Friday, June 12, 2020

रोड स्वीपिंग मशीन से हो सकेगी पलवल शहर की सफाई व्यवस्था और बेहतर : दीपक मंगला

पलवल(Abtaknews.com)12 जून।विधानसभा क्षेत्र पलवल के विधायक दीपक मंगला ने शुक्रवार को शहरी स्थानीय निकाय विभाग हरियाणा सरकार द्वारा पलवल नगर परिषद को प्रदान की गई रोड़ स्वीपिंग मशीन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। विधायक ने कहा कि रोड स्वीपिंग मशीन से पलवल शहर की सफाई व्यवस्था को और बेहत्तर बनाया जाएगा। इस मौके पर नगर परिषद पलवल की चेयरपर्सन इंदु भारद्वाज सहित नगर परिषद के अधिकारी तथा विभिन्न वार्डो के पार्षदगण भी मौजूद थे।
विधायक दीपक मंगला ने प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहरलाल का आभार प्रकट करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार ने पलवल शहर में सफाई व्यवस्था को बेहत्तर बनाने के लिए 76 लाख रूपए की लागत से रोड स्वीपिंग मशीन प्रदान की है। रोड स्वीपिंग मशीन से पलवल शहर की सफाई व्यवस्था और बेहत्तर हो सकेगी। उन्होंनेे कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहरलाल पलवल जिले के विकास को गति देने में लगे हुए है। कोविड़ 19 महामारी के बावजूद प्रदेश में विकास कार्यो को गति प्रदान की जा रही है। रोड स्वीपिंग मशीन द्वारा शहर की सफाई होने से पलवल के सौन्र्दयकरण को बढ़ावा मिलेगा।
रोड स्वीपिंग मशीन के बारे में वी.एन. इंजीनियरिंग के अधिकारी पंकज ने बताया कि यह मशीन सरकार द्वारा नगर परिषद को प्रदान की गई है। यह मशीन प्रतिदिन 10 घंटे काम करेगी और करीब 30 किलोमीटर सडक़ को साफ करेगी। मशीन के अंदर तीन टन तक मिट्टïी इकठ्ठा करने की क्षमता है। मशीन द्वारा सडक़ के डिवाइडर के साथ-साथ सफाई का कार्य किया जाएगा। मशीन में लगे ब्रश से सूखी और गीली मिट्टïी को उठाया जाएगा। मशीन द्वारा सडक़ में पड़े गढ्ढïों की भी सफाई की जाएगी। रोड स्वीपिंग मशीन 70 से 80 लोगों का एक महीने का काम अकेले कर देती है। मशीन को चलाने के लिए केवल एक चालक और परिचालक की आवश्यकता है, बाकी काम मशीन स्वंय करती है। मशीन के आने से लेबर की जरूरत नहीं है। उस लेबर को गलियों में कूड़ा उठाने के लिए शिफ्ट किया जा सकता है। सरकार की यह एक अच्छी पहल है। प्रदेश के प्रत्येक जिले में रोड़ स्वीपिंग मशीन भेजी जा रही है। निश्चित तौर पर रोड स्वीपिंग मशीन के आने से पलवल शहर के सौन्र्दयकरण को बढा़वा मिलेगा।
शहरी स्थानीय निकाय विभाग हरियाणा सरकार द्वारा पलवल नगर परिषद को सडक़ स्वीपिंग मशीन प्रदान की गई है जिसका उद्घाटन पलवल के विधायक दीपक मंगला व नगर परिषद पलवल की चेयरपर्सन इंदु भारद्वाज ने हरी झंडी दिखाकर किया।
इस अवसर पर मुकेश सिंगला, अविनाश शर्मा, हरेंद्र तेवतिया, पार्षद रन्नू भड़ाना, मोहित गोयल, प्रवीण ग्रोवर, लीलाधर वर्मा, सुरेंद्र सिंगला, कार्यकारी अधिकारी मनिंदर, कार्यकारी अभियंता सतपाल, कनिष्ठ अभियंता डिगम्बर तेवतिया सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति मौजूद रहे।
-------------------------------
कोरोना से बचाव के लिए सुरक्षित रहना जरूरी : डीसी 

