Sunday, April 26, 2020

बिजली वारियर्स के जानबूझकर चालान काट रही है हरियाणा पुलिस, कर्मचारियों में जबरदस्त आक्रोश, गुस्साए तो सभी को होगी मुश्किल

फरीदाबाद(abtaknews.com)26अप्रैल,2020:हरियाणा कर्मचारी महासंघ से सम्बंधित एचएसईबी वर्कर्स यूनियन के सर्कल सचिव सन्तराम लाम्बा ने पुलिस प्रशासन पर आरोप लगाते हुए कहा कि समूचे देश मे पिछले 24 मार्च 2020 से कोरोना कोविड-19 की महामारी के चलते सम्पूर्ण लॉकडाउन की परिस्तिथि जारी है । और इस विडंबनिय स्तिथि को काबू करने में सभी सरकारी विभागों के कर्मचारी अपने अपने स्तर पर प्रयासरत हैं । जिन्हें कोरोना वारियर्स भी कहा जा रहा है । प्रदेश का नागरिक जन इस भयंकर महामारी से बचाव के लिये अपने घरों में कैद होकर सरकार के आदेशों की पालना कर रहा है । वहीं सार्वजनिक क्षेत्र में किसी तरह की आमजन को परेशानी का सामना ना करना पड़े इसके लिये बिजली सुचारू रूप से निर्बाध चले बिजली विभाग के यह कोरोना वारियर्स अपनी दिनरात की मेहनत से पूरी शिद्दत के साथ इस लॉकडाउन को सफल बनाने में अपना पूर्ण योगदान दे रहे हैं । लेकिन बिजली की निर्बाध सेवाओं को सुचारू जारी रखने में बिजली का कर्मचारी दूर दराज के गाँव व इलाकों तथा पड़ोसी जिलों से अपनी ड्यूटी का निर्वहन करते हैं । परन्तु सड़कों पर मुस्तैद बेरिकेट कर पुलिस कर्मियों द्वारा बिजली कर्मचारियों को इस कोरोना महामारी लॉकडाउन में रोकथाम की पालना करने के नाम पर इन्हें प्रताड़ित करने कोई कोर कसर नही छोड़ रही है । छोटी छोटी बातों पर बिजली कर्मचारियों को बारीकी से चैकिंग के नाम पर परेशान करने में पुलिस कर्मियों ने 24 मार्च से लेकर अभी तक कई बिजली कर्मियों से पुलिस का आमना सामना हुआ और जिसमे खुद बिजली कर्मचारियों ने यह बताया कि वह बिजली विभाग का कर्मचारी है और उसे समय पर ड्यूटी पहुंचना है । लेकिन बिजली कर्मियों पर तरह तरह की नुक्सबाजी का बहाना निकाल कर धड़ल्ले से जबरन लॉकडाउन की आड़ में चालान काटे जा रहे हैं । सर्कल सचिव ने कहा कि माना पुलिस प्रशासन हमारी ही तरह अपनी जिम्मेदारी से ड्यूटी का कर्तव्य निभा रहे हैं । आखिर बिजली कर्मचारी भी तो सरकार के आदेशों की पालना के विपरीत दिनरात एक कर ड्यूटी देकर निर्बाध बिजली सप्लाई को चला रहे हैं । यदि इनके साथ ऐसा दुर्व्यवहार किया जा रहा है । 

तो इसे कतई बर्दाश्त नही किया जायेगा । जिसमे बिजली कर्मचारी लोकी सहायक लाइनमैन का मोहना से अमरपुर मोड़ पर 06 अप्रैल 2020 को 500 रुपये का चालान काटा जबकि उसने फरीदाबाद प्रशासन से जारी ड्यूटी पत्र भी दिखाया व जयपाल सहायक लाइनमैन जो होडल के गाँव हथीन से ड्यूटी करने फरीदाबाद आ रहा था जिसका गदपुरी चौक पर 25 मार्च 2020 को 11000 रुपये का और योगेश कुमार सहायक लाइनमैन का सेक्टर-37 नजदीक शमशान घाट के पास 24 अप्रैल 2020 को 21000 रुपये का चालान तो काटा जब कर्मचारी योगेश ने अपने विभाग के सीनियर अधिकारी से बात करानी चाही तो पुलिस कर्मियों ने उस कर्मचारी के फोन को झटकते हुए बात नही की और इसका मोबाइल जब्त कर लिया । जिसे 25 अप्रैल 2020 की सुबह वापिस कर दिया और साथ ही उसकी बाइक भी जबरन इम्पाउंड कर पुलिस कर्मियों ने अपनी तानाशाही का भरपूर परिचय बखूबी के साथ दिया । पुलिस प्रशासन के ऐसे दमनात्मक रविये से बिजली कर्मचारियों में भारी रोष है । जिससे ऐसे माहौल में जब इन्हें कोरोना वारियर्स का दर्जा आमजन दे रहा है । जो पुलिस की ऐसी कार्यशैली पर अंकुश लगाने का काम करेगा । ऐसे तानाशाह रविये के खिलाफ कड़े शब्दों में एचएसईबी वर्कर्स यूनियन भत्सर आलोचना करता है । यदि लॉकडाउन की आड़ में इसी तरह अडियलता का रास्ता अख्तियार कर भविष्य में बिजली कर्मचारीयों के चालान काटने व उन्हें विवशतः प्रताड़ित किया जाता रहेगा तो समस्त बिजली कर्मचारी सहित हरियाणा स्टेट इलेक्ट्रिसिटी बोर्ड वर्कर्स यूनियन इसके विरुद्ध अपनी आवाज बुलन्द कर पुलिस प्रशासन के खिलाफ मौर्चा खोलने में पीछे नही हटेगा और इस महामारी से लॉकडाउन की परिस्तिथि में जिससे उत्पन्न किसी भी तरह की अशान्ति फैलती है तो इसकी नैतिक जिम्मेदारी लोकल प्रशासन व प्रशासनिक अधिकारियों की होगी। पुलिस प्रशासन के तानाशाह रविये से खफा बिजली कर्मचारी: सन्तराम लाम्बा सर्कल सचिव एचएसईबी वर्कर्स यूनियन फरीदाबाद सर्कल ।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages