कृषि विधेयकों के विरोध में प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री का पुतला फूक सांसद सुशील गुप्ता के नेतृत्व में भेजा राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन

फरीदाबाद(abtaknews.com)24 सितम्बर,2020 : लोकसभा के बाद राज्य सभा में सभी मर्यादायों कोताक पर बिना बहस पास कराये गए कृषि सबंधी तीन विधेयकों के खिलाफ राज्यसभासांसद एवं आम आदमी पार्टी हरियाणा के सहप्रभारी डॉ सुशील गुप्ता केनेतृत्व में वीरवार को आम आदमी पार्टी द्वारा बी.के. चौक पर धरनाप्रदर्शन कर काला दिवस मनाया गया। प्रदर्शन की अध्यक्षता आम आदमी पार्टीके जिलाध्यक्ष धर्मबीर भड़ाना ने की। डॉ सुशील गुप्ता ने कहा है कि देशके सर्वोच्च सदन राज्यसभा में सभी नियम कायदों तथा मर्यादायों को तार तारकरते हुए, किसानों की आपत्तियों को नजऱ अंदाज कर तथा विपक्ष की आवाज कोदबाते हुए बिना वोटिंग के जिस तरह ध्वनिमत एवं धक्के से इन विधेयकों कापास कराया है वह दुर्भाग्य पूर्ण है। उन्होंने बताया कि राज्य सभा मेंमाननीय सदस्यों ने सदन के उप सभापति से बार बार ये अनुरोध किया था कि इनबिलों पर सदस्यों की वोटिंग कराई जाए लेकिन उन्होंने वोटिंग नहीं कराई,इसलिए ये बिल अवैध है। उन्होंने राष्ट्रपति से इन बिलों पर हस्ताक्षर

नहीं करने की अपील भी की है। उन्होंने कहा कि जिस तरह अवैध रूप से ये बिलपास किये गए हैं, इसलिए यह दिन देश के इतिहास में एक काले दिवस के रूपसदैव गिना जाएगा। उन्होंने कहा कि अन्नदाताओं के खिलाफ षड्यंत्र रच करभाजपा सरकार ने किसान विरोधी विधेयक ला कर देश की आत्मा पर घिनोना प्रहारकिया है,जिसे देश की जनता कभी भी माफ़ नहीं करेगी। भाजपा देश को निजीकरणकी तरफ ले जाकर पूंजीपतियों के हाथ में देने की गहरी साजि़स का खेल रही.


है और ये तीनों विधेयक भी उसी साजि़स का हिस्सा हैं तथा इन कृषि विरोधीजैसे काले कानून बना कर व्यापारियों के साथ साथ एवं किसानों को भी पूंजीपतियों का गुलाम बना रही है। जिसे देश कभी भी सफल नहीं होने देगा।उन्होंने कहा कि मंडी व्यवस्था को समाप्त करने का मतलब न्यूनतम समर्थनमूल्य का समाप्त होना है। उन्होंने सरकार से जवाब माँगा कि अगर अनाजमण्डी ही समाप्त हो आएँगी तो छोटे किसानों को एमएसपी कौन देगा और कैसेदेगा? क्या एफसीआई १५.५ करोड़ किसानों के खेत से एमएसपी पर फसल खरीदसकेगी ? क्या आढ़ती एवं मजदूर किसानों की फसल बेचने में बाधक बन रहे थे ?उन्होंने कहा की अगर भाजपा की नीयत किसानों के प्रति ईमानदारी की होती तोइस विधेयकों में एमएसपी का प्रावधान होता तथा किसानों को पूरी कीमत देनेकी गारंटी होती। उन्होंने राष्ट्रपति महोदय से मांग की है कि राज्य सभामें माननीय सदस्यों ने सदन के उप सभापति से बार बार ये अनुरोध किया था किइन बिलों पर सदस्यों की वोटिंग कराई जाए लेकिन उन्होंने वोटिंग नहींकराई,जिसके चलते ये बिल अवैध है, इसलिए इन बिलों पर आप अपने हस्ताक्षर नकरें तथा तुरंत ही किसानों के लिए आत्मघाती बने इन तीनों बिलों को निरस्तकिया जाए और पहले जैसी ही व्यवस्था बहाल की जाए।आज किसान बिल के विरोध में राज्यसभा सांसद डॉक्टर सुशील गुप्ता केनेतृत्व में बीके चौक फरीदाबाद पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और हरियाणाके मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर का पुतला दहन किया गया। इस मौके पर जोनसंगठन मंत्री ओम प्रकाश गुप्ता, जोन महिला अध्यक्ष मंजू गुप्ता, जोन आपव्यापारी संगठन अध्यक्ष अमन गोयल, जोन सचिव बृजेश नागर, जोन किसान सेलअध्यक्ष विजय गोदारा, जोन कोषाध्यक्ष हरेंद्र भाटी, जोन प्रवक्ता विनययादव, जोन उपाध्यक्ष राजूदीन, जिलाध्यक्ष धर्मवीर भड़ाना, जिला सचिव भीमयादव, जिला संगठन मंत्री बिनोद भाटी, जिला कोषाध्यक्ष राजन गुप्ता, जिलाउपाध्यक्ष नरेंद्र सरोहा, जिला प्रवक्ता सुबोध शर्मा, जिला महिला अध्यक्षगीता शर्मा, जिला आप व्यापार संगठन अध्यक्ष तरुण जिंदल, जिला सोशल मीडियाअध्यक्ष शैलेंद्र शर्मा, जिला अध्यक्ष यूथ राहुल बैसला, जिला संगठनमंत्री यूथ कैलाश  वैष्णव, जिला प्रवक्ता दिनेश मंगला, विधानसभा अध्यक्षएनआईटी फरीदाबाद संतोष यादव, विधानसभा अध्यक्ष बडख़ल तेजवन्त सिंह बिट्टू,विधानसभा अध्यक्ष बल्लभगढ़ लोकेश अग्रवाल, उपाध्यक्ष बल्लभगढ़ सुभाषमित्तल, जिले के वरिष्ठ कार्यकर्ता के एल बंसल, ध्यक्ष, आप व्यापारीसंगठन एनआईटी सुरेन्द्र गंगवार, संगठन मंत्री हरियाणा जोन जयप्रकाशअग्रवाल, सचिव हरियाणा जोन व्यापारी संगठन राजेश गुप्ता, अध्यक्ष, तिगांवव्यापारी संगठन समीर गुप्ता, अशोक कुमार त्यागी, नरेश भड़ाना, मेनपालभड़ाना, प्रेम सिंह भड़ाना, खचेड़ा, रणधीर भड़ाना, जसवीर चेयरमैन, गजराजभड़ाना, सागर दुआ, जसवंत प्रधान, जोगिन्द्र चंदीला, हरिदत्त शर्मा संगठनमंत्री एनआईटी फरीदाबाद व जिले और विधानसभा के अन्य पदाधिकारी उपस्थितरहे। सभी साथियों ने एक स्वर में किसानों के खिलाफ इस काला कानून काविरोध किया।


No comments

Powered by Blogger.