पलवल जिला में 9.58 लाख क्विंटल गेहूं व 2703 मीट्रिक टन सरसों की हुई खरीद: नरेश नरवाल

पलवल(abtaknews.com)01मई, 2020 :  राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के बावजूद पलवल जिला में किसानों के गेहूं की खरीद करने के व्यापक प्रबंध के चलते गेंहू खरीद प्रक्रिया के आरंभ होने के चार दिन में ही मंडियों में सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखकर अब तक लगभग 09 लाख 58 हजार 359 क्विंटल अधिक गेहूं खरीदा जा चुका है। वहीं हथीन व पलवल अनाज मंडी में सरसों के लिए बनाए गए विशेष खरीद केंद्रों पर 2703 मीट्रिक टन सरसों खरीदी जा चुकी है।

उपायुक्त ने जिला में अब तक हुई खरीद की सिलसिलेवार जानकारी देते हुए बताया कि पलवल जिला में गेहूं की न्यूनतम समर्थन मूल्य पर सरकारी खरीद 20 अप्रैल को आरंभ हुई थी। जिला की मुख्य मंडियों व अतिरिक्त खरीद केंद्रों पर पहले दिन 16506 क्विंटल, दूसरे दिन 58911 क्विंटल, 22 अप्रैल को तीसरे दिन 71018 क्विंटल, 23 अप्रैल को एक लाख आठ हजार 740 क्विंटल, 24 अप्रैल को एक लाख 78 हजार 890 क्विंटल, 25 अप्रैल को 84 हजार 250 क्विंटल, 26 अप्रैल को 17 हजार 990 क्विंटल, 27 अप्रैल को एक लाख 68 हजार 870 क्विंटल, 28 अप्रैल को एक लाख 14 हजार 671 क्विंटल, 29 अप्रैल को 8495 क्विंटल तथा 30 अप्रैल को एक लाख 30 हजार 18 क्विंटल गेहूं की खरीद हुई।
उन्होंने बताया कि जिला की मुख्य अनाज मंडियों के साथ ही अतिरिक्त खरीद केंद्रों पर गेहूं व सरसों की खरीद सुचारू ढंग से जारी है। वहीं हथीन में अब तक 1826 मीट्रिक टन व पलवल में 877 मीट्रिक टन  की खरीद की जा चुकी है। मंडियों में खरीद के साथ-साथ उठान का कार्य भी लगातार जारी है। पलवल व हथीन मंडी से अब तक 2190 मीट्रिक टन सरसों का उठान हो चुका है। मंडियों में सोशल डिस्टेंस की पालना को लेकर अभी सीमित संख्या में किसानों को बुलाया जा रहा है लेकिन जिला के किसान निश्चिंत रहें उनकी फसलों का एक-एक दाना खरीदा जाएगा।
उन्होंने कहा कि 1925 रुपये प्रति क्विंटल की दर से गेहूं की कीमत मंडियों से गेहूं की उठान होने के साथ ही किसानों के खातों में जमा करा दी जाएगी। इन खरीद केन्द्रों में व्यवस्था बनी रहे, हर खरीद केन्द्र को सेनिटाईजेशन के अलावा हर किसान व कर्मचारी के लिए मास्क का प्रबंध किया गया है व हैंड सेनिटाइजर और थर्मल स्कैनिंग के भी प्रबंध किए गए हैं।  इस बार मेरी फसल-मेरा ब्यौरा पोर्टल पर पंजीकृत किसानों की उपज खरीदी जा रही है। सरकार ने किसानों की सुविधा के लिए पोर्टल पर पंजीकरण की प्रक्रिया को पुन: आरंभ कर दिया है। जिला में गेहूं व सरसों की सरकारी खरीद प्रक्रिया को सुचारू बनाए रखने के लिए 107 सरकारी स्कूलों में मेरी फसल-मेरा ब्यौरा पोर्टल पर नि:शुल्क पंजीकरण किया जा रहा है।
---------------------------------------------------------------
सब्जी विक्रेताओं की जांच का कार्य शुरू, नगर परिषद ने मंडियों को किया सेनेटाइज
