मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने प्रदेश में टिड्डी दल से हुए नुकसान की रिपोर्ट मांगी, होगी विशेष गिरदावरी

चंडीगढ़(Abtaknews.com)12जुलाई,2020: हरियाणा के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री जे.पी. दलाल ने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल के निर्देशानुसार प्रदेश में टिड्डी दल से हुए नुकसान की रिपोर्ट मांगी गई है और जहां भी ज्यादा नुकसान मिलेगावहां विशेष गिरदावरी करवाई जाएगी।
जे.पी. दलाल ने आज जिला चरखी दादरी के टिड्डी दल से प्रभावित क्षेत्र का दौरा कर इससे हुए नुकसान का जायजा लिया। वे प्रात: 10 बजे के करीब बौंद स्थित सिंचाई विश्राम गृह पहुंचे और जिला उपायुक्त से जिले में हुए टिड्डी दल के हमले की जानकारी ली।
         उन्होंने विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि जहां पर भी टिड्डी दल दिखाई देतुरंत दवा का छिडक़ाव करवाया जाए। साथ ही जिले के 20-25 गांव को मिलाकर एक ग्रुप बनाया जाएजिसमें प्रत्येक गांव से 4-5 लोग होंताकि टिड्डी दल की सूचना समय रहते प्रशासन तक पहुंच सके और इनको मारा जा सके। उन्होंने निर्देश दिए कि टिड्डी दल पर लगातार नजर रखी जाए और जब तक यह समाप्त न हो जाएप्रशासन व कृषि विभाग के अधिकारी पूरी तरह सचेत रहें।
         कृषि मंत्री ने बताया कि टिड्डी दल से निपटने की हरसंभव कोशिश की जा रही है और अभी तक सरकार के निर्देशानुसार विभिन्न जिलों में लगभग 50 प्रतिशत टिड्डी दल को समाप्त किए जाने की रिपोर्ट है।
         इस दौरान श्री दलाल ने गांव सांवड़ व आसपास के क्षेत्र में जाकर रात को टिड्डी दल पर किए गए छिडक़ाव का भी जायजा किया। उन्होंने मौके पर जाकर टिड्डियों पर हुए दवा के असर को देखा और कृषि विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि टिड्डी दल पर दिन के समय भी दवा का छिडक़ाव किया जाए क्योंकि विभाग के पास दवा की कोई कमी नहीं है।
         कृषि मंत्री ने कहा कि बरसात का मौसम टिड्डी दल के लिए अनुकूल हैऐसे में ज्यादा सतर्कता बरतने की जरूरत है। उन्होंने किसानों से सचेत रहने की अपील करते हुए कहा कि आने वाले कुछ दिन टिड्डी दल के खतरे से भरे हैं। ऐसे में किसान इस बात का ध्यान रखें कि रात को टिड्डी दल कहां बैठता है और पल-पल की जानकारी प्रशासन को देंताकि इसे पूरी तरह समाप्त किया जा सके।
         इस दौरान कृषि मंत्री को अवगत करवाया गया कि रात को टिड्डी दल चार पांच भागों में बंटकर जिले के विभिन्न क्षेत्रों में था। प्रशासन और कृषि विभाग के अधिकारी पूरी रात से लगे हुए हैं और कई स्थानों पर टिड्डी दल को मारने के लिए दो-तीन बार दवा का छिडक़ाव किया गया है। टिड्डी दल को लेकर प्रशासन पहले से ही सतर्क थाजिसके चलते जिले में ज्यादा नुकसान नहीं हुआ है। जिला प्रशासन की तीन फायर ब्रिगेड के अलावा फायर ब्रिगेड की दो अन्य गाडिय़ां दूसरे जिले से मंगवाई गई हैं ताकि जरूरत अनुसार दवा का छिडक़ाव समय पर किया जा सके।
         कृषि मंत्री जे.पी. दलाल को जानकारी दी गई कि जिला प्रशासन के पास लगभग 1700 लीटर दवाई का स्टॉक है। प्रशासन को जहां से भी टिड्डी दल की सूचना मिल रही हैवहीं पर उचित कार्यवाही की जा रही है। जिले के किसानों को सूचित किया गया है कि दिन के समय टिड्डी दल को आवाज करके उठाएं और रात को जहां ये बैठेंउसकी सूचना दें ताकि वहां छिडक़ाव करके उन्हें मारा जा सके।
         इससे पहले भीशनिवार रात को ज्यों ही कृषि मंत्री को पता चला कि टिड्डी दल भिवानी जिले के लोहारू और चरखी दादरी क्षेत्र में आ गया है तो वे रात को ही लोहारू के लिए रवाना हो गए। लोहारू विधानसभा के गांव बिठन के खेतों में पहुंचकर उन्होंने टिड्डी दल से बचाव के लिए किए गए उपायों का जायजा लिया।

No comments

Powered by Blogger.