अगले सप्ताह से युवाओं के लिए शुरू होगा नया रोजगार पोर्टल, हर स्तर की नौकरी का मिलेगा अवसर

चंडीगढ़(Abtaknews.com)17मई, 2020:अगले सप्ताह हरियाणा सरकार रोजगार को बढ़ावा देने के लिए नया और आधुनिक रोजगार पोर्टल शुरू करने जा रही है। इस पोर्टल के माध्यम से प्रदेश के युवाओं को ज्यादा से ज्यादा रोजगार मुहैया करवाया जाएगा। रोजगार पोर्टल के शुरू होने से प्रदेश में आने वाली औद्योगिक कंपनियों को भी इसका लाभ मिलेगा क्योंकि उन्हें प्रशिक्षित और अनुभवी युवा काम करने के लिए मिलेंगे। यह जानकारी प्रदेश के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने दी। वे शनिवार को चंडीगढ़ स्थित हरियाणा निवास में श्रम एवं रोजगारउद्योग एवं वाणिज्यकौशल विकास एवं औद्योगिक प्रशिक्षण मंत्रालयों के अधिकारियों की एक संयुक्त बैठक की अध्यक्षता करने के बाद पत्रकारों से रूबरू थे। उन्होंने बताया कि बैठक में सभी ने हरियाणा में रोजगार को बढ़ावा देने और श्रमिकों की स्थिति की समीक्षा की।
डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने कहा कि आंकड़ों के अनुसार प्रदेश में करीब 30 लाख लोग रोजगार की ओर वापस लौट रहे हैं। उन्होंने कहा कि रोजगार को बढ़ावा देने के लिए अगले सप्ताह तक शुरू होने वाले पोर्टल के लिए सरकार ने रोजगार विभाग की जिम्मेदारी लगाई है। दुष्यंत चौटाला ने बताया कि सरकार प्रदेश में आने वाली औद्योगिक कंपनियों को इस पोर्टल के जरिये श्रमिकों व रोजगार के लिए आवेदन करने वाले लोगों की जानकारी उपलब्ध करवाएगी। उन्होंने बताया कि अगर किसी उद्योग को विशेष स्किल से जुड़े हुए युवा की आवश्यकता होगी तो उसकी जानकारी रोजगार पोर्टल पर अपलोड होगी जिसके हिसाब से युवा खास उसी पद के लिए आवेदन कर सकेंगे।
उन्होंने कहा कि कोरोना की वजह से हरियाणा से सुरक्षा के क्षेत्र में काम करने वाले लोगों यानी सिक्योरिटी गार्ड्स आदि का पलायन हुआ है, उनके लिए इस रोजगार पोर्टल के माध्यम से रोजगार उपलब्ध करवाने का बड़ा अवसर बनेगा। उन्होंने कहा कि पुलिस और आर्मी में जाने के लिए बहुत सारे युवा आवेदन कर चुके है, इनके लिए केंद्र और राज्य में जब तक सरकारी नौकरियां नहीं निकलती है तब तक इन्हें इस पोर्टल के माध्यम से निजी क्षेत्र में रोजगार दिया जा सकता है। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि इस पोर्टल के जरिये स्थानीय युवाओं को ज्यादा से ज्यादा रोजगार मिलेगा और सरकार का प्रदेश के युवाओं को 75 फीसदी नौकरियां देने का लक्ष्य भी कामयाब होगा। 
उपमुख्यमंत्री ने कहा कि इनके अलावा बैठक में आज कोरोना महामारी के बाद हरियाणा में वापस उद्योग स्थापित करने बारे, प्रदेश में वैश्विक निवेश को बढ़ावा और वर्ष 2020 के लिए बनने वाली एंटरप्राइजेज प्रमोशन पॉलिसी के विषयों पर विस्तार पूर्वक चर्चा हुई। उन्होंने कहा कि एंटरप्राइजेज प्रमोशन पॉलिसी-2020 को मजबूत बनाने के लिए चर्चा की गई कि इस पॉलिसी द्वारा कैसे देशभर के तमाम उद्योगिक संस्थानों के साथ मिलकर काम किया जाए। उन्होंने कहा कि गांवों को उद्योगों से जोड़ने के लिए भी सरकार रोड मैप तैयार कर रही है, जिस पर आज चर्चा हुई। उन्होंने बताया कि आज प्रदेशभर में लगभग पौने दो सौ से ज्यादा ऐसी ग्राम पंचायतें है, जहां 500 एकड़ से ज्यादा तक की जमीनें खेती में इस्तेमाल नहीं हो रही है। उन्होंने कहा कि इन जमीनों पर उद्योग स्थापित करके ग्रामीण क्षेत्र में रोजगार को बढ़ावा दिया जा सकता है। दुष्यंत चौटाला ने भरोसा दिलाया कि हरियाणा सरकार आगामी दिनों में ज्यादा से ज्यादा रोजगार के अवसर प्रदान करने के लिए उद्योगों का विकास करेगी। उन्होंने कहा कि हरियाणा 'ईज ऑफ डूइंग बिजनेस' में देश भर में तीसरे स्थान पर है। उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास है कि ऐसी इंड्रस्टियल पॉलिसी हो जिससे उद्योगिक क्षेत्र में हरियाणा 'ईज ऑफ डूइंग बिजनेस' में प्रथम स्थान पर हो। उन्होंने कहा कि सरकार प्रयास करेगी कि कंपनियों का हेडक्वार्टर हरियाणा में ही हो ताकि रोजगार के लिए हमारे लोगों को ज्यादा से ज्यादा प्राथमिकता मिल सके।
लॉकडाउन पर बोलते हुए उपमुख्यमंत्री ने उम्मीद जताई कि लॉकडाउन-4 के लिए केंद्र सरकार द्वारा जारी होने वाली गाइडलाइन में ज्यादा से ज्यादा हालात सामान्य करने की दिशा में कदम उठाए जाने चाहिए। उन्होंने सुझाव दिया कि अब इजाज़त मिलनी चाहिए कि रेडऑरेंज और ग्रीन जोन को राज्य सरकार अपनी तरह से चिन्हित कर सकें। उन्होंने प्रदेशवासियों को विश्वास दिलाया कि सरकार जल्द हालात सामान्य करने की दिशा में निरंतर कदम उठाएगी।

No comments

Powered by Blogger.