पलवल, 01 मई। पलवलवासियों के लिए अच्छी खबर है, कोविड-19 संक्रमण को रोकने में मिली सफलता के चलते अब हमारा जिला रेड से बाहर होकर ओरेंज जोन में आ गया है। भारत सरकार की ओर से हाल में जारी सूची में पलवल को ओरेंज जोन में दर्शाया गया है। हालांकि बीती 19 अप्रैल से जिला में भी एक भी संक्रमण का नया केस नहीं आया लेकिन आस-पास के जिलों में बढ़ते मामलों को लेकर अभी ओर सतर्कता बरतने की आवश्यकता है। जिसके चलते जिला में किसी प्रकार की ढील नहीं दी जा रही।
हरियाणा की विभिन्न सब्जी मंडियों में कोविड-19 संक्रमण के केस आने के उपरांत जिला प्रशासन पलवल ने भी मंडियों में एहतियात के तौर पर सुरक्षा उपायों में बढ़ोतरी कर दी है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जहां एक ओर सब्जी विक्रेताओं की जांच की जा रही है वहीं नगर परिषद पलवल ने भी शुक्रवार को पलवल शहर की सब्जी मंडी को सेनेटाइज किया गया। पलवल जिला में कोरोना वारियर्स को सम्मान देने के लिए रोटरी क्लब पलवल संस्कार की ओर से आगरा चौक पर पेंटिंग बनाकर जनजागरुकता का अनूठा प्रयास भी किया गया है।
नगर परिषद के कार्यकारी अधिकारी हरदीप सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि नगर परिषद के कर्मचारियों द्वारा पलवल शहर को दो बार पूर्णतया सेनेटाइज किया जा चुका है। वहीं पार्क, सार्वजनिक शौचालय, बैंक, सरकारी कार्यालयों व अन्य सार्वजनिक स्थलों को दो से तीन दिन के अंतराल पर सेनेटाइज किया जा रहा है। इस कार्य में फायर ब्रिगेड के वाहनों का भी इस्तेमाल किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि नगर परिषद के स्वच्छता कॢमयों ने भी कोरोना से लडऩे में लॉकडाउन के दौरान बहुमूल्य योगदान दिया है।
पलवल के अतिरिक्त होडल व हथीन के शहरी क्षेत्रों को भी दो बार सेनेटाइज का कार्य किया जा चुका है। इसके साथ शैल्टर होम, एवं क्वारंटीन किए गए क्षेत्रों में सेनीटाईजेशन का कार्य तेजी से किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि सेनेटाइजेशन टीमों द्वारा नगर परिषद क्षेत्र होडल के सभी 21 वार्ड और नगर परिषद क्षेत्र पलवल के सभी 31 वार्ड को सैनेटाइज किया गया है। इसी प्रकार पलवल में 02 तथा होडल व हथीन में एक-एक अग्रीशमन वाहन एवं पलवल में 6 और होडल में दो अथवा हथीन में एक ट्रेक्टर सैनेटाइजेशन के कार्य में लगाए गए है। हथीन नगर पालिका के सचिव देवेंद्र ने बताया कि हथीन क्षेत्र हथीन के सभी 13 वार्ड में भी सैनेटाइजेशन का कार्य किया गया है।
हरदीप सिंह ने बताया कि खुले स्पेस में ब्लीचिंग पाउडर व भवनों के भीतर सोडियम हाइपोक्लोराइड का छिडक़ाव किया जा रहा है। सेनेटाइजेशन वर्क में प्रतिदिन 20 से 22 कर्मचारी लगातार काम कर रहे हैं। वहीं जेई दिगंबर सिंह ने बताया कि पलवल नगर परिषद क्षेत्र में सेनेटाइज कार्य की नियमित रिपोर्टिंग की जा रही है। साथ ही करीब 350 स्वच्छता कॢमयों ने भी सफाई व्यवस्था को संभाला हुआ है। इसके अतिरिक्त नगर परिषद की ओर से मुनादी का कार्य भी निरंतर कराया जा रहा है। वहीं सभी स्वच्छता कर्मियों की नियमित स्वास्थ्य जांच के साथ-साथ हैंड सेनेटाइजर, गलव्स, मास्क व साबुन आदि उपयोगी सामग्री उपलब्ध करवाई जा रही है।
----------------------------------------------------------
