि सबसे बड़ा सुख शरीर का स्वस्थ होना है, जिसकी प्राप्ति योग से होती है। यदि आपका शरीर स्वस्थ है तो आपके पास दुनिया की सबसे बड़ी दौलत है। इस बात के महत्व को समझते हुए हरियाणा सरकार द्वारा कुरूक्षेत्र में आयुष विश्वविद्यालय की स्थापना, पंचकूला में राष्ट्रीय आयुर्वेद योग एवं प्राकृति चिकित्सा संस्थान की स्थापना, गांव देवरखाना जिला झज्जर में पोस्ट ग्रेजुएट योग एवं प्राकृति चिकित्सा एवं रिसर्च संस्थान की स्थापना भारत सरकार के सहयोग से की जा रही है। इतना ही नहीं योग को बढ़ावा देने के लिए हरियाणा के गांवों-गांवों में व्यायामशालाएं खोले जाने के लिए सरकार प्रतिबद्ध है।
परिवहन मंत्री, मूलचंद शर्मा
हरियाणा के परिवहन एवं खनन मंत्री मूलचंद शर्मा ने फरीदाबाद में कहा कि योग स्वस्थ जीवन का आधार है और हमें बेहतर स्वास्थ्य के लिए योग को अपने जीवन का अभिन्न अंग बनाना होगा। कोविड-19 वैश्विक महामारी कोरोना के वायरस को रोकने में योग की अहम भूमिका रही। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के रोकने के लिए जब दुनिया में कोई दवा नहीं थी तब योगाभ्यास के नियमों की पालना करने वाले लोगों में इम्यूनिटी पावर की गुणात्मक बढ़ोतरी की बदौलत से कोरोना वायरस  को शरीर से खत्म करने में लोगों को कामयाबी मिली।
  उन्होंने कि भारत की योग प्राचीनतम पद्धति है। भारत की योग पद्धति का आज पूरे विश्व के देशों में अनुसरण किया जा रहा है। आज सातवें अंतर्राष्ट्रीय योगा दिवस पर धरती, आसमान और पाताल में भी लोगों ने योगभ्यास किया। एयर फोर्स के सैनिकों ने आसमान में, नेवी के सैनिकों ने समुंदर में और आम जन तथा थल सेना ने धरती पर सातवां अंतर्राष्ट्रीय योगा दिवस धूमधाम से मनाया गया है।
कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री, जयप्रकाश दलाल
प्रदेश के कृषि एवं पशुपालन मंत्री जयप्रकाश दलाल ने भिवानी में कहा कि योग भारत की प्राचीनतम पद्धति है। भारत की इस योग पद्धति को आज सारा विश्व अपना रहा है। उन्होंने कहा कि योग से  मन-मस्तिष्क दोनों स्वस्थ रहते हैं, जिससे स्वस्थ समाज व मजबूत राष्ट्र का निर्माण होता है। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी संक्रमण के दौरान योग ने अपनी प्रमाणिकता साबित की है। हमें योग को अपनी दिनचर्या में शामिल करना चाहिए।
कृषि मंत्री ने कहा कि वर्तमान की भागदौड़ की जिंदगी में हम अनेक प्रकार की बीमारियों की जकड़ में आ गए हैं। मनुष्य बीमारियों से छुटकारा पाने के लिए हजारों-लाखों रुपए ईलाज पर खर्च करता है, फिर भी छुटकारा नहीं मिल पाता है, लेकिन नियमित रूप से योग-प्राणायाम को अपनाकर हम निरोगी रह सकते हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर ही आज पूरा विश्व योगमय है। प्रधानमंत्री श्री मोदी के प्रयासों से ही पूरे भारत देश में ही नहीं बल्कि पूरे विश्व में योग को अपनाया जा रहा है।
सहकारिता मंत्री, डॉ. बनवारी लाल
सहकारिता मंत्री डॉ बनवारी लाल ने रेवाड़ी में कहा कि प्राचीन समय में योग विद्या का प्रयोग केवल ऋषि-मुनियों तक ही सीमित था लेकिन अब योग सबके लिए सुलभ है और कोरोना काल में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में योग बहुत कारगर सिद्घ हुआ है ।
