विश्व जनसंख्या दिवस; छोटा परिवार खुशी का आधार, सभी करें विचार

फरीदाबाद (Abtaknews.com)11जुलाई,2020: शिक्षा विभाग के आदेशानुसार राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय की एस जे ए बी, जे आर सी तथा गाइडस ने प्राचार्य रविन्द्र कुमार मनचन्दा के निर्देशानुसार विश्व जनसंख्या दिवस के अवसर पर ऑनलाइन प्रश्नोत्तरी, पेटिंग और निबंध लिखो प्रतियोगिताओं का आयोजन किया। ब्रिगेड अधिकारी और प्राचार्य रविन्द्र कुमार मनचन्दा ने कहा कि हर वर्ष 11 जुलाई को पूरे विश्व में जनसंख्या दिवस मनाया जाता है। इस दिन को मनाने का उद्देश्य यह है कि, दुनिया के हर व्यक्ति बढ़ती हुई जनसंख्या की ओर अवश्य ध्यान दे और जनसंख्या को नियंत्रित करने में अपना योगदान भी अवश्य करें। इस दिन राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर कई कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं, ताकि जनता जागरूक हो सकें और जनसंख्या पर नियंत्रण कर सके। जनसंख्या वृद्धि विश्व के कई देशों के सामने बड़ी समस्या का रूप ले चुकी है। विशेषकर विकासशील देशों में जनसंख्या विस्फोट’ गहरी चिंता का विषय है। 11 जुलाई को विश्व जनसंख्या दिवस मनाने की शुरुआत 1989 में संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम की संचालक परिषद द्वारा हुई थी। वास्तव में 11 जुलाई 1987 तक वैश्विक जनसंख्या 5 अरब से भी अधिक हो चुकी था, जिसे देखते हुए वैश्व‍िक हितों को ध्यान में रखते हुए इस दिवस को मनाने और जारी रखने का निर्णय लिया गया। विश्व जनसंख्या दिवस पर जागरुकता फैलाने के लिए कई तरह के कार्यक्रमों का आयोजन कि‍या जाता है, जिसमें सोशल मीडिया, विभिन्न समाजिक कार्यक्रमों व सभाओं का संचालन, प्रतियोगिताओं का आयोजन, रोड शो, नुक्कड़ नाटक, पेंटिग, स्लोगन राइटिंग, निबंध लेखन, प्रश्नोत्तरी  तथा अन्य कई कार्यक्रम शामिल हैं। एस जे ए बी  और जे आर सी काउन्सलर रविन्द्र कुमार मनचन्दा ने कहा कि इस वर्ष का विषय विशेष रूप से कोविड -19 महामारी के समय में दुनिया भर में महिलाओं और लड़कियों के स्वास्थ्य और अधिकारों की सुरक्षा पर आधारित है। हाल ही में यूएनएफपीए के एक शोध में कहा गया है कि अगर लॉकडाउन 6 महीने तक जारी रहता है, और स्वास्थ्य सेवाओं में बड़ी गड़बड़ी होती है, तो कम और मध्यम आय वाले देशों में चार करोड़ महिलाओं को स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का सामना करना पड़ेगा। वर्ष 2019 में जनसंख्या दिवस की थीम फैमिली प्लानिंग इम्पावरिंग पीपल, डिवेलपिंग नेशन्स रखी गई थी। प्राचार्य रविन्द्र कुमार मनचन्दा ने कहा कि बढ़ती जनसंख्या के कारण विकास और सरकार द्वारा प्रदत सुविधाओं का लाभ समाज के सभी वर्गो तक नहीं पहुंच पाता। यदि हम सब उन्नति चाहते हैं तो परिवार को छोटा ही रखना होगा क्योंकि की सीमित परिवार ही खुशी और समृद्धि का आधार होता है। आज की प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता में सिमरन प्रथम, पेंटिग प्रतियोगिता में सुमन प्रथम तथा निबंध लिखो प्रतियोगिता में रागिनी को प्रथम घोषित किया गया तथा अंशु, निशा कुमारी, काजल को द्वितीय और सिमरन, सान्या तथा रागिनी को तृतीय घोषित किया गया। प्राचार्य रविन्द्र कुमार मनचन्दा ने इन प्रतियोगताओं के संयोजन के लिए प्राध्यापिका जसनीत कौर और गीता का विशेष आभार व्यक्त किया।

No comments

Powered by Blogger.