पलवल,12 जून।
कोरोना वैश्विक महामारी के दौरान रोजाना एक शहर से दूसरे शहर नौकरी या व्यापार के लिए आने जाने वाले लोगों के लिए कोविड-19 के संक्रमण से सुरक्षित रहने के लिए एडवाइजरी जारी की है। डीसी नरेश नरवाल ने स्वास्थ्य सुरक्षा के दृष्टिगत लोगों को जागरूक रहने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि आपदा की स्थिति में सभी को जागरूक होकर कोरोना से बचना है।
डीसी नरेश नरवाल ने कहा कि निर्धारित नियमों का पूर्णतया पालन करें और फेस मास्क पहनें और उन्हें समय-समय पर हाथ धोते हुए सुरक्षित रहें अथवा हैंड सैनिटाइजर का उपयोग करें। उन्होंने कहा कि एक-दूसरे से कम से कम एक मीटर की व्यक्तिगत दूरी बनाए रखें और कार्यालय या खरीददारी आदि से घर लौटने पर स्नान करें। बाहर जाने के लिए एक जैकेट या एक स्वेट-शर्ट रखें, जिसे आप कार्यालय या घर पहुंचने के बाद हटा सकें। नियमित रूप से हाथ धोएं, भीड़ में जाने से बचें और एक मीटर की अनिवार्य शारीरिक दूरी का पालन करें। डीसी ने कहा कि साबुन या 60 प्रतिशत अल्कोहल युक्त सैनिटाइजर के साथ 20 सेकंड तक हाथ धोने से व्यक्तिगत स्वच्छता बनाए रखें। हाथ मिलाने व समूह लंच आदि से बचें। ऑनलाइन बैठकों को प्रोत्साहित करें। अपनी प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देने के लिए पौष्टिक आहार लें। नियमित रूप से पानी या अन्य तरल पदार्थ पीते रहें। बाहर से आते ही अपने कपड़ों को त्याग दें और अपने हाथों और पैरों को अच्छी तरह से धोएं। शराब और शर्करा युक्त पेय पदार्थो का सेवन न करें। यदि आपको खांसी, बुखार या सांस लेने में कठिनाई होती है तो अपनी स्वास्थ्य जांच के लिए बीमार होने पर घर में ही रहे।
डीसी नरेश नरवाल ने लोगों से आह्वान किया है कि सभी अपने मोबाइल उपकरणों में आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड करें तथा मार्ग पर हमारी सुरक्षा के लिए तैनात पुलिस कर्मियों के निर्देशों का पालन करें। निर्धारित स्थान पर ही वाहन को खड़ा करें किसी अन्य स्थान पर या बाजार में न रोकें। जहां तक संभव हो भीड़ भरे परिवहन साधनों का उपयोग न करें। कैब-एग्रिगेशन का उपयोग सीमित हो सकता है जब तक कि पूरी तरह से अपरिहार्य न हो। सबसे महत्वपूर्ण बात चेहरे पर कहीं भी हाथ न लगाएं।
------------------------------------------------------
अब चाय, कॉफी नहीं आयुर्वेदिक देसी काढ़ा है लोगों की पहली पसंद
-- आयुर्वेदिक देसी काढ़ा इम्युनिटी पावर बढ़ाने में सहायक
पलवल, 12 जून।
उपायुक्त नरेश नरवाल ने कहा कि आयुष मंत्रालय द्वारा कोरोना से बचाव के लिए लोगों को आयुर्वेदिक काढ़ा पीने की सलाह दी जा रही है, जिसके अनुसार दिन में कम से कम एक बार काढ़ा पीने से व्यक्ति काफी हद तक कोरोना वायरस के संक्रमण से बच सकता है।
जिला आयुर्वेदिक अधिकारी डा. जसबीर सिंह ने बताया कि कोरोना के बाद लोगों की जीवनशैली में बदलाव आया है। हर कोई अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करने में जुटा है ताकि कोरोना के साथ-साथ अन्य बिमारियों से भी बचाव हो सके। इम्युनिटी बूस्टर के प्रति लोगों में तेजी से जागरूकता बढ़ी है। इससे कोरोना ही नहीं, कई बीमारियों को दूर किया जा सकता है। पहले जो लोग सुबह अपने दिन की शुरूआत कॉफी व चाय की चुस्की से करते थे, वह अब आयुर्वेदिक देसी काढ़ा उनकी पहली पंसद बन गया है। लोगों का मानना है कि ये उनकी जिंदगी में बूस्टर का काम कर रहा है।
--यह है काढ़ा बनाने की विधि
आयुष मंत्रालय द्वारा बताई गई विधि के मुताबिक ऐसे आपको काढ़ा बनाना है। घर में जितने सदस्य हैं उतना कप पानी लें और उसे चूल्हे पर उबालना शुरू करें। जब पानी गर्म हो जाए तो आंच धीमी करें और उसमें तुलसी पत्ता, दालचीनी, काली मिर्च, सौंठ, मुनक्का और गुड़ डाल दें। सभी सामग्रियों को डालने के बाद जब पानी खौलने लगे तो इसे छान लें और इसमें नींबू निचोड़ दें। इस काढ़े को दिन में अगर आप दो बार पी लें। इस काढ़े को पीने से आप कोरोना समेत कई अन्य बीमारियों से आसानी से लडऩे में सक्षम हो जाएंगे।
-- काढ़ा बनाने में इन सामग्रियों का करें प्रयोग
सबसे अच्छी बात यह है कि काढ़ा बनाने के लिए जरुरी वस्तुओं में से ज्यादातर चीजें हर घर की रसोई में आसानी से मिल जाती हैं। काढ़ा बनाने के लिए आपको तुलसी के पत्तें, दालचीनी, काली मिर्च, सौंठ, मुनक्का, गुड़, नींबू को प्रयोग करना होगा। इसके अलावा भारत के देसी नुस्खे जैसे तुलसी, अदरक, काली मिर्च, दाल चीनी, अजवाइन, गिलोय आदि का काढ़ा पीने से भी कोरोना से काफी हद तक बचा जा सकता है।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages