जे.सी.बोस विश्वविद्यालय में यूजी पाठ्यक्रमों में दाखिले की पहली मेरिट सूची 21 अगस्त को होगी जारी


फरीदाबाद(Abtaknews.com)19अगस्त,2020: जे.सी. बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद ने उच्चतर शिक्षा के इच्छुक विद्यार्थियों को मास्टर डिग्री पाठ्यक्रमों में दाखिले का एक और अवसर देते हुए सभी स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों में दाखिले के लिए आवेदन की अंतिम तिथि को 15 सितंबर, 2020 तक बढ़ा दिया है। इसके अलावा, विश्वविद्यालय ने बीटेक को छोड़कर सभी स्नातक पाठ्यक्रमों में दाखिले के लिए ऑनलाइन काउंसलिंग के लिए विस्तृत दिशा-निर्देश और मानदंड जारी किए हैं। स्नातक पाठ्यक्रमों में दाखिले के लिए पहली मेरिट लिस्ट 21 अगस्त, 2020 को जारी की जाएगी।
इस संबंध में जानकारी देते हुए, कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ने बताया कि कि कोरोना महामारी के बावजूद विद्यार्थियों ने विश्वविद्यालय के विभिन्न पाठ्यक्रमों में दाखिले के लिए काफी उत्साह दिखाया है। विश्वविद्यालय के एडमिशन पोर्टल पर इस बार लगभग 10 हजार विद्यार्थी अपना पंजीकरण करवा चुके है, जिनमें से लगभग पांच हजार ने विभिन्न पाठ्यक्रमों के लिए आवेदन किया है, जो बीटेक को छोड़कर सभी यूजी पाठ्यक्रमों की कुल सीटों का लगभग पांच गुणा है। उल्लेखनीय है कि विश्वविद्यालय के बीटेक पाठ्यक्रम में दाखिला हरियाणा राज्य तकनीकी शिक्षा सोसाइटी द्वारा संचालित केंद्रीकृत आनलाइन काउंसलिंग के माध्यम से किया जाता है।

21 अगस्त को जारी होगी विश्वविद्यालय की पहली मेरिट सूची
निदेशक (एडमिशन्स) डॉ. मनीषा गर्ग ने बताया कि विश्वविद्यालय 21 अगस्त, 2020 को बीटेक पाठ्यक्रम को छोड़कर विभिन्न स्नातक पाठ्यक्रमों की पहली मेरिट सूची और कट-ऑफ जारी करेगा। इसके उपरांत 24 से 27 अगस्त तक दस्तावेज सत्यापन के लिए संबंधित शिक्षण विभागों द्वारा ऑनलाइन काउंसलिंग आयोजित की जाएगी, जिससे पहले मेरिट में सफल उम्मीदवारों को अपने लॉगइन आईडी का उपयोग करते हुए एडमिशन पोर्टल पर अपने दस्तावेजों की स्कैन की गई कॉपी अपलोड करनी होगी।
डॉ. गर्ग ने बताया कि बीबीए, बीसीए और बीए (जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन) पाठ्यक्रमों में दाखिला क्वालीफाइंग परीक्षा में प्राप्त अंकों के प्रतिशत के आधार पर किया जाएगा। हालांकि, बीएससी आनर्स के फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथ पाठ्यक्रमों के लिए दाखिला फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथ या बायोलॉजी में प्राप्त अंकों की मेरिट के आधार पर किया जाएगा।
हालांकि विश्वविद्यालय 1 से 3 सितंबर और 7 से 9 सितंबर तक क्रमशः दूसरी और तीसरी काउंसलिंग भी आयोजित करेगा, जिसके आधार पर 28 अगस्त, 2020 और 4 सितंबर, 2020 को दूसरी व तीसरी कट-आफ लिस्ट जारी की जाएगी।

इन पाठ्यक्रमों में अभी भी खुला है दाखिला
विश्वविद्यालय के जिन पीजी पाठ्यक्रमों में अभी भी दाखिले के अवसर उपलब्ध है उनमें सात एमटेक पाठ्यक्रम, आठ एमएससी पाठ्यक्रम, एमसीए, एमबीए और एमए के पाठ्यक्रम शामिल हैं। एमटेक पाठ्यक्रमों में मैन्युफैक्चरिंग एंड ओटोमेशन, पावर इलेक्ट्रॉनिक्स एंड ड्राइवर, कंप्यूटर इंजीनियरिंग, कंप्यूटर विज्ञान एंड इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग, वीएलएसआई डिजाइन और एनर्जी एंड एनवायरमेंटल इंजीनियरिंग शामिल हैं। एमएससी पाठ्यक्रमों में फिजिक्स, मैथ, कैमिस्ट्री, एनवायरमेंटल साइंसेज, बायोटैक्नोलाॅजी, बाॅटनी, जूलॉजी और माइक्रोबायोलॉजी शामिल हैं। इसी तरह जर्नलिज्म एवं मास कम्युनिकेशन, अंग्रेजी और योग में एमए के पाठ्यक्रम में दाखिला के अवसर अभी भी खुले है। इच्छुक विद्यार्थी इन पाठ्यक्रमों के लिए 15 सितम्बर, 2020 तक आवेदन कर सकते हैं। 

एमबीए एग्जीक्यूटिव में दाखिले का अवसर
डॉ. गर्ग ने बताया कि पीजी स्तर के सभी पाठ्यक्रमों में एमबीए को लेकर विद्यार्थियों की सबसे ज्यादा रूचि देखने को मिली है। इस वर्ष विश्वविद्यालय ने एमबीए के नियमित पाठ्यक्रमों के साथ-साथ एमबीए एग्जीक्यूटिव के लिए भी आवेदन आमंत्रित किये है जोकि नौकरीपेशा युवाओं के लिए एक बेहतरीन अवसर हैं। एमबीए एग्जीक्यूटिव वीकएंड प्रोग्राम है, जिसके लिए कक्षाएं शनिवार व रविवार को लगाई जाती है। यह पाठ्यक्रम ऐसे नौकरीपेशा युवाओं का ध्यान में रखते हुए शुरू किया गया है, जो अपनी नौकरी के साथ-साथ पढ़ाई को जारी रखना चाहते है। इस पाठ्यक्रम में दाखिले के लिए न्यूनतम योग्यता स्नातक तथा एक वर्ष का कार्य अनुभव है। 

No comments

Powered by Blogger.