परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा ने परिवहन विभाग में ऑनलाइन ट्रांसफर ड्राइव का किया शुभारम्भ

चण्डीगढ़(abtaknews.com)20 नवम्बर,2020: हरियाणा के परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा ने  अवैध वाहनों के प्रति एक बार फिर से कड़ा रुख अख्तियार करते हुए कहा कि सवारियां ढोने में लगे ऐसे वाहन चालक जिन के पास न परिमट हैन इन्श्योरेंस है और न ही फिटनेस है ऐसे लोग जनता के जीवन से खिलवाड़ कर रहे हैं और प्रदेश में इस तरह के वाहनों को किसी भी सूरत में चलने नहीं दिया जाएगा। ऐसे अवैध वाहनों की चैंकिंग के लिए सम्बन्धित डिपो महाप्रबन्धक और डीटीओ द्वारा संयुक्त टीमें बनाकर टोल प्लाजा पर नाके लगाए जाएंगे।

मूलचंद शर्मा ने यह बात आज यहां परिवहन विभाग में ऑनलाइन ट्रांसफर ड्राइव  के शुभारम्भ के मौके पर कही। उन्होंने बताया कि इस तबादला अभियान के तहत आज 53 इंस्पेक्टर और 89 क्लर्कों को मिलाकर कुल 144 कर्मचारियों ने डिपो या लोकेशन के लिए अपना विकल्प भरा था। इनमें से 45 कर्मचारियों को प्रथम विकल्प जबकि 32 को दूसरा विकल्प मिला है इनमें से 8 इंस्पेक्टर और 26 क्लर्कों का तबादला किया गया है। उन्होंने बताया कि राज्य परिवहन निदेशालय ने स्वैच्छिक भागीदारी की अंतिम तिथि 27 अक्तूबर के अनुसार क्लर्कों और इंस्पेक्टरों के काडर में 15 अक्तूबर को ऑनलाइन ट्रांसफर अभियान की शुरुआत की थी। उन्होंने कहा कि ऑनलाइन तबादले शुरू होने से न केवल विभाग की तबादला प्रक्रिया में पारदर्शिता आएगी बल्कि इससे कर्मचारी भी संतुष्ट होंगे। पहले जहां कर्मचारियों को तबादलों के लिए चंडीगढ़ के चक्कर लगाने पड़ते थे वहीं अब इस प्रक्रिया से कर्मचारी घर बैठे तबादलों के लिए अपना विकल्प दे सकते हैं। उन्होंने बताया कि 500 कर्मचारियों से अधिक संख्या वाले काडर में यह सिस्टम लागू होगा।

मूलचंद शर्मा ने कहा कि प्रदेश में कोविड-19 के बाद धीरे-धीरे जन-जीवन पटरी पर लौट रहा है। इसलिए जल्द ही किलोमीटर स्कीम की बसों के साथ-साथ लंबे रूट की सभी बसें चालाई जाएंगी ताकि आमजन को आने-जाने के लिए सस्ता और भरोसेेमंद विकल्प उपलब्ध हो। उन्होंने कहा कि डिपो महाप्रबंधक या ट्रैफिक मैनेजर द्वारा स्थानीय स्तर पर 4-5 कर्मचारियों की टीम बनाई जाएगी जो जमीनी स्तर पर बसों की जरूरत का पता लगाएगी। इस संबंध में साप्ताहिक या महीने के हिसाब से योजना बनाई जाएगी।इस मौके पर परिवहन विभाग के प्रधान सचिव श्री शत्रुजीत कपूरनिदेशक श्री वीरेंद्र दहिया और संयुक्त निदेशक राज्य परिवहन-1श्रीमती मीनाक्षी राज समेत विभाग के कई वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे।

---------------------------------

 

चंडीगढ़, 20 नवंबर- हरियाणा के सहकारिता मंत्री डॉ. बनवारी लाल ने कहा कि कृषि उत्पादन क्षेत्र में सहकारिता को बढ़ावा देने के लिए किसानों को उनकी फसल का उचित मूल्य देने के लिए हैफेड द्वारा हर जिले में बाजार खोले जाएंगे। इन बाजारों में डेयरी के उत्पाद के साथ-साथ हैफेड द्वारा रोजमर्रा की प्रयोग होने वाली वस्तुओं को रखा जाएगा। इसके अलावावीटा के बूथों की संख्या बढ़ाने के लिए प्रदेश के सभी उपायुक्तों को लिखा गया है और इन बूथों पर न केवल दूध उत्पाद बल्कि सब्जी व फल भी बेचे जाएंगे।

सहकारिता मंत्री आज करनाल में सहकारिता दिवस पर राज्य स्तरीय कार्यक्रम में बोल रहे थे।उन्होंने कहा कि सहकारिता के माध्यम से ही प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के वर्ष 2022 में किसानों की आय दोगुनी करने के सपने को साकार किया जा सकता है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल का ऑडियो संदेश भी सुनाया गया तथा सहकारिता के क्षेत्र में किए गए कार्यों की लघु फिल्म दिखाई गई।

 उन्होंने कहा कि सहकारिता एक ऐसा माध्यम है जो हर व्यक्ति को समृद्ध बना सकता है। इसके लिए सभी लोग समृद्धि का संकल्प लेकर सहकारिता को विकल्प मानें तो विकास संभव है। उन्होंने कहा कि सहकारिता के क्षेत्र में कृषि उत्पादों की मार्किटिंगकिसानों के लिए दूध उत्पादन का बाजारीकरण एक आय का अच्छा माध्यम है। इसके लिए सरकार द्वारा कम ऋण पर अनुदान दिया जाता है। उन्होंने बताया कि सहकारिता के आठ फेडरेशन हैं जोकि विभिन्न माध्यमों से आम आदमी के आय स्त्रोत को बढ़ाने में सहयोग करता है। उन्होंने कहा कि हैफेड का नाम पूरे देश में हैउसकी गुणवत्ता भी बहुत अच्छी है और लोग उस पर विश्वास भी करते हैं।

