पलवल में गणतंत्र दिवस समारोह-2021 को मनाने के लिए विद्यार्थियों द्वारा रिहर्सल


पलवल(Abtaknews.com)13 जनवरी, 2021:स्थानीय नेताजी सुभाषचंद्र बोस स्टेडियम पलवल में गणतंत्र दिवस समारोह-2021 को भव्य रूप से मनाने के लिए बुधवार को राजकीय कन्या वरिष्ठï माध्यमिक विद्यालय कैंप पलवल में विभिन्न स्कूलों के विद्यार्थियों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रमों की रिहर्सल की गई तथा टीमों का चयन किया गया। राजकीय कन्या वरिष्ठï माध्यमिक विद्यालय पलवल कैंप, राजकीय कन्या वरिष्ठï माध्यमिक विद्यालय शहर पलवल, एस.एन.डी. स्कूल पलवल, विनायक ग्लोबल स्कूल किठवाडी पलवल व बी.के. वरिष्ठï माध्यमिक विद्यालय पलवल ने देशभक्ति से ओत-प्रोत सांस्कृतिक प्रस्तुति दी।इस अवसर पर जिला शिक्षा अधिकारी अशोक बघेल, जिला सूचना एवं जनसम्पर्क अधिकारी सुरेंद्र बजाड, खंड शिक्षा अधिकारी पलवल सुखबीर सिंह, सहायक जिला शिक्षा अधिकारी (खेल) राजबीर, सहायक जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी (खेल) जसबीर तेवतिया, संगीत प्रवक्ता डा. मोनिका उपस्थित रहे।
जिला शिक्षा अधिकारी अशोक बघेल ने कहा कि सांस्कृतिक प्रस्तुतियां देशभक्ति गीतों से ओत-प्रोत होनी चाहिएं। सभी टीमें अपनी रिहर्सल अच्छी प्रकार से कर लें। फुल ड्रेस फाइनल रिहर्सल 24 जनवरी को नेताजी सुभाष चंद्र स्टेडियम में होनी है, उसमें किसी भी कार्यक्रम में कोई कमी नहीं रहनी चाहिए। सभी टीमों में प्रतिभागियों का आपस में तालमेल अच्छा हो, तभी अच्छी परफोरमेंस सामने आएगी और दर्शकों को भी अच्छा लगेगा। उन्होंने स्कूल की टीमों के इंंचार्ज को निर्देश दिए कि वे आगामी दिनों में सांस्कृतिक प्रस्तुतियों के लिए बच्चों की रिहर्सल अच्छी प्रकार से करवाएं।#Rehearsal by students to celebrate Republic Day Celebration -2021 in Palwal in a grand manner

----------------------------------------------
करीब एक करोड़ 70 लाख रुपए की लागत के विकास कार्यों के किए उद्घाटन व शिलान्यास
पलवल, 13 जनवरी। विधायक दीपक मंगला ने बुधवार को गांव ताराका, टीकरी गुर्जर व अच्छेजा में लगभग एक करोड़ 70 लाख रुपए की लागत के विकास कार्यों के विधिवत शिलान्यास व उद्घाटन किए। विधायक श्री मंगला ने गांव ताराका में नवनिर्मित एस.सी. चौपाल का उद्घाटन किया। इसी क्रम में गांव टीकरी गुर्जर में गांव की फिरनी के रास्तों का उद्घाटन किया। श्री मंगला ने गांव अच्छेजा में एस.सी. चौपाल तथा सपेरा समाज की चौपाल के जिर्णोद्वार कार्य का उद्घाटन किया। विधायक दीपक मंगला ने गांव टीकरी गुर्जर में बनने वाले खेल मैदान की चारदिवारी के कार्य का विधिवत शिलान्यास किया। इस अवसर पर ग्रामीणों ने विधायक श्री दीपक मंगला का फूलमालाएं पहनाकर व पगडी बांधकर परम्परागत तरीके से स्वागत किया।
विधायक दीपक मंगला ने क्षेत्रवासियों को लोहड़ी व मकर संक्रांति पर्व की हार्दिक शुभकामनाएं दी। उन्होंने ग्रामीणो को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार ग्रामीण क्षेत्र में चहुमुंखी विकास के लिए कृतसंकल्प है। उन्होंने कहा कि पलवल विधानसभा क्षेत्र में विकास कार्य करवाने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी जाएगी। मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल के कुशल नेतृत्व में बिना किसी भेदभाव के पूरे प्रदेश में विकास कार्य करवाए जा रहे है। युवाओं को हुनरमंद बनाने के उद्देश्य से गांव दूधौला में श्री विश्वकर्मा कौशल विकास विश्वविद्यालय स्थापित की गई है, जिसमें युवाओं को रोजगार व स्वरोजगार के लिए हुनरमंद बनाया जा रहा है। उन्होंने ग्रामीणों से आह्वïान किया कि वे अधिक से अधिक युवाओं को श्री विश्वकर्मा कौशल विकास विश्वविद्यालय में प्रवेश लेने के लिए प्रेरित करें ताकि युवा बेरोजगार न रहे। विश्वविद्यालय में समय-समय पर नवीनतम कोर्सिज में प्रवेश लेकर लाभ उठाएं ताकि युवाओं का कौशल विकास विकसित हो सके तथा उनमें रोजगार व स्वरोजगार के प्रति आत्मविश्वास उत्पन्न हो सके। उन्होंने कहा कि ग्राम पंचायते ग्राम विकास कार्यों के बारे में सूची बनाकर उन्हें दे ताकि उन विकास कार्यों को पूर्ण करवाया जा सके।
इस अवसर पर पलवल निगरानी समिति के चेयरमैन मुकेश सिंगला, पलवल ब्लॉक पंचायत समिति के चेयरमैन प्रेमचंद शर्मा, बीजेपी के मीडिया प्रभारी हरेंद्र तेवतिया, चेयरमैन द कॉपरेटिव सोसायटी फरीदाबाद रामी, जिला परिषद पलवल के उपाध्यक्ष संतराम बैसला, उपमंडल अधिकारी (पंचायत) आफताब रहमान, खंड बडौली के एससीपीओ जसवंत सिंह, कनिष्ठï अभियंता पंचायत महावीर चौहान, गांव अच्छेजा के सरपंच राजाराम, टीकरी गुर्जर के सरपंच शिव कुमार, ताराका गांव की सरपंच शीला देवी सहित अन्य गांवा कें पंच-सरपंच व गणमान्य लोग मौजूद रहे।
---------------------------------------------------------------------------------
प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के अंतर्गत लाभार्थी को डीबीटी के माध्यम से दी जाती है प्रोत्साहन स्वरूप राशि : उपायुक्त

