थेलासीमिया ग्रस्त बच्चो की मदद को पच्चीस सालो से कार्यरत है फाउंडेशन अगेंस्ट थैलसिमिया

 

फरीदाबाद ( abtaknews.com ) 18 अक्तूबर,2020 :  फाउंडेशन अगेंस्ट थैलसिमिया जो पिछले पच्चीस सालो से कार्यरत है।  संस्था की हमेशा ही कोशिश रही है जो थेलासीमिया ग्रस्त बच्चे इस दुनिया में जन्म ले चुके है वो स्वस्थ रहे व् कोई भी बच्चा थेलासीमिया जैसी घातक बीमारी के साथ पैदा न हो।  परन्तु लाख कोशिशों के बावजूद भी थेलासीमिया ग्रस्त बच्चो का पैदा होना बंद नहीं हो रहा है लगातार थेलासीमिया ग्रस्त बच्चो पैदा होना यही दर्शाता है लोग कितने अनजान है।  

संस्था के महा सचिव रविन्दर डुडेजा व् प्रधान हरीश रतरा ने बताया की संस्था का मिशन की वर्ष  2025 के बाद भारतवर्ष थेलासीमिया मुक्त हो जाये। जिसके लिए संस्था हर कोशिश करेगी, संस्था हार नहीं मानेगी।  इसी कड़ी में आज  रविवार 18 अक्टूबर 2020 को एक थेलासीमिया करियर का निशुल्क श्री राममंदिर एन  ब्लॉक एन एच 5 फरीदाबाद में लगया गया। इस शिविर को लगाने में रोटरी क्लब ऑफ़ दिल्ली साउथ सेंट्रल के रोटेरियन श्री मुकेश अग्रवाल जी का पूरा सहयोग। 

संस्था के प्रधान हरीश रतरा ने बताया की शिविर में लक्ष्य था एक सौ लोगो का टेस्ट करने का। संस्था द्वारा इस बात के किये काफी मेहनत की गयी लोगो के घरो में गए उनको सन्देश भेजे परन्तु लोगो की उदासी  व् करोना के चलते यह लक्ष्य पूरा नहीं हो पाया। लोगो की सोच है वो तो स्वस्थ है परन्तु सिर्फ सच यही  है, सिर्फ दो ही लोगो को यह पता चल पता है की वो करियर है या नहीं ! एक वो जो स्वयं जाकर थैलासीमिया कॅरियर का टेस्ट करवा ले या दूसरे वो जिनके यहां थैलासीमिया ग्रस्त बच्चा पैदा हो जाता है। जिनके यहाँ ऐसा हो जाता है उनके पास सिर्फ पछताने के अलावा कुछ नहीं होता है।  
आज के इस विशेष शिविर में सेक्रिटेरी रेड क्रॉस  विकास कुमार, विमल खेंडेलवाल,  नरेश कथूरिआ,  अजय कथूरिया,  संजय अरोरा,  नवनीत चावला,  सुन्दर लाल चुग, चुन्नी लाल चावला, परमजीत सिंहअरोरा, कुलजीत सिंह अरोरा,  संजय 1 डी,  नीलम कुकरेजा,  राकेश भाटिया,  गुरध्यान अदलखा, संजय आहूजा,  दिनेश भाटिया,  जे. के. भाटिया,  अमरजीत सिंह,  नीरज कुकरेजा, नवनीत चावला, लोचन भाटिया की गरिमामय उपस्तिथि रही।

No comments

Powered by Blogger.