उन्होंने कहा कि शुगरफैड के माध्यम  हरियाणा सरकार द्वारा कैथलपलवल और महम चीनी मिलों द्वारा चीनी के साथ-साथ गुड़ व शक्कर बनाने का काम शुरू किया गया है। उन्होंने कहा कि शाहबाद में इनथॉल बनाने का कार्य शीघ्र शुरू होगा और कैथल शुगरमिल में भी बाईपिन ब्रिकेटिंग बनाने का कार्य शुरू किया गया है। इसके लिए किसानों से 120 रुपये प्रति क्विंटल पराली खरीदी जाएगी। किसानों को इसका आर्थिक लाभ होगा वहीं प्रदूषण से भी राहत मिलेगी।

उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार किसानों को  गन्ने की पेमेंट समय पर दे रही है। इतना ही नहीं किसानों की गन्ने की उत्पादन क्षमता अधिक हो इसके लिए अच्छी किस्म की फसल का उत्पादन भी गन्ना विकास योजना द्वारा किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार जो भी पैसा ऋण के रूप में किसानों को दिया जाता हैउसकी समय पर अदायगी हो तो अन्य लोगों को भी इसका लाभ हो सकता है। लोगों को सरकार के पैसे को अपना पैसा समझना चाहिए और इस पैसे से अपना कारोबार बढ़ाना चाहिए।इस मौके पर सहकारिता विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव संजीव कौशल ने कहा कि हरियाणा सहकारिता के क्षेत्र में काफी उपलब्धि हासिल कर रहा है। प्रदेश की 22 हजार सहकारी समितियों में से 12 हजार अच्छा कार्य कर रही हैं। सभी समितियों को आने वाले समय में कम्पयूटरीकरण किया जाएगा ताकि पारदर्शिता रह सके और जो भी उनके आपसी विवाद होंगेउनको निर्धारित समय में पूरा किया जा सकेगा।

उन्होंने कहा कि हैफेड द्वारा बहुत अच्छा कार्य किया जा रहा है। अप्रैल 2020 से अक्तूबर 2020 तक हैफेड द्वारा 1.25 लाख टन यूरिया व 34 हजार टन डीएपी उपलब्ध करवाया गया। उन्होंने कहा कि हरियाणा देश का ऐसा राज्य है जहां पर किसान द्वारा उत्पादित सभी फसलों को खरीदा जाता हैहैफेड इसमें सबसे अधिक योगदान देता हैतिलदालसरसोंधान की खरीद में हैफेड अहम भूमिका निभाता है। इस कार्यक्रम में आरसीएस आरएस वर्मा ने आए हुए सभी अतिथियों का धन्यवाद किया। 

उत्पादन क्षेत्र में कैथल व करनाल मिल रही अव्वल। सहकारिता के राज्य स्तरीय कार्यक्रम में सहकारी चीनी मिल कैथल ने वर्ष 2019-20 के पिराई सत्र में 41.22 लाख क्विंटल गन्ने की पिराई करके 4.16 लाख क्विंटल चीनी का उत्पादन करके मिल ने 94.76 प्रतिशत तकनीकी क्षमता को प्राप्त किया। इस मिल के प्रबंध निदेशक पूजा चांवरिया को सम्मानित किया गया व द्वितीय स्थान प्राप्त करने पर करनाल चीनी मिल के चेयरमैन निशांत कुमार यादव व एमडी अदिति को सम्मानित किया गया। चीनी मिल ने वर्ष 2019-20 में 35.72 लाख क्विंटल गन्ने की पिराई करके 3.66 लाख क्विंटल चीनी का उत्पादन करके मिल द्वारा 91.72 प्रतिशत तकनीकी क्षमता को प्राप्त किया जो सराहनीय है।

सहकारिता के राज्य स्तरीय कार्यक्रम में नगरनिगम मेयर रेनू बाला गुप्ताभाजपा के जिलाध्यक्ष योगेन्द्र राणाहैफेड के चेयरमैन कैलाश भगतहरको बैंक के चेयरमैन अरविंद यादवडेयरी फैडरेशन के चेयरमैन रणधीर सिंहएमडी हैफेड डीके बेहरारजिस्ट्रार सहकारी समिति हरियाणा आरएस वर्माउपायुक्त निशांत कुमार यादवएमपी संजय भाटिया के प्रतिनिधि चांद भाटिया सहित सभी जिलों के डीआर व एआर उपस्थित थे।

1 comment:

  1. Hello everyone I am Lakshmi Gowda i want to share my story with you all I was in debt of 35 lacs and my life was in a bad stage I lost all I have gotten before so i
    made a decision that I want to sell my k1dney and i
    came online and met a lot of scammers and they took 2 lakh from me and still I could not donate my k1dney
    after a month I came back online and met one Dr. Stan
    online and he told me the procedure which did, they
    paid my 5 Cr before the operation and balance 5 Cr
    after the operation, I only spend little money on this
    process but today am a very happy man and my families
    are so happy Thank you so much, Dr. Stan, You can
    contact him on e-mail,
    (highlandorganpreservation@yahoo.com (mailto:highlandorganpreservation@yahoo.com)) WhatsApp
    +919663960578 Call +919663960578

    ReplyDelete

Powered by Blogger.