केबलों के मकड़जाल से बिजली कर्मचारी सदमे में लेकिन अधिकारी बेपरवाह: सन्तराम लाम्बा

फरीदाबाद(Abtaknews.com)07जून,2020:हरियाणा स्टेट इलेक्ट्रिसिटी बोर्ड वर्कर यूनियन फरीदाबाद के सर्कल सचिव सन्तराम लाम्बा ने बिजली निगम अधिकारियों पर आरोप लगाते हुए बताया लापरवाही का जीता जागता उदाहरण फरीदाबाद के सेक्टर-13 स्तिथ 66 केवी फोर्ड सब स्टेशन ( बिजली घर ) का है । जिसमे जनता को बिजली की दिक्कत ना हो और इसकी सहूलियत के लिये निगम की ओर से निर्बाध बिजली देने में जहाँ लाखों करोड़ों खर्च किये जाते हैं । वहीं एक छोटी सी लापरवाही किसी बड़े हादसे की जननी का रूप ले सकती है । कुछ ऐसे ही नजारे बिजली निगम के सभी पावर हाउसों पर देखने को मिलेंगे । जहाँ पर जरूर निगम के अधिकारियों का अक्सर आना जाना तो लगा रहता है । लेकिन इस ओर शायद किसी भी अधिकारी का ध्यान आकर्षित या केन्द्रित नही होता । जहाँ खुले में एक्स,एल,पी,ई, की आउटगोइंग केबलें ऐसे दिखाई पड़ती हैं । जैसे एक दूसरे के उपर सर्प अजगर शिकंजा कसे पड़े हों । यदि किसी एक भी केबल में लाइन के फ़ॉल्ट होने से आग लगी तो वह अपने साथ अन्य सभी केबलों को ब्लास्ट कर तबाह कर सकती हैं । जिससे अन्य फीडरों की बिजली का बाधित होना लाज़मी है । लेकिन जब केबलों में ब्लास्टिंग या कोई बक्सा फट जाने के दौरान बड़ी दुर्घटना होती है । या किसी के साथ अनहोना हादसा घटित होता है । तब जाकर आननफानन में अधिकारी वर्ग हरकत में आते हैं । और नुक्सान को भरपाई से अपनी जान छुड़ाने के चक्कर मे निचले स्तर के बिजली कर्मचारी पर अपनी जिम्मेदारी का पल्ला झाड़ कर उसे आरोपी बनाते हैं । जबकि एचएसईबी वर्कर यूनियन के कर्मचारी नेताओं ने इस बारे में कई बार अधिकारियों को आगाह किया है । कि अगर समय से पहले जागृत हो जाएँ और हादसे पर लगाम लगाई जाये तो दुर्घटना ही क्यों हो घटे । लेकिन वही राग कि एक कान से सुनना व दूसरे से अनसुना कर देना । 66 केवी फोर्ड के इस पावर हाउस से लगभग 22 फीडर चलते हैं और ऐसी ही हाईटेंशन की मोटी मोटी केबलें पैनल रूम से कनेक्ट होती हुई एक के ऊपर एक 300 एमएम की 30-40 केबल सर्पों की भाँती तला-ऊपर खुले में पड़ी हैं । जिसमे 11000 से 66000 हजार की सप्लाई का हाई वोल्ट (वोल्टेज करंट) रहता है । यदि अधिकारियों की लापरवाही के चलते बिजली लाइने प्रभावित हुई तो उनमें ग्रेटर फरीदाबाद नहरपार का समस्त बीपीटीपी एरिया, बड़ौली विलेज, इंडियन ऑयल कारपोरेशन फीडर, सेक्टर-12 सचिवालय एरिया, सेक्टर-9, सेक्टर-16 बी और सेक्टर- सी, कन्ट्री वाइड, सेक्टर-15 गीता मन्दिर, सेक्टर-84 व 88 का केएलजे, सेक्टर-86, सेक्टर-85, एसआरएस, सेक्टर-87 ओमेक्स, डीपीएस, सेक्टर-16, सेक्टर-9, सेक्टर-11, सेक्टर-10 ईस्ट डीएलएफ एरिया, सेक्टर-9 वेस्ट, सेक्टर-15 हुड्डा मार्केट व डिस्पोजल आदि काफी एरिये की बिजली बाधित हो जायेगी । बिजली की चालू इन केबल में फ़ॉल्ट आने पर संबंधित इलाकों की सप्लाई भी पूर्णतः ठप्प हो सकती है । समय रहते अगर सचेत नही हुए तो कभी भी एक बड़ा हादसा या दुर्घटना होनी वाजिब है ।

No comments

Powered by Blogger.