जब तक जरुरी न हो तब तक घर से न निकले,सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखे और मास्क पहनकर ही घर से निकलें:डा.ब्रह्मदीप



पलवल, 20 सितंबर(abtaknews.com)सिविल सर्जन डा. ब्रह्मïदीप ने बताया कि सर्विलांस पर जिले में 46 हजार 203 लोग आ चुके है और उनमें से 27 हजार 607 लोगों की सर्विलांस अवधि पूर्ण हो चुकी है तथा 18 हजार 596 अभी सर्विलांस पर हैं। जिला में अभी तक 2284 में से 2049 लोग ठीक होकर घर जा चुके है तथा 28 व्यक्ति आइसोलेशन वार्ड में दाखिल हैं। जिला में 580 सैंपल की रिपोर्ट का इंतजार है। जिला में अभी तक 46 हजार 436 सैंपल में से 43 हजार 572 लोगों की रिपोर्ट नेगेटिव है। उन्होंने बताया कि हमारे पास लगातार दूसरे प्रदेशों से काफी लोग आ रहे है। लगातार उनकी स्क्रीनिंग जारी है और नागरिक हस्पताल में गर्भवती महिलाओं, आपातकाल में आने वाले सभी मरीजों की जांच की जा रही है। सिविल सर्जन के अनुसार अभी तक स्वास्थ्य विभाग की तरफ से 12 हजार 283 लोगों को साइक्लोजिकल काउंस्लिग की जा चुकी है।

उन्होंने लोगों से निवेदन किया की कही पर भी भीड़ दिखती है तो जिम्मेदार नागरिक होने के नाते एक-दूसरे को सोशल डिस्टेंसिंग के प्रति जागरूक करे। उन्होंने लोगो से अपील की है कि वे कोरोना के खिलाफ जंग में स्वास्थ्य विभाग व जिला प्रशासन का साथ देंगे तो जल्द ही हम जीत पाएंगे। उन्होंने लोगों से कहा कि जब तक जरुरी न हो तब तक घर से न निकले और सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखे और मास्क पहनकर ही घर से निकलें। अपने आस-पास किसी संदिग्ध मरीज की जानकारी मिले तो तुरंत हेल्पलाइन नंबर पर जानकारी दे और साथ में उन्होंने कोरोना महामारी के दौरान एतिहात बरतने के लिए जरुरी जानकारी दी।
उन्होंने लोगों से अपील की कि जब तक जरुरी न हो तब तक घर से बाहर न निकले और सामाजि दूरी बनाए रखे और मास्क पहनकर ही घर से बाहर निकले। अपने आस-पास किसी संदिग्ध मरीज की जानकारी मिले तो तुरंत विभाग की हेल्पलाइन नंबर पर जानकारी दे। इसके अलावा उन्होंने कोरोना महामारी के दौरान एतिहात बरतने के लिए जरुरी जानकारी दी। उन्होंने बताया कि जो कोविड मरीज अब नेगेटिव हो चुके है व पूर्ण रूप से स्वास्थ है। वह अपना प्लाज्मा ईएसआई हॉस्पिटल फरीदाबाद में डोनेट करे ताकि कोविड पॉजिटिव मरीज को स्वास्थ करने में मदद की जा सके और किसी की जान बचाने के काम आ सके। सिविल सर्जन डा. ब्रह्मदीप ने बताया कि प्रार्थना और ध्यान करे जोकि आपको मानसिक रूप से स्वस्थ रखेगा। घर पर ही रहे और खुद को क्वारंटाइन करके सुरक्षित रखें। हर समय टीवी देखने और कोरोना वायरस के बारे में सोचने से बेचेनी बढेगी, इससे बेहतर है की अपने परिवार के साथ समय बिताएं, संगीत सुने और घर के अन्दर रह कर गेमस खेले। यही सबसे उत्तम समय है कि अपने बुरी आदतों को त्याग कर अपने शरीर को शुद्ध करे, जिससे आपकी रोग प्रतिरोधक शक्ति में वृद्धि होगी। हाथो को साबुन और पानी से पूरे 1 मिनट तक अच्छे से धोएं। घर पर ही बना हुआ खाना खाए जोकि हल्का गरम और अच्छे से पका हुआ हो। ऐसा खाना खाने से बचे जिससे गला खराब हो और बलगम बने जैसे की कोल्ड ड्रिंक, आइसक्रीम इत्यादि। किसी भी फल और सब्जी को बिना धोए प्रयोग में ना लाएं। खाने से पहले सब्जी और दालों को अच्छे से पकाकर खाएं, जिससे की उसके कीटाणु-विषाणु अच्छे से नष्ट हो जाएं। खुद को स्वच्छ तरल पदार्थ जैसे की नीबू, तुलसी, अदरक, पुदिना के पानी से हाइड्रेट रखे। रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाला खाना जैसे कि तुलसी, अदरक, आंवला, अनार, गुड को संतुलित मात्रा में रोजाना खाएं। बिना मौसमी फल और सब्जियों को खाने से बचे क्योकि वह कोल्ड स्टोर्ड होते है। रोजाना नमक वाले गरम पानी से गरारे करें। रोजाना 25 ग्राम ड्राई फ्रूट्स व नट्स खाएं, जिससे की शारीर में प्रोटीन की कमी ना आए यदि नट्स नहीं खा सकते हैं तो उबली हुई मूंग की दाल खाएं। रोजाना गरम पानी में नीबू डालकर पीएं। नियमित तौर पर भाप ले, जिससे आपके फेफड़े स्वच्छ रहेंगे। सोने से पहले शरीर पर नारियल का तेल या वैसलीन लगाएं, जिससे वायरस का डायरेक्ट कनेक्ट शरीर से नहीं होगा। रोजाना कम से कम 45 मिनट तक व्यायाम करें जैसे कि योग, प्राणायाम व सूर्य नमस्कार इससे आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ेगी। अच्छे से आराम करें व पूरी नींद लें। हेमशा सकरात्मक रहें।

No comments

Powered by Blogger.