Sunday, June 14, 2020

गुरूग्राम से छतीसगढ़ के लिए 100वीं विशेष ट्रेन1360श्रमिकों व 82 बच्चों को लेकर हुई रवाना

चंडीगढ़(Abtaknews.com)14जून,2020:हरियाणा सरकार द्वारा अन्य राज्यों के श्रमिकों को उनके गृह राज्यों में बसों व विशेष श्रमिक ट्रेन्स द्वारा किए गए प्रबंधों की कड़ी में आज गुरूग्राम से बिलासपुरछतीसगढ़ के लिए 100वीं विशेष श्रमिक ट्रेन  1360 श्रमिकों व 82 बच्चों के साथ भेजी गई। अकेले गुरूग्राम से विभिन्न राज्यों को भेजी गई यह 21वीं ट्रेन थी।
एक सरकारी प्रवक्ता ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि प्रशासन  की ई-दिशा वेबसाइट पर प्रवासी नागरिकों द्वारा किए गए पंजीकरण के आधार पर विशेष प्रबंध करते हुए यह ट्रेन भेजी जा रही है। उन्होंने कहा कि जिन प्रवासी नागरिकों ने छत्तीसगढ़ जाने के लिए अपना पंजीकरण करवाया थाउनका आज गुरुग्राम के सेक्टर 38 स्थित ताऊ देवी लाल स्टेडियम में मेडिकल करवाया गया तथा जो लोग स्वस्थ पाए गएउन्हें ही  सर्टिफिकेट देकर  इस ट्रेन में भेजा गया। जाने से पहले स्टेशन परिसर में गृह मंत्रालय की गाइडलाइन्स के अनुसार यात्रियों की थर्मल स्कैनिंग की गई और जिनमें कोरोना संक्रमण के लक्षण नजर नही आएउन्हें रेल में बिठाया गया।
उन्होंने बताया कि इस ट्रेन का पूरा खर्च हरियाणा सरकार द्वारा वहन किया गया और यात्रियों को इस ट्रेन की टिकट बिल्कुल नि:शुल्क दी गई। यात्रियों को सफर के दौरान फूड पैकेट व पानी की बोतलेंबच्चों को चिप्सचॉकलेटखिलौने व अन्य जरूरत का सामान दिया गया। 
विशेष ट्रेन में सवार होते समय श्रमिकों को अपने गांव व घर जाने की जहां एक ओर खुशी साफ झलक रही थीवहीं उनके चेहरों पर गुरूग्राम से जाने का मलाल भी था। काफी समय तक गुरूग्राम में रहकर आजीविका कमाने के कारण उनका इस शहर से लगाव स्वाभाविक है। यात्रियों ने जाते हुए हरियाणा सरकार का नि:शुल्क टिकट उपलब्ध करवाने के लिए धन्यवाद व्यक्त किया। जब विशेष ट्रेन गुरूग्राम रेलवे स्टेशन से चली तो ट्रेन में बैठे सभी प्रवासी नागरिकों ने हाथ हिलाकर तथा तालियां बजाकर राज्य सरकार का विशेष आभार जताया।
--------------------------------------
चंडीगढ़, 14 जून- हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने विश्व रक्तदान दिवस के अवसर पर प्रदेश के लोगों से अपील की है कि वे स्वेच्छा से रक्तदान के लिए आगे आएं क्योंकि रक्तदान एक महादान है और समय पर उपलब्ध कराया गया रक्त किसी की अनमोल जिंदगी बचा सकता है।
एक संदेश में मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकारी प्रयासों के साथ-साथ कुछ गैर सरकारी संगठन व सामाजिक संस्थान समय-समय पर रक्तदान शिविरों का आयोजन कर लोगों को स्वेच्छा से रक्तदान के लिए प्रेरित करते रहते हैं। मानवता के नाते हर किसी को ऐसे नेक कार्य के लिए आगे आना चाहिए। कोरोना काल में स्वेच्छा से रक्तदान का महत्व और बढ़ गया है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि जो व्यक्ति नियमित रूप से रक्तदान करता रहता हैउसे समाज में एक अलग तरह का सम्मान मिलता है तथा वह युवाओं के लिए प्रेरणा स्त्रोत भी बन जाता है।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages