जो किसान संगठन सरकार की तरफदारी करते हैं वह भाजपा के दलाल हैं : ऋषिपाल अंबावता   

फरीदाबाद (abtaknews.com) 18 सितंबर, 2020:  फरीदाबाद में आज भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष ऋषि पाल अंबावत ने किसानों के अन्य संगठनों के नेताओं के साथ प्रेस वार्ता करते हुए आगामी 2 अक्टूबर को दिल्ली के विजय घाट स्थित लाल बहादुर शास्त्री की समाधि से किसानों के हितों को लेकर राष्ट्रव्यापी आंदोलन शुरू करने का  एलान करते हुए कहा की पूरे देश में रेल रोको और जेल भरो आंदोलन शुरू किया जाएगा। इस अवसर पर उन्होंने हरियाणा में किसानों पर हुए लाठीचार्ज की कड़ी निंदा की और किसानों पर दर्ज मुकदमे वापस लेने की मांग की।पत्रकारों से बातचीत करते हुए भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा की वह सरकार द्वारा लाए गए अध्यादेश का विरोध करते हैं और मांग करते हैं कि फसल की खरीदारी की गारंटी हो और एमएसटी जारी रहे और इसे बंद ना किया जाए ! इसके अलावा उन्होंने फसलों की कालाबाजारी रोकने का कानून बनाने की मांग भी की। उन्होंने हरियाणा में किसानों पर हुए लाठीचार्ज की कड़ी निंदा की और किसानों पर दर्ज मुकदमे वापस लेने की मांग की। उन्होंने कहा किसानों के साथ ऐसा सलूक अंग्रेजी सरकार ने भी नहीं किया था।


उन्होंने सरकार के खिलाफ आंदोलन का बिगुल बजाते हुए  ऐलान किया कि आगामी 2 अक्टूबर को दिल्ली के विजय घाट स्थित लाल बहादुर शास्त्री की समाधि से किसानों के हितों को लेकर राष्ट्रव्यापी आंदोलन शुरू करेंगे  औ पूरे देश में रेल रोको और जेल भरो आंदोलन शुरू किया जाएगा। ऋषिपाल अंबावता ने कहा कि जो किसान संगठन सरकार की तरफदारी करते हैं दरअसल वह भाजपा के दलाल हैं और आज से उन्होंने सरकार को उखाड़ फेंकने का अहवान किया है जिसमें देश के 25 संगठनों के किसान मिलकर संघर्ष करेंगे ! इस मौके पर उन्होंने कहां  की आज प्राइवेट हॉस्पिटल करोना की आड़ में लाखों के बिल बना कर  लोगों को लूटने में लगे हैं  लेकिन सरकार मूकदर्शक बनी हुई है जबकि  करोना फंड  का एक रुपया भी गांव पर खर्च नहीं किया गया है ! उन्होंने यह भी कहा कि राज्य में ऐसी लुटेरी सरकार पहलेे कभी नहीं देखी गई

No comments

Powered by Blogger.