पलवल, 01 मई। जिला  एवं  सत्र न्यायाधीश तथा जिला विधिक सेवा प्राधिकरण पलवल के चेयरमैन चंद्रशेखर और जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव एवं सीजेएम पीयूष शर्मा के आदेशानुसार व हिंदुस्तान स्काउट्स एंड गाइड्स के सहयोग से राष्ट्रीय आपदा कोविड-19 के चलते लाइनपुरा, भवन कुंड, सेक्टर-2, सैयदवाड़ा, वार्ड नं-28 पलवल में घर-घर जाकर सर्वे करने के बाद जरूरतमंद लोगों के परिवारों  तक मुफ्त में राशन वितरण करवाया जा रहा हैं।  
जिला विधिक सेवाएं प्राधिकरण की ओर से पैनल अधिवक्ता देवेन्द्र वत्स व हिंदुस्तान स्काउट्स एंड गाइड्स की तरफ से जिला सचिव रिसाल सिंह, प्रमुख डॉ. राजकुमार, डॉ. रूपलाल, डॉ. सुरेंदर, कैलाश, रमेश लोगो के घर-घर जाकर सर्वे कर जरूरतमंद लोगों को मुफ्त राशन वितरण कर रहे हैं ताकि किसी भी जरुरतमंद परिवार को इस राष्ट्रीय आपदा के समय भुखा न सोना पड़े। राशन वितरण करते समय पैनल अधिवक्ता देवेंद्र कुमार वत्स ने लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने, हाथों को प्रोपर तरीके से सैनेटाइज करने तथा हरियाणा सरकार द्वारा लोगों के लिए जारी की गई मूलभूत सुविधाओं के बारे में भी अवगत कराया। इसके अतिरिक्त उन्होंने जिला विधिक सेवा प्राधिकरण पलवल द्वारा चलाई जा रही मुहिम एवं दिए जाने वाली सेवाओं के बारे में भी बताया।
---------------------------------------------------------------
पलवल, 01 मई।जिलाधीश एवं उपायुक्त नरेश नरवाल ने पलवल जिला में पडोसी राज्यों दिल्ली, उत्तर प्रदेश व राजस्थान तथा राज्य के अन्य जिलों से आने वाले लोगों के लिए जिला प्रशासन को सूचित करना व नागरिक अस्पताल में स्वास्थ्य जांच कराना अनिवार्य कर दिया है।  नगराधीश श्री जितेंद्र कुमार ने जानकारी देते हुए बताया कि यदि कोई नागरिक पड़ोसी राज्य जैसे उत्तर प्रदेश, राजस्थान, दिल्ली या देश के अन्य किसी राज्य तथा हरियाणा के किसी अन्य जिले से जिला पलवल में प्रवेश करता है तो इसकी सूचना तुरंत संबंधित एसडीएम के कार्यालय में देवे तथा अपना चिकित्सा परीक्षण स्वास्थ्य विभाग से करवाकर उसका प्रमाण-पत्र उपायुक्त कार्यालय में प्रस्तुत करें।
उन्होंने बताया कि यदि किसी व्यक्ति द्वारा जिला में पडोसी राज्य जैसे दिल्ली, उत्तर प्रदेश, राजस्थान व देश के अन्य राज्य अथवा हरियाणा के किसी अन्य जिला से पलवल में प्रवेश किया जाता है और उसकी सूचना गुप्त रखी जाती है तो उसके विरुद्ध आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 के तहत कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।
साथ ही उन सभी नागरिकों से भी यह अपील की जाती है कि जिन्हें अभी तक जिला पलवल से बाहर जाने के लिए जिला प्रशासन द्वारा आवश्यक व विशेष परिस्थितियों के मद्देनजर मूवमेंट पास जारी किए जा चुके हैं और वे वापस पलवल आ गए हैं। उन्हें पास जारी करने के दौरान यह हिदायत दी गई थी कि वे वापस आने पर अपना चिकित्सा परीक्षण करवाकर फिटनेस प्रमाण-पत्र उपायुक्त कार्यालय में जमा करवाएं। जिन्होंने यह प्रमाण-पत्र अभी तक जमा नहीं करवाया है वे भी तुरंत अपना फिटनेस प्रमाण-पत्र उपायुक्त कार्यालय में जमा करवाएं अन्यथा उनके विरूद्ध भी आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 के तहत कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।
0

No comments

Powered by Blogger.