रेडक्रास सोसायटी की स्थापना के 100 वर्ष पूर्ण होने पर वालिंटयर्स एवं कोरोना वॉरियर्स को किया सम्मानित

फरीदाबाद(abtaknews.com)8 मई, 2020 : देश में रेडक्रास सोसायटी की स्थापना के 100 वर्ष पूर्ण होने पर आज रेडक्राॅस ने अपने वालिंटयर्स व कोरोना महामारी के दौर में अपनी सेवाएं दे रहे विभिन्न कोरोना योद्धाओं को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया।उक्त जानकारी देते हुए भारतीय रेडक्राॅस सोसायटी की हरियाणा राज्य शाखा की वाइस चेयरपर्सन सुषमा गुप्ता ने बताया कि रेडक्राॅस के संस्थापक सर जीन हैनरी ड्यूना का जन्म 8 मई, 1882 को जिनेवा में हुआ था। उनके जन्म दिवस के उपलक्ष्य में प्रतिवर्ष 8 मई को विश्व रेडक्राॅस दिवस मनाया जाता है। 26 अक्टूबर 1863 में रेडक्राॅस की स्थापना हुई थी, जिसका मुख्य उद्देश्य रेडक्राॅस के स्वयंसेवकों के माध्यम से असहाय एवं पीड़ित मानवता की सहायता करना तय हुआ था। उन्होंने आगे बताया कि भारतीय रेडक्राॅस सोसायटी की स्थापना पार्लियामेंट एक्ट-1920 के अंतर्गत अनुच्छेद-15 के तहत हुई थी। इसी कड़ी में वर्ष 2020 में भारतीय रेडक्रास के 100 वर्ष

पूर्ण होने पर पूरा भारत 100वीं शताब्दी के रूप में मना रहा है। इस वर्ष भारतीय रेडक्राॅस सोसायटी ने विश्व रेडक्राॅस मनाने के लिए ‘कीप क्लेपिंग फाॅर वालंटियर्स’ थीम दिया है।जिला रेडक्राॅस सोसायटी के सचिव विकास कुमार ने कहा कि जैसा कि वर्तमान समय में पूरा विश्व कोरोना वायरस महामारी से जूझ रहा है, जिसके चलते कोरोना के संक्रमण से बचाव हेतु पूरे भारत वर्ष में लाॅकडाउन लागू है। वर्तमान वर्ष में कोविड-19 के दौरान जिला रेडक्राॅस सोसायटी ने जिला प्रशासन तथा हरियाणा राज्य शाखा, चंडीगढ़ के मार्गदर्शन में जिले की सामाजिक संस्थाओं, स्वयंसेवकों के सहयोग से असहाय एवं पीड़ित मानवता की सहायता हेतु सूखा राशन, पका हुआ भोजन, संक्रमण से बचाव हेतु माॅस्क, सेनिटाइजर, ग्लव्ज आदि वितरित किए हैं।
जिला रेडक्राॅस सोसायटी के सहायक पुरुषोत्तम सैनी ने कहा कि विभिन्न सामाजिक संस्थाओं के सदस्यों तथा स्वयंसेवकों ने अपने आपको असहाय, जरूरतमंद समाज को समर्पित भाव से सेवा देने हेतु अपने आपको रेडक्राॅस के साथ खड़े होकर एक मिशाल कायम की है। उनके इस जुनून को देखते हुए रेडक्राॅस द्वारा आज अपने वालिंटर्स, पुलिसकर्मियों तथा विभिन्न कोरोना योद्धाओं को सम्मानित किया गया।


No comments

Powered by Blogger.