सहकारिता मंत्री ने कहा कि योग शरीर के सभी आंतरिक अंगों को सक्रिय कर शरीर के अंदर ऊर्जा का प्रवाह बढ़ाते हैं। शरीर की ऊर्जा को बढ़ाने के लिए योग बहुत जरूरी है। उन्होंने कहा कि किसी भी देश की मजबूती का आधार इसी बात से लगाया जाता है कि उस देश के नागरिक कितने स्वस्थ व निरोग हैं। जिस देश के नागरिक जितने अधिक स्वस्थ होंगे व देश उतना ही मजबूत होगा। उन्होंने कहा कि आज का दिन विश्व योग दिवस  के नाम से जाना जाता है। आज सबसे बड़ा दिन होता है। इसलिए ही 21 जून को विश्व योग दिवस मनाया जाता है।
सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री, ओम प्रकाश यादव
सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री ओमप्रकाश यादव ने रेवाड़ी में कहा कि प्राचीन समय में योग विद्या का प्रयोग केवल ऋषि-मुनियों तक ही सीमित था लेकिन अब योग सबके लिए सुलभ है और कोरोना काल में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में योग बहुत कारगर सिद्घ हुआ है।मंत्री ने कहा कि आज विश्व के 170 देशों में योग दिवस मनाया जा रहा है और इस अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की घोषणा का श्रेय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को जाता है। उन्होंने कहा कि योगाभ्यास केवल एक दिन ही नहीं बल्कि प्रतिदिन करना चाहिए, जिससे आत्मिक, शारीरिक ही विकास नही होता सर्वागीण विकास होता है। उन्होंने कहा कि आज की भागदौड भरी जिंदगी में मनुष्य इतना व्यस्त हो गया है कि वे अपने शरीर की ओर ध्यान नहीं देता। शरीर को निरोग रखने के लिए आधुनिक युग में योग की अति आवश्यकता है। इसलिए सभी योग को अपने जीवन में अवश्य अपनाएं।
महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्री, कमलेश ढांडा
महिला एवं बाल विकास राज्यमंत्री कमलेश ढांडा ने कैथल में कहा कि देश-विदेश में रह रहे सभी भारतीयों के अंतरराष्ट्रीय योग दिवस का यह क्षण बहुत ही गौरवशाली है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सुझाव को संयुक्त राष्ट्र द्वारा मानते हुए उत्तरी गोलार्ध पर सबसे बड़ा दिन और कई देशों में विशेष महत्व रखने वाले 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के तौर पर मंजूर किया गया है। राज्यमंत्री ने कहा कि योग दिवस को विश्व स्तर पर मनाना हर भारतीय के लिए बड़े ही गौरव की बात है।  
खेल एवं युवा मामले मंत्री, संदीप सिंह
हरियाणा के खेल राज्य मंत्री सरदार संदीप सिंह ने पंचकूला में कहा कि भारत एक ऐसा राष्ट्र है, जिसकी 65 प्रतिशत जनसंख्या युवाओं की है और युवाओं को शारीरिक, मानसिक व वैचारिक रूप से स्वस्थ रहना जरूरी हैं। इसलिये भागदौड़ की जिंदगी में योग का महत्व और अधिक बढ़ गया है।  श्री संदीप सिंह ने बताया कि योग करने से मासपेसियों की मजबूती और शरीर की अंदुरूनी ताकत और ज्यादा मजबूत होती है और शरीर निरोग रहता है। आज योग की जीवन का हिस्सा बन गया है। इस अवसर पर खेल मंत्री ने सीमा, जगदीश योगाभ्यास करने वाले विद्यार्थियों को प्रोत्साहन स्वरुप 11-11 हजार रुपये की राशि और 11 साल की लावण्या ने म्यूजिकल योग करके हाल में मौजूद सभी लोगों का मन मोह लिया। खेल मंत्री ने लावण्या को प्रोत्साहित करते हुये 21 हजार रुपये की राशि इनाम स्वरुप देने की घोषणा की।  