पलवल, 13 जनवरी। उपायुक्त नरेश नरवाल ने बताया कि महिलाओं को अल्प पोषण व अनीमिया से बचाने के लिए प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना शुरू की गई है। इस योजना के तहत मातृत्व लाभ के लिए परिवार में पहले जीवित बच्चे के लिए गर्भवती महिलाओं एवं स्तनपान कराने वाली माताओं के खाते में सीधे 5 हजार रुपए की राशि तीन किस्तों में प्रोत्साहन स्वरूप प्रदान की जाती है। महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के अंतर्गत छत्र छाया आईसीडीएस योजना की आंगनवाड़ी सेवा योजना के प्लेटफार्म का प्रयोग इस योजना को क्रियान्वित करने के लिए किया जा रहा है।
इन्हें नहीं मिलेगा लाभ :इस योजना के तहत केंद्र सरकार या राज्य सरकार या सार्वजनिक उपक्रमों के अनुसार नियमित रोजगार में हैं या ऐसी सभी गर्भवती महिलाएं एवं स्तनपान कराने वाली माताएं जो वर्तमान में लागू किसी कानून के अंतर्गत समान लाभ प्राप्त कर रही है, को इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा।
शर्त एवं किस्तों का विवरण :उपायुक्त नरेश नरवाल ने बताया कि इस योजना से गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली माताओं को पहले जीवित बच्चे के जन्म के दौरान फायदा होगा। योजना की लाभ राशि डीबीटी के माध्यम से लाभार्थी के बैंक खाते में सीधा भेजा जाएगा। पहली किस्त में एक हजार रुपए, दूसरी किस्त के अंतर्गत दो हजार रुपए तथा तीसरी किस्त के दौरान दो हजार रुपए प्रोत्साहित राशि प्रदान की जाएगी।
शर्त--गर्भवती महिला का एलएमपी से 150 दिन में पंजीकरण तथा लाभार्थी छह महीने की गर्भावस्था के बाद कम से कम एक प्रसवपूर्व जांच उपरांत तथा बच्चे के जन्म के बाद जन्म पंजीकरण तथा बीसीजी, ओपीवी, पेंटावेलेंट-1, 2, 3 टीकाकरण के बाद तीन किस्तोंं में योजना का लाभ दिया जाता है।
 महिला एवं बाल विकास द्वारा इस स्कीम के तहत लाभार्थी को औसतन 5 हजार रुपए की राशि प्रदान की जाती है व लाभार्थी का प्रसव सरकारी अस्पताल में होने पर जननी सुरक्षा योजना के अंतर्गत मातृत्व लाभ के लिए अनुमोदित मानदंडों के अनुसार एक हजार रुपए की राशि स्वास्थ्य विभाग द्वारा अलग से प्रदान की जाती है।
पीएमएमबीवाई--मजदूरी की क्षति के बदले में नकदी राशि को प्रोत्साहन के रूप में आंशिक क्षतिपूर्ति प्रदान करना ताकि महिलाएं पहले जीवित बच्चे के जन्म से पहले और बाद में पर्याप्त विश्राम कर सके। प्रदान किए गए नकद प्रोत्साहन राशि से गर्भवती महिलाओं एवं स्तनपान कराने वाली माताओं में स्वस्थ रहने के आचरण में सुधार होगा।
योजना का लाभ उठाने के लिए निकटतम आंगनवाड़ी केंद्र पर पंजीकरण करवाकर नजदीकी स्वास्थ्य विभाग से एमसीपी कार्ड प्राप्त करें। उपरोक्त शर्तों को पूरा करें और फार्म ए, बी व सी के लिए समय पर आंगनवाड़ी केंद्र में आवेदन जमा करें। अधिक जानकारी के लिए आंगनवाड़ी केंद्र अथवा सुपरवाइजर आईसीडीएस से संपर्क करें।

No comments

Powered by Blogger.