मुख्यमंत्री ने लगभग 1100 करोड़ रुपये की परियोजनाओं का किया उद्घाटन व शिलान्यास

चंडीगढ़/फरीदाबाद(Abtaknews.com) 10 जून, 2021: हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने एक बार फिर ‘सबका साथ, सबका विकास’ की अपनी प्रतिबद्धता को दोहराते हुए आज शिक्षा, स्वास्थ्य, खेल, पानी, बिजली व सडक़ संपर्क को मजबूत करने इत्यादि की लगभग 1100 करोड़ रुपये की विभिन्न परियोजनाओं का उद्घाटन एवं शिलान्यास कर प्रदेश के लोगों को मनोहर सौगात दी है।


मुख्यमंत्री ने आज चंडीगढ़ से वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से आयोजित राज्य स्तरीय कार्यक्रम के दौरान 16 जिलों में परियोजनाओं का उद्घाटन एवं शिलान्यास किया। इसमें 200 करोड़ रुपये से अधिक की परियोजनाओं का उद्घाटन और करीब 900 करोड़ रुपये की परियोजनाओं का शिलान्यास शामिल है। इस अवसर पर प्रदेश के विभिन्न जिलों में आयोजित कार्यक्रमों में कैबिनेट व राज्य मंत्री, सांसदगण, विधायकगण और जिला उपायुक्तों ने इन परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास किया।

यह पहली बार नहीं है जब मुख्यमंत्री ने एक साथ कईं विकास परियोजनाओं का उद्घाटन व शिलान्यास किया है। 21 मार्च, 2021 को भी मुख्यमंत्री ने प्रदेश की जनता को 1411 करोड़ रुपये की विभिन्न विकास परियोजनाओं का तोहफा दिया था।पंचकूला को ‘सेंटर ऑफ एक्सिलेंस’ के रूप में विकसित करने के लिए पंचकूला इंटिग्रेटिड डेवलपमेंट प्लान तैयार करने की योजना के महज दो दिन बाद ही श्री मनोहर लाल ने करोड़ों रुपये की परियोजनाओं की सौगात देकर यह संदेश दिया है कि राज्य सरकार प्रदेश के समुचित व सारे क्षेत्रों का एक समान विकास करने की नीति पर चल रही है। आज की इन सौगातों से हरियाणा विकास के पथ पर और आगे बढ़ेगा।

करनाल को मिली लगभग 500 करोड़ रुपये की परियोजनाओं की सौगात
मुख्यमंत्री ने करनाल जिले के लिए लगभग 500 करोड़ रुपये परियोजनाओं की सौगात दी।
जिन परियोजनाओं का उद्घाटन किया गया उनमें जाटो गेट करनाल में 33 केवी का सब स्टेशन व नगर निगम की दो जेंटिंग मशीन शामिल हैं। शिलान्यास परियोजनाओं में गांव चकदा में 33 केवी का सब स्टेशन व गांव बांसा में बनने वाले 33 केवी का सब स्टेशन तथा आवर्धन नहर का नवीनीकरण के कार्य शामिल हैं।

पंचकूला को मिली करीब 160 करोड़ रुपये की परियोजनाओं की सौगात
श्री मनोहर लाल ने पंचकूलावासियों को लगभग 160 करोड़ रुपये की परियोजनाएं समर्पित की। उद्घाटन की गई परियोजनाओं में खर्तिया बढिशेर से भोज कोटि सडक़ पर निर्मित एच.एल. पुल और सेक्टर -2, पंचकूला में निर्मित कल्याण भवन शामिल है।

शिलान्यास की गई परियोजनाओं में सिविल अस्पताल, सेक्टर-6, पंचकूला के परिसर में एमसीएच और सर्विस ब्लॉक का निर्माण, सिविल अस्पताल, सेक्टर-6 के परिसर में मलेरिया कार्यालय भवन का निर्माण और नारायणगढ़-रायपुर रानी सडक़ का चौड़ाकरण का कार्य शामिल है।

