हरियाणा विधानसभा परिसर में भगवान श्रीकृष्ण के रथ और पवित्र भगवद गीता के चित्र का अनावरण

चंडीगढ़(abtaknews.com)13 अक्टूबर,2020: हरियाणा विधानसभा आज उस समय ऐतिहासिक पलों की गवाह बनी जब मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने विधानसभा परिसर में भगवान श्रीकृष्ण के रथ और पवित्र भगवद गीता के चित्र का अनावरण किया। इसके अलावाउन्होंने विधानसभा की मासिक पत्रिका सदन संदेश’ का पहला संस्करण जारी किया और मौजूदा विधायकों के वाहनों पर लगाने के लिए झंडी भी लॉन्च की।

मनोहर लाल ने विधानसभा अध्यक्ष श्री ज्ञान चंद गुप्ताउपाध्यक्ष श्री रणबीर गंगवासंसदीय कार्य मंत्री श्री कंवर पालमंत्रियों और विभिन्न राजनीतिक दलों के विधायकों के साथ गीता श्लोकों के उच्चारण के बीच भगवान श्रीकृष्ण के रथ और पवित्र भगवद गीता के चित्र का अनावरण किया।बाद मेंमनोहर लाल ने कहा कि आज हरियाणा विधानसभा के लिए ऐतिहासिक क्षण है क्योंकि यह तीन महत्वपूर्ण कार्यक्रमों की साक्षी बनी है।

हरियाणा विधानसभा द्वारा अधिकृत मौजूदा विधायक इस झंडी का इस्तेमाल अपने उन वाहनों पर कर सकेंगेजो उनके नाम पर पंजीकृत हैं। अगर मौजूदा विधायक के पास अपने नाम से पंजीकृत कोई वाहन नहीं हैतो झण्डी का इस्तेमाल निजी या किराए के वाहनों पर किया जा सकता है। यदि झण्डी वाले वाहन में मौजूदा विधायक नहीं है तो झण्डी को सफेद कवर से ढकना होगा। विधायकों को झंडी के लिए हरियाणा विधानसभा को आवेदन करना होगा। अधिकृत मौजूदा विधायक द्वारा झण्डी के इस्तेमाल के लिए प्राधिकार-पत्र परिवहन आयुक्तहरियाणा द्वारा निर्धारित प्रपत्र में जारी किया जाएगा। यह प्राधिकार-पत्र हरियाणा विधानसभा का कार्यकाल पूरा होने या मौजूदा विधायक के राज्य विधानसभा का सदस्य रहने तक वैध रहेगा।

हरियाणा को गीता की भूमि बताते हुए श्री मनोहर लाल ने कहा कि भगवान श्रीकृष्ण ने कुरुक्षेत्र की पावन धरा पर अर्जुन को भगवद गीता का दिव्य संदेश दिया था। उन्होंने कहा कि हरियाणा और देश के अन्य हिस्सों से लोग विधानसभा सत्र के दौरान सम्मानित सदन की कार्यवाही देखने के लिए विधानसभा गैलरी आते हैं। विधानसभा परिसर में भगवान श्रीकृष्ण के रथ और पवित्र भगवद गीता चित्र को देखकर वे निश्चित रूप से राज्य की गौरवपूर्ण संस्कृति से प्रेरणा लेंगे।

        मुख्यमंत्री ने कहा कि दुनिया-भर में पवित्र भगवद गीता का प्रचार करने के उद्देश्य से वर्तमान राज्य सरकार वर्ष 2016 से अंतर्राष्ट्रीय स्तर का गीता महोत्सव आयोजित कर रही है। इसी श्रृंखला मेंगत वर्ष फरवरी में मॉरीशस और अगस्त के महीने में ब्रिटेन में भी अंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव का आयोजन किया गया। उन्होंने कहा कि ऑस्ट्रेलिया में भी इसी तरह का आयोजन किया जाने वाला था जिसे कोविड-19 महामारी के कारण टालना पड़ा। उन्होंने कहा कि विदेशों में रहने वाले भारतीय मूल के लोग अपने देशों में गीता महोत्सव के आयोजन के लिए खासे उत्साहित हैं।

        उन्होंने कहा कि हरियाणा विधानसभा की मासिक पत्रिका सदन संदेश’ से हरियाणा विधानसभा की कार्य-प्रणाली और इसकी अन्य गतिविधियों के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी मिलेगी।

