हरियाणा में लॉकडाउन काल में करोना पर केंद्रित मोबाइल फिल्म मेकिंग प्रतियोगिता संपन्न

चंड़ीगढ़(Abtaknews.com)06जुलाई,2020: विश्व संवाद केंद्र, हरियाणा एवं भारतीय चित्र साधना के संयुक्त तत्वावधान में लॉकडाउन काल में बड़े जोश और उत्साह के साथ दो माह तक चली मोबाइल मूवी मेकिंग प्रतियोगिता आज परिणाम उद्घोषणा कार्यक्रम के साथ सम्पन्न हो गई। यह प्रतियोगिता कोरोना से जुड़े विषयों को केंद्र में रखकर आयोजित की गई थी।
विदित हो कि मई माह में लॉकडाउन के दौरान विश्व संवाद केंद्र की हरियाणा इकाई द्वारा फिल्म मेकिंग में रुचि रखने वाले युवाओं को प्रतियोगिता में आमंत्रित किया गया। केंद्र के सचिव राजेश गोयल ने आवाज केसरी को खास बात चीत  में बताया कि सोशल मीडिया के विभिन्न माध्यमों द्वारा आरंभ में प्रतियोगिता का प्रचार किया गया, जिसके फलस्वरूप बडी़ संख्या में युवा इस प्रतियोगिता की ओर आकर्षित हुए।उन्होंने बताया कि करीब 2 सप्ताह के अंदर ही 200 से भी अधिक अॉनलाइन रजिस्ट्रेशन किए गए, जिनमें बहुत से प्रोफेशनल युवा फिल्ममेकर भी शामिल हुए।
प्रतिभागियों के लिए 2 दिन की ऑनलाइन फिल्म मेकिंग कार्यशाला का आयोजन भी किया गया जिसमें दिल्ली और मुंबई से  ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के ज़रिए राष्ट्रीय फिल्म अवॉर्डी निर्देशक मनीष सैनी, सीबीएफसी मैंबर ज्योत्सना गर्ग जैसी प्रतिष्ठित हस्तियों ने युवाओं को फिल्म निर्माण संबंधी बहुत सी बारीकियों के बारे में बताया और तकनीकी पहलुओं पर भी विस्तार से चर्चा की।
उन्होंने बताया कि प्रतियोगिता में क़रीब 90 फिल्में आईं, जिनमें से ज्यूरी ने बेहतरीन 20 फिल्मों का चुनाव कर प्रोफैशनल एवं नॉन प्रोफैशनल कटैगरी में तीन-तीन सर्वश्रेष्ठ फिल्में नामित कीं। इसके अलावा दोनों श्रेणियों में छह-छह सांत्वना पुरुस्कारों के लिए फिल्मों को चुना गया। साथ ही एक अन्य विशेष श्रेणी में दो फिल्मों को सांत्वना पुरुस्कार प्रदान किए गए।
आज एक  ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर परिणाम उद्घोषणा कार्यक्रम के तहत पुरुस्कारों की घोषणा की गई।
कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के तौर पर जानी-मानी भारतीय लेखक व स्क्रीन राइटर अद्वैता काला एवं भारतीय चित्र साधना के अध्यक्ष व जाने-माने शिक्षाविद् प्रोफैसर बृज किशोर कुठियाला ने मुख्य अतिथि के तौर पर शिरकत की। साथ ही कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि व ज्यूरी सदस्य मनीष सैनी ने भी युवा फिल्मकारों को शुभकामनाएं दीं और उन्हें बताया कि भविष्य में योजनाबद्ध तरीके से फिल्म क्षेत्र में कैसे आगे बढ़ना चाहिए।   अपने वक्तव्य में अद्वैता काला ने युवा फिल्मकारों को संबोधित करते हुए कहा कि हम सब सांस्कृतिक योद्धा के रूप में अपनी जिम्मेदारी समझकर राष्ट्रहित में कार्य करें। वहीं कुठियाला जी ने कहा कि बढ़ते नए भारत की तस्वीर हम अपनी कहानी व फिल्मों के माध्यम से देश और दुनिया के सामने रखें। उन्होंने कहा कि भारत के पुनरुत्थान की जिम्मेदारी अब युवाओं के कंधों पर है और उनको ही समाज में फैली नकारात्मकता को खत्म करने के लिए एक नई सोच और पुनीत राष्ट्रीय विचार लेकर आना है। आपको अपनी सकारात्मकता से एक बड़ी रेखा खींचनी है, जो राष्ट्र के नव निर्माण की ओर अग्रसर होगी।
उन्होंने हरियाणा में युवाओं का फिल्मों के क्षेत्र में रुचि लेना शुभ संकेत बताया और सभी को शुभकामनाएं दीं।
केन्द्र के सचिव राजेश गोयल ने परिणामों की घोषणा की और सभी विजेताओं व प्रतिभागियों के उज्ज्वल भविष्य की कामना की तथा भारतीय चित्र साधना के आगामी कार्यक्रमों व फिल्म संबंधी गतिविधियों से जुड़े रहने के लिए आह्वान किया।
कार्यक्रम का संचालन पंचकूला से चन्द्रशेखर ने किया, वहीं कार्यक्रम में हांसी से विकास जुडे़ जबकि महेंद्रगढ़ से हरिओम ने सबका धन्यवाद किया।   पुरुस्कार विजेताओं के नाम व जानकारी

                                                                 प्रोफेशनल श्रेणी
1. प्रथम पुरुस्कार
नाम -  प्रिंस शाह, जिला फरीदाबाद,फिल्म- कोरोना योद्धा 
2. द्वितीय पुरुस्कार
नाम- मिनेष पुनिया, जिला पानीपत,फिल्म - The Last Letter
3. तृतीय पुरुस्कार
नाम- देवी प्रसाद, जिला गुरुग्राम,फिल्म- दान,

                                               नॉन प्रोफैशनल श्रेणी
1. प्रथम पुरस्कार
नाम-धीरज शर्मा,सुदीप पंघाल, जिला भिवानी,फिल्म - कोरोना वॉरियर्स
2. द्वितीय पुरस्कार
नाम- मनजीत रोहिल्ला, जिला रेवाड़ी,फिल्म - फर्क पड़ता है
3. तृतीय पुरस्कार
नाम - दलबीर सिंह, जिला सोनीपत,फिल्म - का नाम फर्ज

No comments

Powered by Blogger.