सिरसा को मिली लगभग 100 करोड़ रुपये की परियोजनाओं की सौगात

मुख्यमंत्री ने सिरसा जिलावासियों को 100 करोड़ रुपये से अधिक की विकास परियोजनाओं की सौगात दी। श्री मनोहर लाल ने कालांवाली, ममेरा रोड और डबवाली में स्थापित तीन नए 33 केवी सब स्टेशन का उद्घाटन किया।

इसके अलावा, जिन परियोजनाओं की आधारशिला रखी गई, उनमें दो बूस्टिंग स्टेशनों का निर्माण और डिंग गांव में कार्यात्मक घरेलू नल कनेक्शन (एफएचटी) प्रदान करके जल आपूर्ति योजना को मजबूती प्रदान करना, शक्कर, मंदोरी, तरकांवली और माखोसरानी गांवों में कार्यात्मक घरेलू नल कनेक्शन (एफएचटीसी) प्रदान करना, प्रधानमंत्री ग्राम सडक़ योजना (पीएमजीएसवाई) के तहत चत्तरगढ़ पट्टी से नेजाडेला रोड, सुबाखेड़ा से कमल-भद्रा-कुरांगवली रोड, मुन्नावली होते हुए बिज्जुवाली से अबुबशहर, डबवाली ब्लॉक में गंगा रोड, डीएचएस रोड संवतखेड़ा से सोर्ड दीवानखेड़ा, खुइयां मलकाना, मलिकपुर, रामपुरा बिश्नोइ, झुठीखेड़ा डबवाली ब्लॉक और ओढान ब्लॉक में केवल से पुका कमल, कालांवली से दादू सडक़ का अपग्रेडेशन का कार्य तथा कालांवली से रोड़ी सडक़ का चौड़ाकरण और सुदृढ़ीकरण का कार्य शामिल है।
फतेहाबाद को मिली करीब 80 करोड़ रुपये की परियोजनाओं की सौगात
श्री मनोहर लाल ने फतेहाबाद की जनता को 80 करोड़ रुपये से अधिक की परियोजनाओं की सौगात दी। इनमें राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय हसंगा के नये भवन और गांव भिरड़ाना में बने सामुदायिक केंद्र का उद्घाटन किया गया।
जिन परियोजनाओं की आधाशिला रखी गई, उनमें प्रधानमंत्री ग्रामीण सडक़ योजना के तहत मेयोंद कलां, जाखल ब्लॉक से होते हुए साधंवास से पंजाब बॉर्डर तक रोड़, धारसूल होते हुए हैदरवाला से मंघेरा सडक़, लम्भा, चिम्मों, बुर्ज, चांदो कलां, रायपुर रोड से होते हुए रतिया बबनपुर से गुरूसर सडक़, कमाना, कन्वाल्गढ़, बारा, महमरा, बदल्गढ़, बबनपुर रोड से होते हुए एसएच-21 से गांव कुलरियां पंजाब बॉर्डर तक, फुल, रत्ताखेरा, लाली, जल्लूपुर, दादुपुर, हुक्मवाली, हरोली रोड़ से होते हुए एसएच-21 से एमडीआर-101 तक, ढिंगसरा, खैराती खेरा, मानावाली, भोडिया खेरा रोड़ से होते हुए एसएच-21 से बनग्राम तक, झालनिया, खजूरी जत्ती, एमपी रोही, धनगर, सलाम खेरा, धर्निया, चिंदर, बडोपल, कुम्हारिया रोड़ से होते हुए भुथन कलां से गोरखपुर तक, मूसा खेड़ा रोड़, जाखल ब्लॉक से होते हुए रत्तातेह से धारसूल तक, चंदर कलां, टोहाना ब्लॉक से होते हुए जमालपुर से लहेरियन तक, माजरा, धाणी माजरा, धनगर, बिघर रोड़ से होते हुए फरीदाबाद से भोडिया खेरा सडक़ का अपग्रेडेशन कार्य तथा अन्य विकास कार्य शामिल है।
कुरुक्षेत्र को मिली लगभग 50 करोड़ रुपये की परियोजनाओं की सौगात
श्री मनोहर लाल ने कुरुक्षेत्रवासियों को करीब 50 करोड़ रुपये की परियोजनाओं को समर्पित किया। मुख्यमंत्री द्वारा उद्घाटन की गई परियोजनाओं में सरस्वती के पुराने पुल का पुनर्निर्माण, लघु सचिवालय के नए प्रशासनिक ब्लॉक, पिहोवा तथा गांव मलिकपुर में 33 केवी सबस्टेशन का उदघाटन शामिल हैं।
