गांव मर्रोली कंटेनमेंट, पालडी व शोलाका गांव बफर जोन घोषित: नरेश नरवाल


पलवल( Abtaknews.com)04 मई, 2020: जिलाधीश एवं उपायुक्त नरेश नरवाल ने जिला के गांव मर्रोली को कंटेनमेंट जोन तथा साथ लगते पालडी व शोलाका गांव को बफर जोन घोषित कर दिया है। एक दिन पहले फरीदाबाद जिले में गांव मर्रोली निवासी युवक में आए कोरोना संक्रमण के मामले को लेकर उपायुक्त ने यह आदेश जारी किए है।
उपायुक्त ने कोरोना वायरस से जिलावासियों के बचाव के लिए आदेश जारी करते हुए निर्देश दिए कि कारना गांव में आशा व एएनएम वर्कर की तीन टीम घर-घर जाकर लोगों की स्क्रीनिंग व थर्मल स्कैनिंग करेंगी तथा आंगनवाड़ी सुपरवाइजर व संबंधित एरिया की सीडीपीओ को सुपरविजन के लिए नियुक्त किया गया। विकास एवं पंचायत विभाग की ओर से कंटेनमेंट व बफर जोन को सेनेटाइज करने व स्वच्छता से जुड़े आवश्यक कार्य किए जाएंगे। इस क्षेत्र में लोगों की आवाजाही प्रतिबंधित रहेगी तथा सोशल डिस्टेंस का पालन किया जाएगा।
उन्होंने बताया कि सिविल सर्जन की ओर से मोबाइल यूनिट के माध्यम से गांव के बीमार व्यक्तियों की स्वास्थ्य जांच कराई जाएगी। वहीं कंटेनमेंट प्लान के अनुसार संबंधित विभाग अपने-अपने कार्यों का गंभीरता से निर्वहन करेंगे। उन्होंने कहा कि एसडीएम होडल को इस क्षेत्र का ओवरआल मजिस्ट्रेट नियुक्त किया गया है। इस क्षेत्र में सभी अधिकारी व कर्मचारी गंभीरता से ड्यूटी का निर्वहन करेंगे। अगर कोई भी कार्य में लापरवाही बरतता है या फिर जारी आदेशों का उल्लंघन करेगा तो उसके खिलाफ आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 की धारा 56 के तहत कार्रवाई की जाएगी।
-------------------------------------------------
सिविल सर्जन डा. ब्रह्मदीप सिंह ने हरी झंडी दिखाकर किया एम्बुलेंस को मरीजों के लिए रवाना
पलवल,  05 मई। पलवल जिला में स्वास्थ्य सेवाओं को सोमवार को बडी मजबूती मिली। भारत सरकार की नवरत्न कम्पनी पावर ग्रिड ने एएलएस (एडवांस्ड लाइफ सपोर्ट सिस्टम) एम्बुलेंस विद वेंटिलेटर स्वास्थ्य विभाग को प्रदान की। जिला में स्वास्थ्य विभाग के पास अब एएलएस सुविधा युक्त एम्बुलेंस भी उपलब्ध है।
सिविल सर्जन डॉ. ब्रह्मदीप ने सोमवार को अपने कार्यालय में पावर ग्रीड कम्पनी की ओर से दान की गई नवीन एएलएस (एडवांस्ड लाइफ सपोर्ट सिस्टम) एम्बुलेंस विद वेंटिलेटर को झंडी दिखाकर रवाना किया। उन्होंने बताया कि उन्हें काफी समय से पलवल के सरकारी अस्पताल में वेंटिलेटर वाली एम्बुलेंस की कमी महसूस हो रही थी और बहुत अरसे से इस कार्य के लिए प्रयासरत भी थे तथा अब ये सीएसआर की तरफ से वेंटिलेटर सहित एएलएस एम्बुलेंस जनता को समर्पित की जा रही है। उन्होंने बताया कि अगर सीरियस मरीज को वेंटिलेटर समय पर उपलब्ध हो जाए तो समय रहते उसकी जान बचाई जा सकती है।
सिविल सर्जन डॉ. ब्रह्मदीप ने बताया कि इसके लिए तकनीशियन और स्टाफ को ट्रेनिंग दी जाएगी। उनका अगला प्रयास पलवल अस्पताल में आईसीयू स्थापित करवाना है। यह एम्बुलेंस कोरोना के मरीजो के लिए भी उतनी ही लाभदायक है जितनी की सामान्य मरीजो के लिए। क्रिटिकल मरीज के लिए यह एम्बुलेंस अत्यधिक सहायक सिद्ध हो सकती है।

No comments

Powered by Blogger.