हरियाणा में चार आईएएस अधिकारियों के ट्रांसफर


चंडीगढ़(Abtaknews.com)01मई,2021:हरियाणा सरकार ने तुरन्त प्रभाव से चार आईएएस अधिकारियों, एक आईआरएस और एक एचसीएस अधिकारी के नियुक्ति और स्थानांतरण आदेश जारी किए हैं।नगर एवं ग्राम आयोजना विभाग तथा शहरी संपदा विभाग के प्रधान सचिव अपूर्व कुमार सिंह को खेल एवं युवा मामले विभाग का अतिरिक्त कार्यभार सौंपा गया है।

हरियाणा भवन, नई दिल्ली के अतिरिक्त आवासीय आयुक्त तथा हरियाणा लोक प्रशासन संस्थान, गुरुग्राम के अतिरिक्त निदेशक श्री अशोक सांगवान को आवासीय आयुक्त, गुरुग्राम तथा हरियाणा लोक प्रशासन संस्थान, गुरुग्राम का अतिरिक्त निदेशक लगाया गया है।
स्मार्ट सिटी, फरीदाबाद की मुख्य कार्यकारी अधिकारी तथा फरीदाबाद महानगर विकास प्राधिकरण, फरीदाबाद की अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ. गरिमा मित्तल को नगर निगम, फरीदाबाद के आयुक्त का अतिरिक्त कार्यभार सौंपा गया है।
इसके अलावा, भिवानी व चरखी दादरी के अतिरिक्त उपायुक्त और भिवानी व चरखी दादरी के जिला नगरपालिका आयुक्त श्री राहुल नरवाल को तुरन्त प्रभाव से  उपायुक्त, भिवानी का दायित्व सौंपा गया है। वे भिवानी के उपायुक्त श्री जयवीर सिंह आर्य के कोविड-19 से ठीक होकर अपना कार्यभार सम्भालने तक अतिरिक्त प्रभार के तौर पर यह कार्य देखेंगे।
मुख्यमंत्री कार्यालय में रिसोर्स मोबलाइजेशन सेल में सलाहकार तथा विदेश सहयोग विभाग के प्रधान सचिव श्री योगेन्द्र चौधरी (आईआरएस)को मुख्यमंत्री घोषणाओं के कार्यान्वयन से संबंधित कार्य का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है।
इसी तरह, एचसीएस अधिकारी श्री देवेंद्र शर्मा को तुरन्त प्रभाव से जिला पानीपत में उद्योग एवं वाणिज्य विभाग में संयुक्त निदेशक (प्रशासन) लगाया गया है। वे अपने मौजूदा कार्यभार के अलावा हरियाणा और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र, दिल्ली को लिक्विड ऑक्सीजन के आवंटित कोटा के उत्पादन तथा सुचारू और निर्बाध आपूर्ति/आवागमन से जुड़े तमाम मुद्दों की निगरानी में श्री विकास यादव की सहायता करेंगे।
------------------------
चंडीगढ़, 1 मई -हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने अंतरराष्ट्रीय मज़दूर दिवस पर देश व प्रदेश के सभी श्रमिकों को बधाई एवं शुभकामनाएं देते हुए कहा कि कमेरे व मेहनतकश मज़दूरों का देश की तरक्की में अहम योगदान रहा है । इस वर्ग के कारण ही देश व दुनिया की आर्थिक व औद्योगिक विकास की गतिविधियां बुलंदियों पर पहुंची हैं ।
आज यहां जारी एक संदेश में मुख्यमंत्री ने कहा कि विगत एक वर्ष से कोविड-19 के कारण मज़दूर वर्ग पर भी भारी मार पड़ी है। परन्तु सरकार ने संकट की इस घड़ी में हर प्रकार से श्रमिकों का ख्याल रखा है। उन्होंने कहा कि कोरोना सक्रंमण के फिर से बढ़ते आकंडे चिंताजनक है परन्तु सरकार पूरी संवेदनशीलता के साथ व्यवस्था प्रबंधन कर रही है। पूर्ण लॉकडाउन न लगाना पड़े इसलिए सरकारी कार्यालयों के लिए ‘वर्क फरोम होम’ अवधारणा अपनाने को कहा गया है।
  मुख्यमंत्री ने कहा कि आर्थिक चक्र  पर प्रतिकूल प्रभाव न पड़े इसलिए  औद्योगिक गतिविधियों को बंद नहीं होने दिया जाएगा । उद्योगों से कहा गया है कि वे कोविड-प्रोटोकॉल के नियमों की पालना करते हुए दो या तीन पालियों में श्रमिकों को कार्य पर बुलाएं।
क्रमांक - 2021
सत्यव्रत/कमल
चंडीगढ, 1 मई -हरियाणा सरकार द्वारा प्रदेश के किसानों को टयूबवैल कनेक्शन देने के लिए ऊर्जा दक्षता ब्यूरो द्वारा निर्धारित 3 स्टार रेटिड सबमर्सिबल मोटर पंप सेट की आपूर्ति के लिए मैसर्ज ओसवाल पंप्स लिमिटेड, एनएच-1, कुटैल रोड़, पोस्ट ऑफिस कुटैल, मधुबन,  जिला-करनाल को नामांकित किया गया है, जो उचित दरों पर किसानों को सबमर्सीबल मोटर पंप सैट उपलब्ध करवाएगी। इस योजना के तहत कंपनी 40,000 मोटरें (यूएचबीवीएन को 16,600 तथा डीएचबीवीएन को 23,400) उपलब्ध करवाएगी।
इस सबंध में जानकारी देते हुए बिजली निगम के प्रवक्ता ने बताया किमोटर पंप सैट के लिए हरियाणा सरकार की ई-प्रोक्यूरमेंट वैबसाईट पर खुली निविदा द्वारा विभिन्न फर्मों से आवेदन आमंत्रित किए गए थे। इसके पश्चात् विभाग को 3 फर्मों के आवदेन प्राप्त हुए, जिनमें से दो फर्मों को हाई पॉवर परचेज कमेटी द्वारा नैगोसिएशन के लिए बुलाया गया। इनमें से एल-1 फर्म के साथ रेट पर सहमति हुई और दूसरी फर्म को भी पेशकश की गई थी लेकिन उसके साथ रेट पर सहमति नहीं बन सकी। इस प्रकार एल-1 फर्म, मैसर्ज ओसवाल पंप्स लिमिटेड को प्रदेश के किसानों को 3 स्टार रेटिड मोटर पंप सैट सप्लाई करने के लिए नामांकित किया गया, जो बिजली विभाग द्वारा निर्धारित रेटों पर 5 साल की वारंटी के साथ सबमर्सीबल मोटर पंप सैट उपलब्ध करवाएगी और प्रदेश में अपने डीलरों के द्वारा पंप सैट की उपलब्धता सुनिश्चित करेगी। मोटर विक्रेता डीलरों की सूची निगम की वैबसाईटपर उपलब्ध है। मोटर पंप सैट को लगाने (इंस्टाल करने) पर होने वाले खर्च को कंपनी स्वयं वहन करेगी। विभाग द्वारा निर्धारित सबमर्सीबल मोटर पंप सैट के रेट निर्धारित किये गये हैं। जिनमें  3एचपी रेटिंग के सबमर्सीबल मोटर पंप सैट  की कीमत (मोटर पंप सैट इंस्टॉल पर होने वाले खर्च तथा सभी करों सहित) 20,600/- रूपये, 5 एचपी की 24,400/- रूपये, 7.5 एचपी की 29,100/- रूपये, 10एचपी की  32,800/- रूपये, 12.5 एचपी की 36,100/- रूपये, 15 एचपी की 43,300/-रूपये, 17.5 एचपी की 43,400/- रूपये, 20 एचपी की 50,700/- रूपये, 25 एचपी की 57,200/- रूपये, 30 एचपी की 64,500/- रूपये कीमत निर्धारित की गई है।