इसके अलावा, जिन परियोजनाओं का शिलान्यास किया गया, जिसमें करनाल-रंबा-इंद्री-लाडवा सडक़ को फोरलेन बनाना और शाहाबाद-बराड़ा रोड पर बाबा बंदा सिंह बहादुर के नाम से गेट का निर्माण कार्य शामिल है।
जींद को मिली लगभग 30 करोड़ रुपये की परियोजनाओं की सौगात
श्री मनोहर लाल ने जींद जिलावासियों को लगभग 30 करोड़ रुपये की विकास परियोजनाओं को समर्पित किया। इनमें नवनिर्मित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र भवन का उद्घाटन और सफीदों उपमंडल के हाट गांव में बनने वाले प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र भवन,नरवाना के पॉलटक्रिकल कॉलेज में बनने वाले छात्रवास, सलेहडा गांव में 33 केवी क्षमता का सब स्टेशन और पेगां गांव में बनने वाले आई टी आई भवन का शिलान्यास शामिल है।
फरीदाबाद को मिली 30 करोड़ रुपये से अधिक परियोजनाओं की सौगात
मुख्यमंत्री ने फरीदाबाद को लगभग 30 करोड़ रुपये से अधिक की परियोजनाओं का तोहफा दिया।  स्वर्ण जयंती योजना के तहत स्थापित हुए कस्तूरबा सेवा सदन में बने ऑब्जरवेशन होम व सुरक्षा स्थल, सेक्टर-18(ए) में बने नए आईटीआई भवन और सिकरोना गांव में बने आईटीआई भवन का उद्घाटन किया गया।
सोनीपत को मिली लगभग 20 करोड़ रुपये की परियोजनाओं की सौगात
श्री मनोहर लाल ने विकासात्मक परियोजनाओं के रूप में सोनीपत जिलावासियों को लगभग 20 करोड़ रुपये की परियोजनाओं की सौगात दी है।
उद्घाटन परियोजनाओं में गांव गमरी और नायत में दो उप स्वास्थ्य केंद्र, गांव जाखोली में दो आवासीय क्वार्टर सहित पीएचसी, आरजीईसी में फायर स्टेशन बिल्डिंग, भगत फूल सिंह महिला विश्वविद्यालय में स्पोट्र्स कॉम्प्लेक्स बिल्डिंग और खानपुर कलां में सीएसआर के तहत पीएसए ऑक्सीजन प्लांट (1000 एलपीएम) शामिल हैं।
इसके अलावा, मिनी सचिवालय में ईवीएम और वीवीपैट (4000 यूनिट) के भंडारण के लिए गोदाम के निर्माण की भी आधारशिला रखी गई।
पलवल को मिली 20 करोड़ रुपये से अधिक की परियोजनाओं की सौगात
मुख्यमंत्री ने पलवल जिला को करीब 20 करोड़ रुपये से अधिक की परियोजनाओं का तोहफा दिया।  इन परियोजनाओं में गांव मंडकोला में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के निर्माण, गांव खांबी और भिडूकी में पीएचसी (आवासीय सुविधा सहित) का निर्माण, गांव अस्वाता में उप स्वास्थ्य केंद्र का निर्माण, पीडब्ल्यूडी रेस्ट हाउस, हसनपुर का निर्माण, हसनपुर खण्ड में स्पोट्र्स स्टेडियम, रामगढ़ का निर्माण, गांव मंडकोला में नए पीडब्ल्यूडी विश्राम गृह एवं अधीनस्थ विश्राम गृह-सह-चतुर्थ श्रेणी आवास का निर्माण कार्य का शिलान्यास शामिल है।
हिसार को मिली लगभग 20 करोड़ रुपये की परियोजनाओं की सौगात
श्री मनोहर लाल ने हिसार जिलावासियों को विकास परियोजनाओं की सौगात देते हुए 20 करोड़ रुपये से अधिक की परियोजनाओं का उद्घाटन किया। इनमें हिसार-सदलपुर रेलवे लाइन पर एल/सी नंबर 4-ए पर बनाए गए दो-लेन आरओबी, गांव नियाना में उप स्वास्थ्य केंद्र, गांव सिसवाल में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र और बालसमंद में बना नया बस स्टैंड शामिल हैं ।
