स्वास्थ्य आप के हाथ है, डाक्टर नहीं अपनी दिनचर्या बदलें: दिवाकर मिश्रा, महासचिव,जनसेवा वाहिनी


नई दिल्ली(Abtaknews.com)31मई,2020:समय ही अच्छा अध्यापक होता है ,सत्य साबित हो गया ..जिंदगी मे सब कुछ चाहिए ,सुख सुविधा ,स्कूल ,कालेज ,हॉस्पिटल ,डाक्टर ,धन ..दौलत, लेकिन इन सब से ऊपर है स्वास्थ्य और स्वास्थ्य के लिए आप को खुद डाक्टर बनना होगा और उसके लिए आप को डिग्री की जरुरत नहीं है .हमें अपनी दिनचर्या मे बदलाव लाना होगा .शुद्ध पानी ,शुद्ध भोजन ,शुद्ध हवा ...ए किसी कम्पनी मे नहीं बनती ,इसे प्रकृति ने हमें दिया है ,बस हम प्रकृति से कितना नजदीक है यह सोचने की बात है .हैजा ,चेचक ,प्लेग ,टीबी ,एड्स सारी बीमारियों आई ,आज कोरोना भी आया ,लेकिन सब ने हमें यही सिखाया कि हमारी सावधानी ही हमें स्वस्थ रख सकती है .तम्बाकू एक ऐसा जहर है जो मनुष्य को मौत की तरफ ही नहीं ले जाता बल्कि पर्यावरण को भी भारी नुकसान पहुंचाता है ,तम्बाकू का हर रूप नुकसान पहुंचाता है ,कैंसर का मुख्य कारण तो है ही आज कोरोना काल मे यह कोरोना कोZ एक दूसरे तक पहुंचाने का काम भी करता है ,तम्बाकू खाना और फिर थूकना बिलकुल बंद होना चाहिए ज़ब तक सब कुछ बंद था सड़के साफ थी ,हवा शुद्ध था ,नदिया साफ हो गई ,इसका सीधा सा मतलब है सब कुछ हम ही करते है ,समय की मांग है ,हमें निरोग रहना है तो प्रकृति के नजदीक रहना होगा खाने पीने मे सावधानी रखनी होंगी . तम्बाकू जैसी जहरीली
 चीजों का त्याग करना होगा ,साफ सफाई का ध्यान देना होगा खुद जागरूक बने और दुसरो को भी जागरूक करें
.......दिवाकर मिश्रा (महासचिव ,जनसेवा वाहिनी )

No comments

Powered by Blogger.