सरकार अब किसान व व्यापारियों की आवाज को दबाना चाहती है: योगेश ढींगडा


फरीदाबाद(Abtaknews.com)10सितंबर,2020: हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता योगेश कुमार ढींढींगरा गडा ने आज पीपली रैली में जाने वाले आढतियों को पूरी रात पुलिस द्वारा नजरबंद  रखने पर तिखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा है कि सरकार अब किसान व व्यापारियों की आवाज को  दवाना चाहती है, लेकिन यह जनता की आवाज है और अब किसी भी सूरत में यह आवाज दवेगी नहीं। आज यहां जारी एक बयानमे श्री ढींगडा ने कहा है कि बल्लभगढ अनाज मंडी के व्यापारियों को पहले दिन मे बल्लभगढ के एस डी एम व ए सी पी ने रैली में जाने से रोकने के लिए धमकाया और जब व्यापारी नहीं माने तो रात को उनको जबरन उठा कर पूरी रात थाने में रखा जो कि पूर्ण रुप से अमानवीय है। श्री ढींगडा ने कहा कि यही नही आज जिस प्रकार से पीपली में शांति पूर्वक रैली कर अपन विरोध दर्ज करा रहे निहत्थे किसान, मजदूर व आढतियों पर सरकार के इशारे पर पुलिस ने लाठी चार्ज किया है उसके विरोध में हरियाणा प्रदेश कांग्रेस अध्यक्षा कुमारी शैलजा ने सरकार की इन दमनकारी नीतियों के खिलाफ आगामी 21 सितम्बर को पूरे प्रदेश में आंदोलन की घोषणा की है जिसके तहत जिला स्तर पर विरोध प्रदर्शन किए जाएंगें तथा राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सोंपे जाएंगें। श्री ढीगडा के अनुसार इस प्रदर्शन में भी फरीदाबाद बढचढ कर हिस्सा लेगा। उनके अनुसार कुमारी शैलजा के नेतृत्व में कांग्रेस पार्टी पूरी तरह से किसान, मजदूर वआढतियों के साथ है तथा जहां तक होगा वह इनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर संघर्ष करेगी। बल्लभगढ के व्यापारियों के खिलाफ सरकार के बर्ताव के बारे में विस्ताार से बताते हुए प्रदेश प्रवक्ता ने कहा कि सरकार अब उसकी जनविरोधी नीतियों के खिलाफ आवाज उठाने वालों की आवाज का दवाने का कुप्रयास कर रही है,लेकिन अब जनता इस सरकार को समझ चुकी है तथा यह आवाज अब रुकने वाली नहीं है। उन्होंने कहा कि आढ़ती व किसान अपनी मांगों को सरकार के सामने रखने के लिए पीपली रैली में जा रहे थे, लेकिन सरकार यह जान गई है कि अब किसान व व्यापारी ही नहीं बल्कि हर वर्ग उससे परेशान हो गया है इस कारण वह इस प्रकार की ओच्छी हरकतों पर उतर आई है कि व्यापारियों को नजरबंद किया जा रहा है। श्री ढींगडा के अनुसार व्यापारीवर्ग अपनी जायज मांगों को उठाने क ेलिए पीपली जा रहे थे ऐसे में उनको पूरी रात थाने में रखने का हरियाणा प्रदेश कांग्रेस विरोध करती है। उन्होंने कहा कि असलियत यह है कि सरकार अब मंढियों का काम भी कुछबडे घरानों को देना चाहती है यही कारण है कि सरकार यह नीति बना रही है कि मंढियों में यदि किसान अपनी फसल लाएगा तो उस पर मार्केट फीस लगेगी और यदि मंढियों के बाहर ही यदि उसको कोई खरीदे गया बेचेगा तो कोई कर नहीं, यह अध्याधेश सरकार अपने बडे व्यापारिक घरानों को खुश करने क ेलिए ला रही है जिसका कांगे्रस विरोध करती है तथा आढतियों की मांगों का समर्थन करती है।

No comments

Powered by Blogger.