सेफ्टी-डे तो ठीक पर कर्मचारियों को सुरक्षा का समान भी समय पर दें अधिकारी: सन्तराम लाम्बा

फरीदाबाद(Abtaknews.com)13 मई, 2020:आँधी तूफान और राष्ट्रीय महामारी के आपातकाल में भी आज बिजलीकर्मी बॉर्डर पर खड़े उस सैनिक की भाँती ड्यूटी दे रहा है । जिसमे दुश्मन की गोली कब और किस तरफ से आ जाये कोई पता नही लगता ठीक इसी तरह लाइनमैन कर्मी जब फाल्टी लाइन पर बिजली के फाल्ट को ठीक करने के लिये पोल पर चढ़ता है तो किस लाइन में कब करंट आ जाये कुछ पता नही लगता । उक्त वक्तव्य एचएसईबी वर्कर यूनियन फरीदाबाद के सर्कल सचिव सन्तराम लाम्बा ने जारी बयान में कहे । उन्होंने बताया कि प्रदेश में मानसून लगभग डेढ़ महीने यानी जून माह के अंत में आने को है । जबकि एचएसईबी वर्कर यूनियन ने कर्मचारियों के एजेंडे पर पिछले साल फरवरी 2019 में अधिकारियों के समक्ष यह माँग प्रमुखता से बरसाती रेन कोट, जूते व अन्य सामान की रखी थी । जिसपर उस समय तत्कालीन रहे फरीदाबाद के पूर्व अधीक्षक अभियन्ता प्रदीप कुमार चौहान ने कर्मचारियों की इस जायज माँग को गम्भीर माना और जिसके लिये बेहतर कम्पनी का बरसाती रेनकोट, शूज आदि खरीदने के लिये सर्कल लेबल पर अपनी तरफ से एक कमेटी गठित करी थी । जिसमे तीन एसडीओ देविन्दर अत्रि, सत्तार खान, केसी धीमन व बिजली कर्मचारी यूनियन के दो नेताओं में सर्कल सैक्रेटरी सन्तराम लाम्बा और सतपाल नरवत को इस कमेटी का मेम्बर बनाया ताकि बेहतर सूझबूझ से यह कमेटी इस काम को अन्जाम दे और फील्ड सर्वे होने के बाद सभी ने हस्ताक्षर कर अपनी ओर से खरीदने हेतू सहमति भी जाहिर कर दी थी । लेकिन समय बीतता गया पर अजीब विडम्बना है कि डेढ़ साल होने को आया परन्तु किसी एक भी सहायक लाइनमैन, लाइनमैन व फोरमैन व अन्य बिजली कर्मचारी को अभी तक ना तो बरसाती रेनकोट मिला है और ना शूज व अन्य सामान मिले हैं । दोबारा से आने वाले मानसूनी समय मे आखिर कैसे बिजलीकर्मी बरसात के मौसम में काम करेंगे । चूंकि बरसात में पानी से कर्मचारी के भीगने से लाइन पर काम करने के दौरान टेक्निकल कर्मी को अर्थ या करंट लगने से जान का खतरा साफ मौसम के मुकाबले कई गुना ज्यादा रिस्की हो जाता है । जिससे उसकी जान को जोखिम मानसून के दौरान हर पल रहता है । लेकिन बिजली निगम के अधिकारी इस विषय को अत्यन्त जरूरी जान समय रहते अभी से इस ओर कोई ध्यान नही दे रहे । लेकिन जब बिजली निगम की ओर से सेफ्टी डे मनाने की बात होती है । तब अधिकारी वर्ग अपने मन की बात से कर्मचारियों को सुरक्षा के कायदे कानून की बात तो करते हैं और सावधानी बरतने को लेकर जागरूक भी करते हैं । तो फिर इनके लिये सभी सुरक्षा के दावित्व को निभाने और उन पर खरा उतरने से पीछे क्यों रह जाते हैं । इससे दिन-ब-दिन कर्मचारियों में बढ़ते रोष के चलते उन्होंने एचएसईबी वर्कर यूनियन के कर्मचारी नेताओं से कहना शुरू कर बिजली बिजली निगम से इस मानसून के आने से पहले दिलवाने की अपील की है । इस ज्वलनशील मुद्दे पर यूनियन कर्मचारी हित को ध्यान में रखते हुए निगम अधिकारियों से आग्रह करती है । कि इस ओर प्रमुखता से ध्यान दिया देंवें और इस समस्या के समाधान को जल्द से जल्द पूरा करें । ताकि बिजली कर्मचारी को समय रहते जान हानि होने से व किसी भी अपातीय दुर्घटना से बचाया जा सके ।

No comments

Powered by Blogger.