उन्होंने बताया कि मोटर पंप सैट की बाजार मेंं सप्लाई करने से पहले निरीक्षण अधिकारियों द्वारा उनकी गुणवत्ता को चैक किया जाएगा। कंपनी द्वारा किसानों को मोटर पंप सैट से संबंधित किसी भी समस्या के समाधान के लिए कस्टमर केयर नंबर उपलब्ध करवाया जाएगा। जिस पर किसान मोटर से संबंधित समस्या को कंपनी के साथ सांझा कर पाएंगे। सबमर्सिबल टयूबवैल कनेक्शन उन्हीं किसानों को दिया जाएगा जो निगम द्वारा नामांकित कंपनी के विक्रेता से मोटर पंप सैट खरीदेंगे। इसके लिए माइक्रो इरिगेशन सिस्टम और/या अंडरग्राउंड पाइप लाइन अनिवार्य रूप से लगी हुई होनी चाहिए। किसानों को टयूबवैल कनेक्शन के लिए 10 एचपी तक की 2 स्टार रेटिड मोनोब्लॉक मोटर पंप सैट खुले बाजार से खरीदने के लिए निगम द्वारा छूट दी गई है। 30 से ऊपर व 50 हॉर्स पावर (एचपी) तक के मोटर पम्प सैट के लिए निगम द्वारा अलग से ईओआई के माध्यम से रेट निर्धारित किए जाएंगे।

No comments

Powered by Blogger.