जमातियों को ले जा रही बस को नेशनल हाईवे स्थित झाड़सेंतली गांव के ग्रामीणों ने पकड़ा


बल्लभगढ़(Abtaknews.com)13मई,2020: सारे नियमों को ताक पर रखकर जमातीयों को ले जा रही बस को नेशनल हाईवे स्थित झाड़सेंतली गांव के ग्रामीणों ने पकड़ लिया और पुलिस के हवाले कर दिया। ग्रामीणों ने बताया कि बस पर नंबर भी फर्जी था और  जमातीयों को ले जाने के लिए उनके पास प्रशासन द्वारा बनाए जाने वाला अधिकृत पास भी नहीं था। फिलहाल ग्रामीणों ने पुलिस को लिखित शिकायत दे दी है लेकिन पुलिस ने अभी न तो कोई कार्रवाई की है और ना ही मीडिया के सामने कुछ भी बोलने को तैयार है।
फरीदाबाद में नेशनल हाईवे स्थित सेक्टर 58 थाने के अंतर्गत गांव झाड़सेंतली के ग्रामीणों ने जमातियों से भरी एक बस को पकड़कर पुलिस के हवाले किया है। गांव में रहने वाले दुर्गेश कुमार ने बताया कि एक बस दिल्ली की तरफ से आ रही थी जिसमें ड्राइवर और कंडक्टर सहित 13 लोग सवार थे जिनमें 11 जमाती हैं। यह बस इतनी स्पीड पर थी कि गम के घरों के बाहर लगे मीटरों को तोड़ती चली गई। ग्रामीणों ने इस बस को पीछा करके पकड़ लिया और पुलिस को इसकी जानकारी दी। पुलिस ने जमीन के कागज जांचे तो इस बस पर जमातीयों को ले जाने की परमिशन भी एक दिन पहले ही खत्म हो गई थी और गाड़ी का नंबर भी फर्जी था। उन्होंने बताया कि हरियाणा के नूह जिले में यह बस जा रही थी। नूहू से इस बस को कुछ और जमाती लेने थे तथा इन सारे जमातियों को महाराष्ट्र में उड़ना महाराष्ट्र में छोड़ना था। दुर्गेश की माने तो ग्रामीणों ने इस मामले में पुलिस को शिकायत दे दी है।
वीओ- वही बस चालक ने बताया कि उसने दिल्ली से 11 जमातियों को बस में सवार किया था और बाकी जमातीयों को नूह से बिठाना था। चालक ने बताया कि सभी को बस में महाराष्ट्र ले जाया जाना था। उसने बताया कि लोगों का रास्ता उसे नहीं पता था इसलिए कोई उसे बता रहा था कि ऐसे रास्तों से जाना है। चालक ने यह भी बताया कि यह सारे जमाती नेगेटिव आए हैं और इनके सारी जांच हो चुकी है।
थाना प्रभारी विनोद कुमार ने अबतक न्यूज पोर्टल टीम को बताया कि तकनीकी गलती के कारण बस का नंबर कागजों में गलत और डेट गलत डल गई थी। यह सिर्फ तकनीकी गलती के कारण ही हुआ है और उन्होंने दिल्ली में मजिस्ट्रेट से पता किया तो यह बिल्कुल सही पाए गए। सारा मामला सही पाए जाने के बाद पुलिस ने बस को आगे के लिए रवाना कर दिया। किसी तरह की कोई शक की गुंजाइश बाकी नहीं रहने के बाद भी उन्हें रवाना किया गया।

No comments

Powered by Blogger.