---------------------------------------------

चंडीगढ़, 21 जून - हरियाणा के उपमुख्यमंत्री श्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि राज्य सरकार शहरों के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्र का समान रूप से विकास करने पर जोर दे रही है । सिरसा शहर के आधा हिस्सा को अमरूत योजना व शेष शहर का इंडिपेंडेंटली स्टेट फंडिड प्रोग्राम से विकास करवाया जाएगा।
डिप्टी सीएम आज चौ. देवीलाल विश्वविद्यालय,सिरसा में पूर्व उपप्रधानमंत्री चौ. देवीलाल की 18 फीट की विशाल प्रतिमा का अनावरण करने के बाद पत्रकारों से बात रहे थे। इस प्रतिमा में 300 टन मैटल का प्रयोग हुआ है तथा प्रतिमा को दो कारीगरों ने डेढ़ माह में तैयार कर अपनी कला को दर्शाया है। उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर नमन किया। इस दौरान उनके साथ पुरातत्व विभाग के राज्य मंत्री अनूप धानक भी उपस्थित थे।
इस अवसर पर अपने संबोधन में श्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि पूर्व उपप्रधानमंत्री स्वर्गीय चौधरी देवीलाल अपने आप में एक संस्थान थे, जिनका पूरा राजनीतिक जीवन लोगों की भलाई के लिए समर्पित रहा। चौधरी देवीलाल की यह प्रतिमा आने वाली पीढिय़ों के लिए प्रेरणा स्त्रोत का काम करेगी। उपमुख्यमंत्री ने प्रदेशवासियों को सातवें अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि आज योग को पूरे विश्व में त्यौहार के रूप में मनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि योग भारत की प्राचीन पद्धति है और योग को पूरे विश्व ने अपनाया है और इसका महत्व भी समझा है। उन्होंने कहा कि अगले एक वर्ष में जलभराव की समस्या से सिरसा शहर को निजात मिलगी। उन्होंने कहा कि इन कार्यों के लिए 28 करोड़ रुपये की राशि खर्च की जाएगी।
उपमुख्यमंत्री ने प्रतिमा के अनावरण उपरांत लोक निर्माण विभाग संबंधी सडक़ सुदृढ कार्य की 4867.36 लाख रुपये राशि की विकास परियोजनाओं की आधारशिला भी रखी। इन सडक़ों के सुदृढीकरण कार्य प्रधानमंत्री ग्रामीण सडक़ योजना से किए जाएंगे।
उन्होंने कहा कि सिरसा शहर के तीन स्कूल व एक थाना के भवन को रिमॉडल करके पीपीपी मॉडल के रूप में तैयार करने के लिए प्लान बनाया गया है। इससे पार्किंग-कम-कमर्शियल स्पेस तैयार होगा। इसी प्रकार शहर के छोटे बड़े 52 पार्कों का गुरूग्राम की तर्ज पर व्यवस्था सुधार के साथ-साथ सौंदर्यीकरण किया जाएगा। इसी प्रकार आने वाले दिनों में शहर में स्ट्रीट लाइट के लिए स्काडा बेस्ड कप्यूटराइज लाइटिंग सिस्टम स्थापित किया जाएगा जिससे लाइट की वेस्टेज नहीं होगी और रखरखाव भी बेहतर ढंग से किया जा सकेगा और इस व्यवस्था में बिजली संबंधी समस्या की 24 घंटे में रिपोर्टिंग का भी प्रावधान है।
उपमुख्यमंत्री ने जिन सडक़ों के सुदृढ कार्यों का शिलान्यास किया, उनमें 1275.02 लाख रुपये की लागत से चत्तरगढ पट्टी से नेजाडेला सडक़ व सुबाखेड़ा से कमाल-भादरा-कुरंगावाली सडक़, 1330.36 लाख रुपये की लागत से गांव बिज्जुवाली से अबूबशहर वाया मुन्ना वाली, गंगा रोड़, 1427.86 लाख रुपये की लागत से सांवत खेड़ा से दिवानखेड़ा, खुईयां मलकाना, मलिकपुरा, रामपुरा बिश्नोईयां, झूठीखेड़ा, 834.12 लाख रुपये की लागत से केवल से पक्कां, कमाल, कालांवाली से दादू सडक़ सुदृढीकरण के कार्य शामिल हैं।
