Monday, June 29, 2020

छात्रों ने राष्ट्रीय सांख्यिकी दिवस पर सांख्यिकीविद प्रशांत चंद्र महालनोबिस को नमन किया

फरीदाबाद (Abtaknews.com)29जून, 2020:राष्ट्रीय सांख्यिकी दिवस के अवसर पर राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय एन एच तीन फरीदाबाद की सैंट जॉन एम्बुलेंस ब्रिगेड और जूनियर रेडक्रॉस ने काउन्सलर जे आर सी फरीदाबाद और प्राचार्य रविन्द्र कुमार मनचन्दा के निर्देशानुसार ई जागरूकता अभियान चलाया। प्राचार्य रविन्द्र कुमार मनचन्दा ने कहा कि सामाजिक-आर्थिक नियोजन और नीति तैयार करने में सांख्यिकी के महत्व के बारे में जन जागरूकता उत्पन्न करने के लिए हमारे देश में प्रत्येक वर्ष 29 जून को राष्ट्रीय सांख्यिकी दिवस मनाया जाता है। इस दिन को मनाने का उद्देश्य प्रतिदिन के जीवन में और योजना एवं विकास की प्रक्रिया में सांख्यिकी के महत्त्व के प्रति लोगों को जागरुक करना है। यह दिन भारत के प्रख्यात सांख्यिकीविद दिवंगत प्रशांत चंद्र महालनोबिस की जन्मतिथि के अवसर पर मनाया जाता है। यह राष्‍ट्रीय सांख्यिकीय प्रणाली की स्‍थापना में उनके अमूल्‍य योगदान का परिचायक है। प्रत्येक वर्ष एक थीम का चयन सांख्यिकी प्रणालियों एवं उत्‍पादों में गुणवत्‍ता के अनिवार्य मानकों के अनुपालन के महत्‍व को रेखांकित करने के लिए किया जाता है तथा गंभीर चर्चा हेतु राष्ट्रीय महत्व की समसामयिक थीम का चयन किया जाता है और वर्षभर उस चयनित क्षेत्र में सुधार करने के लिए प्रयास किए जाते हैं।  इस तरह से चयनित थीम अत्यंत महत्व पूर्ण होता है। यह सांख्यिकी और आर्थिक निदेशालय और कार्यक्रम कार्यान्वयन एवं सांख्यिकी मंत्रालय का केंद्र बिंदु क्षेत्र बना होता है। प्राचार्य रविन्द्र कुमार मनचन्दा ने बताया कि पी सी महालनोबिस बंगाली साइंटिस्ट और अप्लाइड स्टैटिस्टीशन थे जिनका जन्म 29 जून 1893 को हुआ था। उन्हें पॉप्युलेशन स्टडीज की सांख्यिकी माप महालनोबिस डिस्टेंस देने के लिए जाना जाता है। साथ ही वह स्वतंत्र भारत के पहले योजना आयोग के सदस्य भी थे।महालनोबिस ने इंडियन स्टैटिस्टिकल इंस्टिट्यूट की नींव रखी और बड़े पैमाने पर सैंपल सर्वे को तैयार करने में भी योगदान दिया। उनके इस योगदान के चलते उन्हें भारत में मॉडर्न स्टैटिस्टिक्स का पिता माना जाता है। इस अवसर पर भूमिका, निशा, तारा, खुशी, मानसी, ताबिंदा आदि छात्राओं ने प्राध्यापिकाओं  जसनीत, शिवानी, ललिता सहरावत और प्राचार्य रविन्द्र कुमार मनचन्दा के निर्देशानुसार पोस्टर बना कर सांख्यिकी का महत्व बताया।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages