स्कूलो को जुलाई में खोले जाने को लेकर शिक्षा अधिकारी सत्येंद्र कोर वर्मा ने की समीक्षा बैठक

फरीदाबाद (Abtaknews.com)07जून,2020:इस करो ना काल में स्कूलों को लगभग 2 महीने के बाद दोबारा से जुलाई में खोला जाए इस बात पर चर्चा करने के लिए कल शनिवार 6 जून को गवर्नमेंट बॉयज मॉडल स्कूल सेक्टर 28 में शिक्षा निदेशक के आदेश अनुसार जिला शिक्षा अधिकारी सत्येंद्र कोर वर्मा की अध्यक्षता में एक चर्चा हुई l
इस चर्चा में डिप्टी डीईओ ,बी ई ओ, जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी ,सरकारी स्कूलों के प्राध्यापक तथा प्राध्यापक यूनियन के सदस्य प्राइवेट स्कूलों के यूनियन के सदस्य अभिभावक तथा कुछ पत्रकार मौजूद थे l
बी ई ओ श्रीमती इंदु गुप्ता जी ने चर्चा का शुभारंभ करते हुए सरकार का रुख बताया और इस चर्चा को सभी के लिए खोला
प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन के प्रधान रमेश डागर ने सबसे पहले बोलते हुए अपना पक्ष रखा उन्होंने स्पष्ट रूप से स्कूल खोलने की खिलाफत की तथा आम लोगों में जो धारणा चल रही है कि प्राइवेट स्कूलों ने सरकार पर फीस ना आने की स्थिति में दबाव बनाया है ताकि स्कूल खुले और फीस आए इस बात का पूरे जोर से विरोध किया उन्होंने स्पष्ट किया कि स्कूल में बच्चा हमारा होता है हम बच्चे के मां-बाप हैं और कोई मां बाप अपने बच्चे को जानबूझकर करो ना महामारी से संक्रमित नहीं होने देना चाहता अतः प्राइवेट स्कूलों पर यह आरोप गलत है कि उन्होंने सरकार पर स्कूल खोलने का दबाव बनाया है इसी प्रकार उन्होंने आगे कहा कि यदि सरकार फिर भी स्कूल खोलने को विवश करती है तो सरकार हर स्कूल को दिन में दो बार सैनिटाइज करवाएं और सर्टिफिकेट दे कि यह स्कूल इन परिस्थितियों  में खोलने योग्य फिट है और फिर भी यदि किसी बच्चे या किसी अध्यापक को संक्रमण होता है तो उस मैनेजमेंट या प्रिंसिपल के खिलाफ कोई कार्यवाही ना हो ना ही स्कूल को सील किया जाए l उन्होंने  बताया कि यह इस समय संभव नहीं है इसीलिए स्कूलों को अभी ना खोलने में ही सबकी भलाई है l प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन के महासचिव गौरव पाराशर ने भी इस समय स्कूलों को ना खोलने की बात कही गौरव पाराशर ने सरकार से यह अनुरोध किया की सरकार अभी डेमो के तौर पर स्कूल खोलना चाहती है तो सरकार को यह डेमो उन 9 जिलो में करना चाहिए जहां करोना के जीरो मरीज हैं फरीदाबाद गुड़गांव मां जैसे जिले जहां संक्रमण बहुत जोरों पर है वहां पर इस डेमो के बारे में सोचना भी गलत है उन्होंने यह भी कहा की बारिश का मौसम आने वाला है और बारिशों में वायरस बहुत सक्रिय हो जाता है इस कारण से भी इस मौसम में और उस प्रदेश में जहां संक्रमण पहले से ही तेज है स्कूलों के खुलने के बारे में सोचना भी गलत है l
इस चर्चा में गवर्नमेंट टीचर यूनियन के प्रधान चतर सिंह, वह गवर्नमेंट प्राध्यापक यूनियन के प्रधान शिव कल्याण दलाल, हरियाणा प्रोग्रेसिव कॉन्फ्रेंस के प्रधान सुरेश चंद्र , प्रवक्ता नरेंद्र परमार ने भी अपने विचार रखते हुए स्कूलों को अभी ना खोलने की बात कही l

No comments

Powered by Blogger.