स्वास्थ्य विभाग की ओर से 8 अप्रैल से कंटेनमेंट जोन में घर-घर सर्वे का कार्य किया जा रहा

फरीदाबाद(Abtaknews.com)7 मई, 2020:उप सिविल सर्जन डा. गीता पालिया ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग की ओर से गत 8 अप्रैल से कंटेनमेंट जोन में सर्वे का कार्य किया जा रहा है, जिसके तहत घर-घर जाकर आईएलआई के मरीेजों की पहचान की जा रही है। उन्होंने बताया कि अब तक कंटेनमेंट जोन में 743 आईएलआई के मरीजों की पहचान की गई। इन सभी मरीजों की बाद में चिकित्सा जांच भी की गई, जिसके आधार पर 379 मरीजों के कोविड-19 के टेस्ट करवाकर सैंपल लिए गए, जिनमें से 360 मरीजों की रिपार्ट नेगेटिव आई है तथा 6 मरीज पाजीटिव पाए गए तथा 5 मरीजों की रिपार्ट आनी शेष है। उन्होंने बताया कि कंटेनमेंट में सर्वे के कार्य में 407 टीमें लगी हुई हैं। इन टीमों में स्वास्थ्य विभाग की एएनएम, बहुउद्देशीय स्वास्थ्य कार्यकर्ता, आशा वर्कर्स व महिला एवं बाल विकास विभाग की आंगनवाड़ी कार्यकर्ता शामिल हैं। इस कार्य में कई एनजीओ भी सहयोग कर रही हैं। उन्होंने बताया कि ये टीमें प्रत्येक घर में जाकर उनके परिवार के सदस्यों में जुखाम, बुखार व खांसी के सिम्टम के बारे में जानकारी प्राप्त कर रही हैं।
----------------------------------------------------------------------------------
फरीदाबाद, 7 मई। उप सिविल सर्जन एवं जिला नोडल अधिकारी-कोरोना डा. रामभगत ने बताया कि जिला में अब तक 5600 यात्रियों को सर्विलांस पर लिया जा चुका है, जिनमें से 1518 लोगों का निगरानी में रखने का 28 दिन का पीरियड पूरा हो चुका है। शेष 4080 लोग अंडर सर्विलांस हैं। कुल सर्विलांस में रखे गए लोगों में से 5516 होम आइसोलेशन पर हैं। अब तक 4559 लोगों के सैंपल लैब में भेजे गए थे, जिनमें से 4300 की नेगेटिव रिपोर्ट मिली है तथा 175 की रिपोर्ट आनी शेष है। अब तक 85 लोगों के सैंपल पॉजिटिव मिले हैं, जिनमें से 33 लोगों को अस्पताल में दाखिल किया गया है तथा ठीक होने के बाद 48 को अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया है।  दो  पॉजिटिव मरीजों को घर पर आइसोलेटेड किया गया है। इसमें दो मरीजो की मौत भी हो गई है।
उन्होंने बताया कि सभी मेडिकल और पैरा मेडिकल स्टाफ को कोविड-19 की रोकथाम और प्रबंधन के लिए प्रशिक्षित किया गया है। इसी प्रकार पर्यावरण स्वच्छता और शुद्धीकरण के बारे में सरकारी व निजी विभागों के कर्मचारियों को दैनिक आधार पर प्रशिक्षण दिया जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस के संभावित संक्रमण की पृष्ठभूमि को देखते हुए आम जनता को सरकार द्वारा स्वास्थ्य संबंधी हिदायतों की अनुपालना करने की सलाह दी जाती है। लोगो को ध्यान रखना चाहिए कि खाँसी व छींकते समय रूमाल या तौलिया का उपयोग अवश्य करें, हाथों को बार-बार साबुन व पानी से धोते रहें। जब तक बहुत जरूरी न हो, घर से बाहर न निकलें। सार्वजनिक स्थलों व सभाओं में जाने से बचें। जिन लोगों ने हाल ही में कोरोना प्रभावित देशों की यात्रा की है, उन्हें राष्ट्रीय, राज्य या जिला हेल्पलाइन नंबरों पर सूचना देनी चाहिए, उन्हें भारत में आगमन की तारीख से 28 दिनों के लिए सभी से अलग रहना है और किसी से भी स्पर्श करने से बचना है, भले ही उसमें कोई लक्षण न हों।

No comments

Powered by Blogger.