गोल्ड फील्ड मेडिकल कालेज को टेकओवर करने से ग्रामीणों को मिलेगी गुणवत्तापरक स्वास्थ्य सेवाएं : मूलचन्द शर्मा

फरीदाबाद(abtaknews.com)01मई, 2020 : हरियाणा के परिवहन तथा औद्योगिक प्रषिक्षण एवं कौषल विकास मंत्री मूलचन्द शर्मा ने कहा कि राज्य सरकार जल्द ही फरीदाबाद में एक मेडिकल कालेज शुरू करने जा रही है, जिससे फरीदाबाद और इसके आस-पास के लोगों को पर्याप्त, सुविधाजनक और गुणवत्तापरक स्वास्थ्य सेवाएं मिल सकेंगी।  परिवहन मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल की अध्यक्षता में 30 अप्रैल, 2020 को हुई राज्य मंत्रिमण्डल की बैठक में जिला फरीदाबाद की बल्लभगढ़ तहसील के गांव छांयसा में गोल्ड  फील्ड  शिक्षा संस्था, फरीदाबाद द्वारा संचालित गोल्ड फील्ड इंस्टीच्यूट ऑफ मेडिकल सांइसेज एंड रिसर्च को ई-नीलामी प्रक्रिया के माध्यम से खरीदने और व्यापक जनहित में सरकारी मेडिकल कॉलेज चलाने की घटनोत्तर स्वीकृति प्रदान की गई। 
कैबिनेट मंत्री मूलचंद शर्मा ने कहा कि प्रदेष के हर नागरिक को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया करवाना राज्य सरकार की सबसे बड़ी प्राथमिकता है और इस मकसद से सरकार ने हर जिले में एक मेडिकल काॅलेज खोलने का लक्ष्य रखा है। उन्होंने कहा कि इस समय फरीदाबाद में ईएसआई मेडिकल काॅलेज के अलावा, हरियाणा सरकार का बादशाह खान अस्पताल और बल्लबगढ़ की एम्स की शाखा लोगों को स्वाथ्य सेवाएं देने का कार्य कर रहे हैं। गोल्ड फील्ड मेडिकल कालेज के शुरू होने से पृथला विधान सभा के लोगों के साथ-साथ मंझावली पुल निर्माण हो जाने के बाद इस मेडिकल कालेज का लाभ उत्तर प्रदेश तक के लोग ले सकेंगे। यह मेडिकल कालेज अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस रहेगा।
उल्लेखनीय है कि राज्य सरकार द्वारा गोल्ड फील्ड मेडिकल कालेज के ढांचे का अधिग्रहण करने की सम्भावनाएं तलाशने के लिए मुख्य सचिव की अध्यक्षता में एक कमेटी का गठन किया गया था। सरकार ने 126.04 करोड़ रुपये के मूल्यांकन के आधार पर 126 से 128 करोड़ रुपये के बीच ई-नीलामी में हिस्सा लेने का निर्णय लिया और चिकित्सा शिक्षा एवं अनुसंधान विभाग के निदेशक की अगुवाई वाली कमेटी को इसके लिए अधिकृत किया गया। इस कमेटी द्वारा 13 मार्च, 2020 को 128 करोड़ रुपये के मूल्यांकन आधार पर गोल्ड फील्ड इंस्टीच्यूट ऑफ मेडिकल सांइसेज एंड रिसर्च को खरीदा गया था।

No comments

Powered by Blogger.