फरीदाबाद नगर निगम में पिछले 30 सालों में गांवो की हालत बद से बदतर,नए गांवो को क्या मिलेगा: योगेश ढींगडा

फरीदाबाद(Abtaknews.com)08 सितम्बर,2020: नगर निगम फरीदाबाद सीमा विस्तार मामले पर हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता योगेश कुमार ढींगड़ा ने प्रदेश सरकार पर आगे दौड़ पीछे छोड़ का आरोप लगाया है। उनका कहना है कि जो गांव फरीदाबाद नगर निगम में पिछले 30 सालों में शामिल किए गए हैं, उनकी दशा आज एक स्लम बस्ती से भी बुरी है। ऐसे में और गांवों को नगर निगम में शामिल करने का प्रयास उन गांवों के लोगों के जीवन को नरकीय बनाने का एक कुप्रयास है। श्री ढींगड़ा ने कहा कि सरकार पहले नगर निगम के वर्तमान क्षेत्र में विकास कार्य कराए उसके बाद सीमा विस्तार की बात करें।
प्रदेश प्रवक्ता ने आश्चर्य व्यक्त किया कि हरियाणा प्रदेश के मुख्यमंत्री एक तरफ तो फरीदाबाद नगर निगम क्षेत्र में खुद के द्वारा की गई करोड़ों रुपए की विकास परियोजनाओं को वापस लेने की घोषणा धनाभाव के कारण कर रहे हैं और दूसरी तरफ नगर निगम सीमा विस्तार की बात कही जा रही है जोकि आपस में विरोधाभासी है। प्रदेश प्रवक्ता के अनुसार प्रदेश सरकार इन गांवों के विकास के स्थान पर यहां पर अगले वर्ष के शुरू में होने वाले पंचायत चुनावों से बचने के लिए इस प्रकार के हथकंडे अपना रही है क्योंकि इस हथकंडे के बाद नगर निगम और पंचायत दोनों ही चुनाव परिसीमन के चक्कर में लंबे टल सकते हैं। श्री ढींगड़ा ने कहा कि प्रदेश सरकार बेरोजगारी, अराजकता तथा लगातार बढ़ते अपराध की तरफ से लोगों का ध्यान भटकाने के लिए इस प्रकार के ओछे हथकंडे अपना रही है जिसका कांग्रेस पार्टी विरोध करती है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी का साफ तौर पर मानना है कि पहले सरकार अपने घोषित विकास कार्यों को पूरा करें इसके बाद इस तरह की कोई भी कार्रवाई की जाए। श्री ढींगड़ा ने आरोप लगाया कि स्थानीय नेता यह अच्छी तरह जानते हैं कि आगामी पंचायती चुनावों में गांव की जनता उनको सबक सिखाने वाली है, यही कारण है कि सरकार अब इस तरह के प्रोपेगेंडा कर पंचायत चुनावों को टालने के प्रयासों में लगे हुई है। श्री ढींगड़ा ने कहा कि आज प्रदेश की जनता सरकार की तरफ रोजगार और दो वक्त की रोटी के लिए मुंह बाए खड़ी है लेकिन सरकार है कि जनता को झुनझुना थमाने के अतिरिक्त और कुछ भी करने को तैयार नहीं।

No comments

Powered by Blogger.