26 गांव के युवा अपने खून से लिखेंगे प्रधानमंत्री-मुख्यमंत्री को चिट्ठी,गांवों को नगर निगम में शामिल नहीं करने की लगाएंगे गुहार

फरीदाबाद(abtaknews.com)22 सितंबर। अपनी मातृभूमि की रक्षा एवं सुरक्षा की खातिर युवाओं सदैव कुर्बानी देते आए हैं। किसी भी समस्या के समाधान के लिए चलाए गए आंदोलन तभी सफल हो पाए जब इनसे प्रभावित होने वाला जनमानस इसमें सम्पूर्ण रूप से शामिल हुआ। इतिहास गवाह है की युवा शक्ति ही असली शक्ति है जब यह ठान लेती है तो मंजिल पर पहुंचकर ही रूकती है। ऐसा ही कुछ होने जा रहा है 26 गांवों को नगर निगम में शामिल न करने का विरोध आंदोलन। गांवों के शहरीकरण पर रोक लगवाने के लिए उक्त सभी 26 गांवों के ग्रामीणों के समर्थन में युवा वर्ग बढ़चढ़ कर भाग ले रहा है। जगह जगह एकत्रित होकर पंचायते आयोजित की जा रही हैं ताकि इन गावों को नगर निगम में शामिल होने से बचाया जा सके। 


हरियाणा शहीदी दिवस 23 सितंबर को आयोजित पंचायत में युवा वर्ग उपरोक्त मुहिम को धार देने के उदेश्य से अपने अपने लहू से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नाम मार्मिक चिट्ठी लिखकर गुहार लगाएंगे कि उनके इन 26 गावों को नगर निगम फरीदाबाद में शामिल न किया जाए। यह जानकारी देते हुए युवा पंचायत के संयोजक जसवंत पवार चंदावली ने बताया कि बुधवार 23 सितंबर को ग्रेटर फरीदाबाद के गांव बडोली चंदीला में सुबह 10:00 बजे बाग वाला मंदिर में 26 गांव के युवाओं की एक युवा ग्राम सभा का आयोजन किया जाएगा जिसमें सभी 26 गांव के युवा अपने खून के द्वारा हरियाणा शहीदी दिवस पर माननीय प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री के नाम एक संदेश लिखा जाएगा कि फरीदाबाद प्रशासन, नगर निगम और यहां के कुछ नेता इन 26 गांव को जबरदस्ती नगर निगम में शामिल करना चाहते हैं जबकि इन गांव की जनता और सरपंच यह नहीं चाहते कि उनका गांव नगर निगम में जाए। इस पंचायत की अध्यक्षता बडोली चंदेला गांव निवासी सचिन चंदीला    (कोषाध्यक्ष डिस्ट्रिक्ट बार एसोसिएशन कोर्ट सेक्टर 12) फरीदाबाद करेंगे।  चंदीला ने कहा कि कल हमारे यहां पर जो 26 गांव के युवाओं की युवा ग्राम सभा का आयोजन किया जा रहा है इसमें सर्वसम्मति से नगर निगम के खिलाफ एकमत से प्रस्ताव पारित किया जाएगा कि हम सभी 26 गांव नगर निगम में शामिल नहीं जाना चाहते

No comments

Powered by Blogger.