--------------------------------------- 

चण्डीगढ 21 जून - हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने लघु, सुक्ष्म एवं मध्यम दर्जे के उद्योगों के लिए जिला स्तर पर ऐसे क्लस्टर स्थापित करने की योजना बनाने के निर्देश दिए जिनमें नए स्टार्टअप को प्रोत्साहन मिल सके। उन्होंने कहा कि इस योजना के तहत ज्यादा से ज्यादा युवाओं के लिए रोजगार के अवसर   उपलब्ध करवाए जाने हैं। मुख्यमंत्री आज यहां एमएसएमई की क्लस्टर योजना की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे।
मुख्यमंत्री ने इसके लिए भूमि, योजना, उत्पाद के प्रकार, टैक्नोलोजी, टेस्टिंग सर्टिफिकेशन, रिसर्च एवं डिवलेपमेंट, प्रोसेसिगं, मार्केटिंग, फाईनेसिंग, एक्सपोर्ट, डिजाईनिंग पैकेजिंग आदि की बारीकि से योजना बनाने के निर्देश दिए। इनमेें एक्सपोर्ट का काम विदेश सहयोग विभाग मुख्यरूप से देखेगा। उन्होंने अधिकारियों को कहा कि पूरी योजना बनाकर पोर्टल पर लोगों से सुझाव मांगे जाएं कि लोग किस किस प्रकार के उद्योग लगाने में रूचि ले रहे हैं। आवश्यकता पडऩे पर उनकी बैठक भी बुलाएं ताकि क्लस्टर योजना सही ढंग से अपने उद्वेश्य को प्राप्त कर सके। उन्होंने अधिकारियों को क्लस्टर स्थापित करने के लिए जमीन की व्यवस्था भी समय से करने को कहा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि किस किस वस्तु का हरियाणा से निर्यात होता है, उस संबंध में विस्तृत रिपोर्ट तैयार कर एक्सपोर्ट करने वालों का एक एडवाईजरी बोर्ड या कांउसिल बनाएं ताकि निर्यात में आने वाली दिक्कतों का आसानी से समाधान किया जा सके।
मुख्यमंत्री ने कहा कि हर जिले में उस क्षेत्र में पैदा होने वाली उपज से बनने वाले प्रोडक्ट पर आधारित क्लस्टर स्थापित करने की दिशा में कार्य करें। इस दौरान मुख्यमंत्री ने कई जिलों के लिए प्रोडक्ट आधारित क्लस्टर बनाने बारे जाना और कहा कि फूड प्रोडक्ट आधारित क्लस्टर पर फोकस करें।  जैसे दादरी में टमाटर, रेवाड़ी में डेयरी, महेन्द्रगढ में सरसों, सिरसा जिले में किन्नु का उत्पादन ज्यादा होता है। इसलिए इन जिलों में इन्ही प्रोडक्ट पर आधारित क्लस्टर लगाए जाने ज्यादा कारगर होंगे । छोटे छोटे उद्योग लगने से लोगों को अधिक रोजगार मिलेगा और नए स्टार्ट अप भी उभर कर सामने आएंगे।
इस मौके पर मुख्यमंत्री के मुख्य प्रधान सचिव श्री डी एस ढेसी, प्रधान सचिव एवं एचएसआईआईडीसी के एमडी अनुराग अग्रवाल, उद्योग एवं वाणिज्य विभाग के प्रधान सचिव श्री विजेन्द्र कुमार,  महानिदेशक एमएसएमई श्री विकास गुप्ता, उद्योग एवं वाणिज्य विभाग के महानिदेशक डा. साकेत कुमार सहित कई वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे।
---------------------------------------
  
प्रदेश भर में 1100 स्थानों पर 55000 लोगों ने योगाभ्यास किया

चण्डीगढ 21 जून - हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा है कि प्रदेश में इस वर्ष 1000 योग एवं व्यायामशालाएं स्थापित करने की दिशा में कार्य किया जा रहा है। इनमें से 500 व्यायामशालाएं तैयार की जा चुकी हैं। इसके अलावा प्रदेश में 1000 योग शिक्षक एवं 22 योगा कोच भी शीघ्र ही लगाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि योग प्रत्येक व्यक्ति के जीवन का अभिन्न अंग बने इसके लिए पहली से दसवीं तक के विद्यार्थियों के पाठयक्रम में योग को इसी वर्ष से शामिल किया गया है।    
