जे.सी. बोस विश्वविद्यालय में ‘वर्तमान युग में भारतीयता की पुनर्स्थापना’ पर राष्ट्रीय ई-सम्मेलन

फरीदाबाद(abtaknews.com)24 जुलाई,2020: जे.सी. बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद द्वारा भारतीय शिक्षण मंडल के अनुसंधान प्रकोष्ठ के सहयोग से 8 और 9 अगस्त, 2020 को ‘वर्तमान युग में भारतीयता की पुनर्स्थापना’ विषय पर एक राष्ट्रीय ई-सम्मेलन का आयोजन किया जायेगा।
इस संबंध में जानकारी देते हुए कुलपति प्रो दिनेश कुमार ने कहा कि इस सम्मेलन का उद्देश्य राष्ट्रीय विकास के विभिन्न क्षेत्रों की वर्तमान प्रणाली में सामाजिक, सांस्कृतिक और आध्यात्मिक प्राचीन भारतीय मूल्यों, कार्यप्रणाली और प्रथाओं को पहचानने और पुनस्थार्पित करने के लिए रणनीतियों, नीतियों, प्रक्रियाओं और कार्यक्रमों को विकसित करने तथा भारतीयता को पुनस्थार्पित करने पर केन्द्रित है। 
कुलपति ने कहा कि कोरोना महामारी के परिणामस्वरूप कई चुनौतियां और संकट उत्पन्न हुए हैं। शिक्षा क्षेत्र में डिजिटल परिवर्तन एक बड़ी चुनौती है, जिसका शैक्षिक संस्थानों को सामना करना पड़ रहा है। इन चुनौतियों को एक अवसर के रूप में उपयोग करने के उद्देश्य से विश्वविद्यालय ने भारतीय शिक्षा मंडल (बीएसएम) जोकि शिक्षा के क्षेत्र में राष्ट्रीय पुनरुत्थान के उद्देश्य से कार्य कर रहा है, के सहयोग से ऑनलाइन सम्मेलन के माध्यम से विभिन्न विषयों और विकास के क्षेत्रों में लोगों को प्रेरित करने, चर्चा करने, और योगदान देने के लिए आमंत्रित करने का निर्णय लिया है। 
विश्वविद्यालय ने सम्मेलन के उप-विषयों, जिनमें शिक्षा, धर्म, समाज, संस्कृति और आध्यात्मिकता, सरकार की नीतियां और कार्यक्रम, तकनीकी प्रगति और औद्योगिक विकास शामिल हैं, पर विभिन्न विषयों के विशेषज्ञों, शिक्षाविदों, शोधार्थियों तथा विद्यार्थियों से अनुसंधान लेख आमंत्रित किए हैं। सभी शोध लेख सम्मेलन के दौरान ऑनलाइन प्लेटफार्म के माध्यम से प्रस्तुत किए जाएंगे। सम्मेलन के लिए पंजीकरण की अंतिम तिथि 31 जुलाई, 2020 है। इच्छुक प्रतिभागी 27 जुलाई, 2020 तक ईमेल events@jcboseust.ac.in पर अपने लेख भेज सकते हैं। सम्मेलन का विस्तृत विवरण विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर उपलब्ध करवाया गया है।

No comments

Powered by Blogger.