रोहतक को मिली 20 करोड़ रुपये से अधिक परियोजनाओं की सौगात
श्री मनोहर लाल ने रोहतकवासियों को 20 करोड़ रुपये से अधिक परियोजनाओं को समर्पित किया। इनमें भिवानी सब ब्रांच की बुर्जी संख्या 101000 पर पुनर्निर्मित पुल का उद्घाटन और कलानौर खंड में ब्लॉक कार्यालय भवन, कत्वारा-खिडवाली-ब्राह्मणवास सांघी मार्ग का अपग्रेडेशन, ड्रेन संख्या 8 से सडक़ का अपग्रेडेशन, डोभ से चिमनी सडक़ वाया मड़ोधी, बल्लम, काहनौर का अपग्रेडेशन और रोहतक भिवानी मार्ग से बनियानी पटवापुर तक की सडक़ का अपग्रेडेशन कार्य का शिलान्यास शामिल है।
कैथल को मिली लगभग 15 करोड़ रुपये की परियोजनाओं की सौगात
श्री मनोहर लाल ने कैथलवासियों को 15 करोड़ रुपये से अधिक की परियोजनाओं को समर्पित किया। कलायत में बने 50 बैड की क्षमता वाले सरकारी अस्पताल, तितरम में बने 33 केवी सब स्टेशन और पाड़ला में निर्मित 33 केवी सब स्टेशन का उद्घाटन किया गया।
चरखी दादरी को मिली लगभग 10 करोड़ रुपये की परियोजनाओं की सौगात
श्री मनोहर लाल ने चरखी दादरी को 10 करोड़ रुपये से अधिक की परियोजनाओं को समर्पित किया। इनमें सांवड़ गांव की पीएचसी, गांव गोपी के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, गांव दगड़ौली में  चार एकड़ भूमि में बनाई गई पार्क-सह-व्यायामशाला, गांव कारीआदू में  बनी पार्क-सह-व्यायामशाला, गांव कारीधारिणी और पिचौपा कलां में बने दो पार्क-सह- व्यायामशालाओं और गांव बास रानीला में तैयार पार्क-सह- व्यायामशाला और गांव पिचौपा खुर्द, बेरला, मंदौला एवं रावलधी में बनाए गए ज्ञान केंद्रों का उद्घाटन शामिल है।
भिवानी को मिली लगभग 9 करोड़ रुपये की परियोजनाओं की सौगात
श्री मनोहर लाल ने भिवानी जिले में करीब 9 करोड़ रुपये की परियोजनाओं की सौगात दी है। इनमें स्वास्थ्य केंद्र, कैरू व प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, झूप्पा कलां के नव निर्मित भवनों  का उद्घाटन शामिल है।
यमुनानगर को मिली 9 करोड़ रुपये से अधिक की परियोजनाओं की सौगात
मुख्यमंत्री ने जिलावासियों को 9 करोड़ रुपये से अधिक की परियोजनाओं की सौगात दी है। इन परियोजनाओं में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, सरस्वती नगर की नई इमारत, जिला परिषद की नवनिर्मित इमारत और इसके साथ ही राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय जठलाना में बनाए गए 4 कमरों,  फिजिक्स, कैमिस्ट्री, बायोलोजी व सामान्य विज्ञान प्रयोगशालाओं, स्कूल की चारदिवारी व अन्य विकास कार्यो का उद्घाटन शामिल है।
पानीपत को मिली लगभग 5 करोड़ रुपये की परियोजनाओं की सौगात
श्री मनोहर लाल ने पानीपत जिला को 5 करोड़ रुपये से अधिक की परियोजनाओं की सौगात दी है। इसमें कुराना में बने 33 केवी सब-स्टेशन और पानीपत में निर्मित मीडिया सेंटर भवन का उद्घाटन शामिल है।
-----------------------------------

