पेट्रोल-डीजल की बढ़ी कीमतों को लेकर कांग्रेसियों ने प्रदर्शन कर राष्ट्रपति को भेजा ज्ञापन

फरीदाबाद(Abtaknews.com)29जून,2020:पेट्रोल-डीजल के दामों में हो रही बेतहाशा वृद्धि को लेकर आज हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी की अध्यक्षा कुमारी सैलजा के निर्देशानुसार जिला कांग्रेस कमेटी के कार्यकर्ताओं ने सेक्टर-12 लघु सचिवालय के समक्ष विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान जिलेभर के कांग्रेसी लघु सचिवालय पर करीब दो घण्टे तक धरने बैठे रहे और पेट्रोलियम पदार्थाे की बढ़ी कीमतों को लेकर सरकार पर जमकर हमला बोला। इस दौरान कांग्रेस कार्यकर्ताओं ‘मोदी सरकार महंगाई की मार’, ‘धर्मेन्द्र प्रधान मुर्दाबाद, भाजपा सरकार मुर्दाबाद’ की तख्तियां लेकर अपना रोष जाहिर किया। इसके उपरांत कांग्रेसियों ने संयुक्त से देश के महामहिम राष्ट्रपति के नाम एक ज्ञापन सिटी मजिस्ट्रेट श्रीमती बलीना को सौंपा और पेट्रोलियम पदार्थाे की कीमत जल्द कम किए जाने की मांग की। इससे पूर्व धरने पर मौजूद कांग्रेस कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कांग्रेसी नेताओं ने संयुक्त रूप से मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतें मात्र 40 रूपए प्रति बैरल रह गई है।
 इसके बावजूद पेट्रोल-डीजल के दाम पिछले 22 दिनों में पेट्रोल लगभग 11 रूपए लीटर और डीजल 9 रूपए प्रति लीटर महंगे हो गए है। उन्होंने कहा कि एक तरफ जहां कोरोना काल में लोग इस बीमारी से लड़ रहे है वहीं दूसरी लड़ाई जनता महंगाई से लड़ रही है क्योंकि पेट्रोलियम पदार्थाे की कीमतों में वृद्धि होने से खाद्य पदार्थ, मालभाड़ा किराया सहित रोजाना प्रयोग में आने वाली अन्य वस्तुओं के दामों में भी वृद्धि होनी शुरू हो गई है, जिससे लोगों एक और संकट पैदा हो गया है।  कांग्रेसियों ने कहा कि विपक्ष में रहते हुए भाजपाई जहां मामूली मूल्यावृद्धि पर कपड़े उतारकर प्रदर्शन किया करते थे, आज वह लोग मंत्री विधायक बनकर ए.सी. में बैठे है, पेट्रोल डीजल के दामों में उनकी चुप्पी उनकी कार्यशैली को दिखा रही है और जनता उनका असली चेहरा भली भांति जान चुकी है। उन्होंने कहा कि ऐसा देश के इतिहास में पहली बार हुआ है, जब डीजल के दाम पेट्रोल से ऊपर पहुंच गए है, जो सरकार की नाकामी को दर्शाता है। उन्होंने कहा कि एक तरफ लॉकडाऊन के चलते लोगों के रोजगार छीन रहे है, उनके समक्ष आर्थिक समस्याएं पैदा हो रही है, ऐसे में दिन-ब-दिन पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ रहे है, जिसका सीधा असर खाद्य पदार्थाे की कीमतों पर भी पड़ रहा है। जनता पहले ही महंगाई की मार से परेशान थी, पेट्रोल-डीजल की मूल्यावृद्धि आग में घी का काम कर रही है। 
इस अवसर पर कांग्रेसियों ने एकमत होकर सरकार को चेताते हुए कहा कि अगर जल्द ही पेट्रोल-डीजल के दामों में वृद्धि वापिस नहीं ली गई तो कांग्रेस कार्यकर्ता भाजपा सरकार के खिलाफ सडक़ों पर उतरकर विरोध प्रदर्शन करने से भी गुरेज नहीं करेंगे। इस अवसर पर विधायक नीरज शर्मा, पूर्व विधायक ललित नागर, रघुबीर सिंह तेवतिया, आनंद कौशिक, वरिष्ठ कांग्रेसी नेता लखन सिंगला, विजय प्रताप, जेपी नागर, योगेश गौड़, सुमित गौड़, बलजीत कौशिक, अशोक अरोड़ा, योगेश ढींगड़ा, सतबीर डागर, अनिल शर्मा, मनोज अग्रवाल, जगन डागर, राजन ओझा, तरूण तेवतिया, गुलशन बगगा, प्रियंका भारद्वाज, पराग शर्मा, डा. सौरभ शर्मा, अहसान कुरैशी, कृष्ण अत्री, आशीष पाल, संजय सोलंकी, अशोक रावल, मनोज नागर, नीरज गुप्ता, नितिन सिंगला, बाबूलाल रवि, राजेश आर्य, सुभाष कौशिक, विजय कौशिक, नरेश शर्मा, रेनू चौहान, इरशाद कुरैशी, गौरव ढींगड़ा, इकबाल कुरैशी,रविन्द्र वशिष्ठ, जितेंद्र चंदीला, राजेश खटाना, विकास वर्मा, अनुज शर्मा, विकास फागना, हिम्मत पंडित, श्रवण माहेश्वरी, राजकुमार शर्मा, जमील मलिक, गजना कालीरमण, ललित चौधरी, राकेश राजपूत, कर्मबीर खटाना, आकाश सैनी, विजय कुमार, नवीन रावत, सतीश कुमार सहित अनेकों कांग्रेसी कार्यकर्ता मौजूद थे। 

No comments

Powered by Blogger.