मुख्यमंत्री आज 7वें अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित कर रहे थे। इस अवसर पर फिट इंडिया संदेश के साथ हरियाणा में 1100 स्थानों पर 55 हजार से अधिक लोगों ने योगासन का अभ्यास कर स्वस्थ्य रहने का संदेश दिया। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर योग कलैण्डर एवं कोविड के दौरान कौन कौन से योग करने चाहिए इसकी जानकारी देने वाली पुस्तिका का भी विमोचन किया।
इस मौके पर हरियाणा योग आयोग के अध्यक्ष डा. जयदीप आर्य ने मुख्यमंत्री आवास पर आयोजित कार्यक्रम में योगाभ्यास करवाया , जिसका प्रदेशभर में सीधा प्रसारण किया गया। कार्यक्रम में उपस्थित प्रतिभागियों को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि योग को गांव-गांव पहुंचाने के लिए सरकार ने हरियाणा योग आयोग का गठन किया है। इसके साथ ही प्रदेश में देश का पहला आयुष विश्वविद्यालय स्थापित किया गया है और प्रदेश में 407 आयुष औषधालयों में वेलनैस सैंटर खोले गए हैं।
उन्होंने कहा कि आयुष विभाग की बहुत सी योजनाएं चल रही हैं ताकि लोगों को स्वस्थ एवं तंदरुस्त रखा जा सके। उन्होंने कहा कि हमारे जीवन को पानी व ऑक्सीजन की तरह ही योग की आवश्यकता है। बचपन से ही योग हमारे जीवन का अभिन्न अंग बने और इसका नित्य अभ्यास करें ताकि प्रदेश का हर नागरिक स्वस्थ रहे।  
मुख्यमंत्री ने कहा कि आज से पूरे देश में 18 वर्ष से अधिक आयु के सभी नागरिकों को कोरोना संक्रमणरोधी वैक्सीन का टीका लगाने का बड़ा अभियान शुरू हो गया है । प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की पहल पर पूरे देश में यह टीका केंद्र सरकार की ओर से लगाया जा रहा है । देशभर में केंद्र सरकार द्वारा मुफ्त वैक्सीन लगाने के लिए उन्होंने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी का विशेष आभार जताया ।  
मुख्यमंत्री ने बताया कि योग दिवस के अवसर पर हरियाणा में भी मेगा वेक्सिनेशन अभियान चलाया गया है जिसमें अढाई लाख लोगों को निशुल्क वैक्सीन लगाने का लक्ष्य रखा गया।  उन्होंने लोगों का आह्वान करते हुए कहा कि कोविड रोधी वैक्सीन की दोनों खुराक अवश्य लगवाएं ताकि कोविड की तीसरी लहर के अंदेशे से बचा जा सके।
इस मौके पर शिवस्तोत्र की धुन पर योग विद्यार्थियों ने योग की विभिन्न कठिन मुद्राओं का प्रदर्शन किया। इस दौरान हल्के व्यायाम के बाद कपालभाति, अनुलोम-विलोम, शीतली प्राणायाम, भ्रामरी प्राणायाम के साथ ही वज्रासन, अद्र्वचक्रासन, ताड़ासन, त्रिकोण आसन्न, भद्रासन, अद्र्व उष्ट्रासन, अद्र्व मण्डुकासन, शशक आसन, मक्रासन, भुजंग आसन, शलभासन, अद्र्वहलासन, पवन मुक्तासन आदि का अभ्यास करवाया गया।
मुख्यमंत्री के मुख्य प्रधान सचिव श्री डी एस ढेसी, अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री संजीव कौशल एवं मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव डा. अमित अग्रवाल के अलावा कई वरिष्ठ अधिकारी एवं योग आयोग के अधिकारी मौजूद रहे।

No comments

Powered by Blogger.