जे.सी.बोस विश्वविद्यालय 17 को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जन्मदिवस को ‘युवा प्रेरणा दिवस’ मनायेगा

फरीदाबाद(abtaknews.com)14 सितम्बर,2020: जे.सी. बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद 17 सितंबर, 2020 को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के 70वें जन्मदिवस के उपलक्ष्य में आत्म-निर्भर भारत अभियान को सफल बनाने के उद्देश्य के साथ ‘युवा प्रेरणा दिवस’ के रूप में मनाएगा।

इस संबंध में जानकारी देते हुए कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ने कहा कि आत्म-निर्भर भारत अभियान देश को हर क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाने की प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की दूरदर्शी सोच की है। उनका संपूर्ण जीवन तथा एक साधारण पृष्ठिभूमि से देश के प्रधानमंत्री बनने का संघर्ष युवाओं के लिए प्रेरणा है। देश की अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए उनकी दूरदर्शी सोच और मिशन का समर्थन करने के लिए विश्वविद्यालय ने 17 सितंबर 2020 का दिन ‘युवा प्रेरणा दिवस’ के रूप में मनाने की पहल की है। कुलपति ने बताया कि इस दिन विश्वविद्यालय परिवार से जु़ड़ा प्रत्येक सदस्य ‘लोकल के लिए वोकल’ बनने तथा अगले 12 महीनों तक हर महीने की 17वीं तारीख को एक ‘मेक-इन-इंडिया’ उत्पाद खरीदने का प्रण लेगा। कुलपति ने आत्म-निर्भर अभियान को जन आंदोलन का रूप देने के लिए सभी से विश्वविद्यालय की इस पहल से जुड़ने का आह्वान किया है।
विश्वविद्यालय के प्लेसमेंट, एलुमनी और कॉरपोरेट मामलों के डीन डॉ. विक्रम सिंह ने बताया कि 17 सितंबर को विश्वविद्यालय ‘मोदी-फाय लाइक ए बोस’ शीर्षक के साथ कॉर्पोरेट लीडर्स के लिए ऑनलाइन ग्लोबल टाउनहॉल (बैठक) का आयोजन करेगा। इस कार्यक्रम में बिजनेस एवं काॅरपोरेट जगत के शीर्ष अधिकारी हिस्सा लेंगे।
---------------------------------------------------
डिजिटल सर्किट पर एक सप्ताह का कार्यक्रम 

फरीदाबाद, 14 सितम्बर - जे.सी. बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद के इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग विभाग द्वारा 16 से 20 सितंबर, 2020 तक “जिंक एफपीजीए आईसी का उपयोग करते हुए डिजिटल सर्किट कार्यान्वयन” पर फैकल्टी डेवलपमेंट कार्यक्रम का आयोजन करेगा। इस कार्यक्रम का एआईसीटीई ट्रेनिंग एंड लर्निंग अकादमी के संयुक्त तत्वावधान में किया जा रहा है। 
इस संबंध में जानकारी देते हुए इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग विभाग की अध्यक्षा डॉ. पूनम सिंघल ने बताया कि कार्यक्रम के दौरान, जिलिक्स विवाडो सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर पर प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा। कार्यक्रम का आयोजन डिजिटल प्लेटफॉर्म पर किया जायेगा, जिसमें हेड्स आन सेशन भी रहेंगे। 
---------------------------------------------------------
एलुमनाई स्टूडेंट इंटरेक्शन कार्यक्रम का आयोजन किया

फरीदाबाद, 14 सितम्बर - जे.सी. बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद के डीन स्टूडेंट वेलफेयर कार्यालय द्वारा स्थापना दिवस समारोह के उपलक्ष्य में एलुमनाई स्टूडेंट इंटरेक्शन कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में 200 से ज्यादा प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया, जिसे विश्वविद्यालय के 15 भूतपूर्व छात्रों द्वारा संबोधित किया गया।
विश्वविद्यालय के पूर्व छात्र रहे डीएससी लिमिटेड दिल्ली के निदेशक और अध्यक्ष (बिजनेस डेवलेपमेंट) श्री रमनीक बावा, बोनी पॉलिमर प्राइवेट लिमिटेड फरीदाबाद के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक श्री राज भाटिया तथा श्री नरेश कुमार इस संवाद सत्र में विशिष्ट अतिथि तथा आमंत्रित वक्ता रहे। सत्र की अध्यक्षता प्रो. दिनेश कुमार ने की थी। कार्यक्रम का समन्वयक डॉ. लखविंदर सिंह, श्री अनिल बरेेजा और डॉ0 निखिल देव ने किया।
कार्यक्रम के दौरान, मोटर वाहन और विनिर्माण उद्योगों में रुझान और प्रगति के विषयों, एयर कंडीशनिंग और रेफ्रिजरेशन उद्योग में उभरते रूझानों, सतत ऊर्जा परियोजनाओं की अपस्केलिंग एवं बिजली आपूर्ति उद्योग पर इसके प्रभाव और कोरोना महामारी से हेल्थकेयर उपकरणों बढ़ती मांग एवं विनिर्माण के भविष्य की संभावनाओं जैसे विषयों चर्चा हुई।
इस अवसर पर बोलते हुए श्री राज भाटिया ने इनोवेशन के कर्मशियल तथा इंटरलिंक्ड दृष्टिकोण पर अपने विचार रखे। नरेश कुमार ने विद्यार्थियों को अनुशासन के महत्व के बारे में बताया। श्री सौरभ यादव ने एल 1 से एल 5 तक उभरते कार रुझानों पर चर्चा की। श्री संदीप सचदेवा ने ऑटोमोटिव में प्रयुक्त स्वचालित और साइबर भौतिक प्रणाली के बारे में बताया। श्री विक्रम ने प्रदूषण उत्सर्जन पर चर्चा की। श्री अरुण भाटिया ने रेफ्रिजरेशन उद्योग में सतत विकास और भविष्य के दायरे के बारे में चर्चा की। श्री विनय खुंगर ने रेफ्रिजरेशन उद्योग में भविष्य की चुनौतियों पर विचार रखे। श्री अनिल बरेजा ने विभिन्न प्रकार के मास्क के लाभ और उपयोग के बारे में बताया। श्री प्रदीप मेहरा, श्री वरुण गुलाटी और श्री अनिल भाटिया ने स्वास्थ्य उद्योग के अतीत, वर्तमान और भविष्य पर विस्तार से चर्चा की। श्री अभिषेक शर्मा, श्री सुजॉय घोष और श्री सुनील गांधी ने अक्षय ऊर्जा में भविष्य के दायरे पर चर्चा की और विद्यार्थियों को अक्षय ऊर्जा के क्षेत्र में खोज करने के लिए प्रेरित किया।

No comments

Powered by Blogger.