अमेरिकी नागरिकों को निशाना बना रहे इंटरनेशनल कॉल सेंटर का पर्दाफाश, 9 आरोपी गिरफ्तार
चंडीगढ़, 10 जून - हरियाणा पुलिस की एसटीएफ ने सक्रिय पुलिसिंग की दिशा में एक और कदम बढाते हुए अंबाला जिले में एक ऐसे अवैध अंतरराष्ट्रीय कॉल सेंटर का पर्दाफाश किया है जो अमेज़ॅन से ऑनलाइन खरीदारी करने वाले अमेरिकी नागरिकों को निशाना बना ऑनलाइन फ्राड कर रहे थे।
हरियाणा पुलिस के प्रवक्ता ने आज यहां यह जानकारी देते हुए बताया कि एसटीएफ ने अमेरिकी नागरिकों से ठगी में शामिल नौ आरोपियों को भी अंबाला-कैथल राजमार्ग पर एक निजी प्रतिष्ठान में छापेमारी कर गिरफ्तार किया है।
इस दौरान पुलिस ने 10 लैपटॉप, करीब 200 कंप्यूटर, 11 मोबाइल फोन, एक इंटरनेट सर्वर और ढाई लाख रुपये नकद व कागजात भी बरामद किए हैं। डीजीपी हरियाणा मनोज यादव ने बड़े पैमाने पर अवैध कॉल सेंटर का भंडाफोड़ करने व भोलेभाले अमेजऩ खरीददारों को ऑनलाइन ठगी से बचाने के लिए एसटीएफ हरियाणा को बधाई दी।
अंबाला-कैथल मार्ग पर घुंघट पैलेस से चलाए जा रहे फर्जी कॉल सेंटर का पता लगाने के लिए लंबे समय तक चले अभियान के बाद एसटीएफ की टीम ने छापेमारी कर कार्रवाई को अंजाम दिया।
जब टीम मौके पर पहुंची तो कई लडक़े और लड़कियां कंप्यूटर और लैपटॉप पर अंग्रेजी भाषा में लोगों से बात करने में व्यस्त थे। उनके पास अंतरराष्ट्रीय कॉल सेंटर के संचालन के लिए दूरसंचार मंत्रालय द्वारा जारी कोई वैध सरकारी लाइसेंस नहीं था।
पूछताछ करने पर पता चला कि जालसाजों ने अवैध रूप से अमेज़ॅन के ऑनलाइन ग्राहकों का डेटा हासिल किया और अमेज़ॅन सपोर्ट स्टाफ की आड़ में अमेरिकी नागरिकों को कॉल किए। उनके द्वारा ऑनलाइन शॉपिंग भुगतान में से कुछ राशि वापस करने का वादा करके फ्राड को अंजाम दिया। पैसे बचाने के लिए, ग्राहक अपने कार्ड का विवरण साझा करते थे और खातों से धनराशि निकाल ली जाती थी।
इस संबंध में मामला दर्ज कर लिया गया है और पुलिस द्वारा ऑनलाइन धोखाधड़ी के जरिए ठगे गए लोगों की संख्या के बारे में और जानकारी जुटाई जा रही है।
-----------------------------------------------------
चंडीगढ़, 10 जून - हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय, हिसार के कृषि विज्ञान केन्द्र, पंचकूला द्वारा विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर ‘पेड़ लगाओ अभियान’ का शुभारंभ किया गया, जिसमें केन्द्र के अनुसंधान फार्म, गरींडा समेत आस-पास के गांवों के लोगों ने बढ़-चढ़ कर भाग लिया।