        इससे पहलेहरियाणा विधानसभा के अध्यक्ष श्री ज्ञान चंद गुप्ता ने विधान सभा परिसर में भगवान श्रीकृष्ण के रथ और पवित्र भगवद गीता के चित्र का अनावरण करनेविधानसभा की मासिक पत्रिका सदन संदेश’ का प्रथम संस्करण जारी करने और विधायकों के वाहनों के लिए झंडी लॉन्च करने के लिए मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल का धन्यवाद किया। उन्होंने कहा कि भगवान श्रीकृष्ण ने लगभग 5100 साल पहले कुरुक्षेत्र में अर्जुन को भगवद गीता का दिव्य संदेश दिया था और भगवान श्रीकृष्ण के रथ और पवित्र भगवद गीता के चित्र से हरियाणा विधान सभा को एक अलग पहचान मिलेगी। उन्होंने कहा कि भगवद गीता की शिक्षाएं हमें फल की चिन्ता किए बिना सदैव अपने कर्तव्य को निष्ठï से निभाने के लिए प्रेरित करती हैं।

        श्री गुप्ता ने कहा कि हरियाणा विधानसभा की पत्रिका सदन संदेश’ विधायकों को हरियाणा विधानसभा की नवीनतम गतिविधियों और इसकी विभिन्न समितियों के कामकाज के बारे में अवगत कराएगी।

        हरियाणा विधानसभा के उपाध्यक्ष श्री रणबीर गंगवा ने कहा कि प्रदेश की 14वीं विधानसभा तेजी से नए मील पत्थर स्थापित करने की राह पर बढ़ रही है।

        इस अवसर पर प्रदेश के परिवहन मंत्री श्री मूलचंद शर्माकृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री जे.पी. दलालसहकारिता राज्य मंत्री डॉ. बनवारी लालमहिला एवं बाल विकास राज्य मंत्री श्रीमती कमलेश ढांडा तथा इनेलो के विधायक श्री अभय सिंह चौटाला समेत भाजपा और अन्य राजनीतिक दलों के विधायक मौजूद थे।

--------------------------- 

चंडीगढ़, 13 अक्तूबर- हरियाणा के उपमुख्यमंत्री श्री दुष्यंत चौटाला ने केंद्र सरकार की जीएसटी परिषद की बैठक में एक बार फिर हरियाणा का दृढ़ता से पक्ष रखा और कहा कि कंपन्सेशन-फंड में से हरियाणा के हिस्से की बकाया राशि अविलंब जारी कर दी जाए। इससे पहलेहरियाणा को गत 5 अक्तूबर  को  761 करोड़ रूपए जारी किए गए थे।

        डिप्टी सीएमजिनके पास आबकारी एवं कराधान विभाग का प्रभार भी हैने बीती देर शाम जीएसटी परिषद की 42 वीं बैठक में वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से भागीदारी की। नई दिल्ली में केंद्रीय वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमणजो परिषद की चेयरपर्सन हैंके अलावा परिषद के अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी जुड़े हुए थे। इस अवसर पर राज्यों को दिए जाने वाले कंपन्सेशन-फंड से संबंधित विभिन्न मुद्दों पर चर्चा हुई। यह बैठक गत 5 अक्टूबर को आयोजित बैठक की निरंतरता में थी।

        श्री दुष्यंत चौटाला ने चंडीगढ़ से ऑनलाइन हरियाणा राज्य के दृष्टिकोण से परिषद की चेयरपर्सन को अवगत करवाते हुए कहा कि कम से कम उन राज्यों को तो कंपन्सेशन-फंड जारी कर देना चाहिएजिन्होंने बिना किसी देरी के अपने विकल्प दे दिए हैं। उन्होंने परिषद के उस प्रस्ताव पर सहमति जताई जिसमें भारत सरकार की सहायता से राज्यों द्वारा ऋण उधार लेने की बात कही गई है। जीएसटी की क्षतिपूर्ति जो कि 30 जून 2022 तक पांच साल की अवधि के लिए की जानी थीअब केंद्र सरकार द्वारा उसके बाद भी कंपन्सेशन-सैस लगाने के प्रस्ताव पर उपमुख्यमंत्री ने अपनी सहमति दी। 

        जैसा की ज्ञात है कि श्री दुष्यंत चौटाला के अनुरोध पर केंद्र सरकार ने जीएसटी के करीब 20,000 करोड़ रूपए के कंपन्सेशन-फंड में से हरियाणा को गत 5 अक्तूबर 2020 को  761 करोड़ रूपए जारी कर दिए गए थे।

बैठक में कई राज्यों के मुख्यमंत्रियोंउपमुख्यमंत्रियोंमंत्रियों व कई वरिष्ठï अधिकारियों ने हिस्सा लिया।

इस अवसर पर वीडियो कान्फ्रैंसिंग के दौरान चंडीगढ़ में उपमुख्यमंत्री के साथ हरियाणा के आबकारी एवं कराधान विभाग के प्रधान सचिव श्री अनुराग रस्तोगी,आयुक्त श्री शेखर विद्यार्थी व संयुक्त आयुक्त श्री राजीव चौधरी भी उपस्थित थे।

No comments

Powered by Blogger.