कृषि विज्ञान केन्द्र, पंचकूला द्वारा आयोजित किए गए विश्व पर्यावरण दिवस एवं पौधारोपण कार्यक्रम के दौरान केन्द्र की समन्वयक डॉ. श्रीदेवी ने मुख्य अतिथि और गरींडा गांव के मुखिया श्री लखमी सिंह ने विशिष्ट अतिथि के तौर पर शिरकत की।
वनस्पति एवं पौध विज्ञान विशेषज्ञ डॉ. श्रीदेवी ने कहा कि वायुमंडल को बचाने के लिए पेड़ पौधों को बचाना अति आवश्यक है। उन्होंने कहा कि प्रदूषण एवं जलवायु परिवर्तन के कारण मानवजाति के अस्तित्व पर खतरा बना हुआ है। उन्होंने कहा कि पिछले दो वर्षों से हम कोरोना महामारी का संकट झेल रहे हैं और कोरोना पीडि़तों को ऑक्सीजन की कमी के कारण जिंदगी और मौत के बीच संघर्ष करना पड़ा है। उन्होंने कहा कि पेड़ पौधे ही ऑक्सीजन का प्रमुख प्राकृतिक स्रोत हैं और अगर हमें स्वस्थ जीवन चाहिए तो अधिक से अधिक संख्या में पेड़-पौधे लगाना बहुत ही जरूरी है। उन्होंने कहा कि पर्यावरण को स्वच्छ रखने के लिए हम सभी को आगे आना होगा और अधिक से अधिक पौधे लगाने होंगे ताकि हमें जीवनरक्षक ऑक्सीजन की कमी का सामना न करना पड़े। उन्होंने कहा कि आज लगाए गए पौधों से ही हमारा आने वाला कल बेहतर बनेगा और हर व्यक्ति को पौधरोपण का संकल्प लेना चाहिए।
इस मौके पर डॉ. रविन्द्र ने सभी किसानों का स्वागत करते हुए आह्वान किया कि पर्यावरण को बचाने के लिए यह जरूरी हो गया है कि हम बड़े स्तर पर पौधारोपण करें। उन्होंने कहा कि हमें अपनी भावी पीढिय़ों के लिए ऑक्सीजन रूपी संजीवनी को सहज कर रखना होगा, जिसके लिए अधिक से अधिक पेड़-पौधे लगाने बहुत जरूरी हैं।कृषि अर्थशास्त्री डॉ. गुरनाम सिंह ने इस अवसर पर बोलते हुए कहा कि प्रदेश में पारम्परिक खेती के साथ-साथ कृषि वानिकी को बढ़ावा दिया जाना चाहिए, जिससे किसानों की आमदनी तो बढ़ेगी ही साथ ही पर्यावरण भी बचाया जा सकेगा। इसी प्रकार, कृषि विशेषज्ञ डॉ. वंदना ने औषधीय पौधों के रोपण पर जोर देते हुए कहा कि औषधीय पौधों का आयुर्वेदिक चिकित्सा प्रणाली में बहुत महत्व है और विभिन्न प्रकार की दवाइयां बनाने में औषधीय पौधों और जड़ी-बूटियों की भूमिका अतुल्य है।
बागवानी विशेषज्ञ डॉ. राजेश लाठर ने कहा कि फलदार पौधे न केवल पर्यावरण को सुरक्षित रखते हैं बल्कि पोषक एवं खाद्य सुरक्षा को भी सुनिश्चित करते हैं। उन्होंने कहा कि किसान फलदार पौधे लगाकर अधिक आय भी ले सकते हैं। डॉ. गजेन्द्र सिंह ने इस अवसर पर बोलते हुए कृषि विविधिकरण पर बल दिया और लोगों से प्राकृतिक संसाधनों को बचाने की अपील की।
इस अवसर पर कृषि विज्ञान केन्द्र, पंचकूला के अधिकारियों एवं कर्मचारियों के अलावा क्षेत्र के अनेक गणमान्य व्यक्ति मौजूद रहे।

No comments

Powered by Blogger.