बेघरों व प्रवासी लोगों के लिए रिलीफ सेंटर में लोगों के लिए मुफ्त भोजन एवं दवाइयों का प्रबंध: संजय जून, मंडलायुक्त

फरीदाबाद,(Abtaknews.com)1अप्रैल।मंडल आयुक्त संजय जून ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान सभी जरूरतमंद व गरीब लोगों को खाना व अन्य जरूरी सामान उपलब्ध करवाया जा रहा है। लोगों की सुविधा के लिए राशन व दवाइयां की दुकानों की सूची सार्वजनिक की गई है। बेघरों व प्रवासी लोगों के लिए रिलीफ सेंटर बनाए गए हैं। लोगों की मदद के लिए हैल्पलाइन नंबर-0129-2221000 जारी किया गया हैजिस पर 24 घंटे कॉल करने की सुविधा है। जरूरतमंद व्यक्ति द्वारा फोन करने पर उसे तुरंत प्रशासनिक मदद पहुंचाई जाती है। 
मंडल आयुक्त ने बताया कि सेक्टर-15 स्थित सिंहसभा गुरूद्वारे में सेंट्रल किचन बनाया गया हैजिसमें औद्यागिक संगठनों की ओर से सहयोग किया जा रहा है। यहां पर प्रतिदिन करीब 25 हजार खाने के पैकेट तैयार किए जाएंगे। इन तैयार पैकेट्स में से 12 हजार पैकेट्स सुबह और 12 हजार पैकेट्स सायं के समय हर रोज सभी 40 वार्डों में भेजे जाएंगे और वहां पर वार्ड अधिकारीसंबंधित वार्ड के पार्षद व वांलिटियर की मदद से जरूरतमंद व्यक्तियों तक खाना पहुंचाएंगे। इसके अलावा गैर सरकारी संस्थाएं व सामाजिक संगठन आदि के द्वारा 6 हजार 150 फ़ूड पैकेट्स प्रतिदिन जिला प्रशासन के अधिकारियों की मदद से अलग से स्लम बस्तियों व गरीब लोगों को वितरित किये जा रहे हैं। अब तक कुल मिलाकर विभिन्न एनजीओ की तरफ से करीब 67 हजार 300 फूड पैकेट्स तथा प्रशासन द्वारा 5 हजार फ़ूड पैकेट्स जरूरतमंद लोगो को वितरित किये गये हैं। इसके अलावा 5 हजार 575 परिवारों को साप्ताहिक राशन वितरित किया गया है तथा 2 हजार 400 परिवार को सब्जियों के पैकेट्स बांटे गये हैं। इसी प्रकार 6 हजार लोगों को मास्क वितरित किये गयें हैं।
मंडल आयुक्त ने बताया कि प्रवासी लोगों के लिए शहर में 21 रिलीफ सेंटर बनाए गए हैं। इन रिलीफ सेंटरों में बेघर लोगों व प्रवासी श्रमिकों को रखा गया हैजिनके पास रहने की सुविधा नहीं थी। इन रिलीफ सेंटरों में प्रवासी लोगों को खाना व चाय दी जाती है तथा यहां पर डाक्टरों की टीम व काउंसलर भी विजिट करते रहते हैं। इन रिलीफ सेंटरों में प्रतिदिन सेनेटाइज व फोगिंग की  जाती है तथा यहां पर साफ-सफाई भी प्रतिदिन की जाती है।
उन्होंने बताया कि नगर निगमपुलिस व जिला प्रशासन की टीमें व रैडक्रास सोसायटी के वालिंटियर लगातार लोगों से लाॅकडाउन के नियमों की पालना करने व सोशल डिस्टेंसिंग अपनाने की अपील कर रहे हैं। लोगों को बताया जा रहा है कि घर पर ही रहना इस महामारी का सर्वोतम इलाज है।
उन्होंने बताया कि सरकार के आदेश हैं कि आगामी एक माह तक कोई भी मकान मालिक अपने किरायेदारों से किराये की मांग नहीं करेेगा। अगर कोई व्यक्ति इन आदेशों की अनदेखी करेगा तो उसके खिलाफ कड़ी कानूनी कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।
उन्होंने बताया कि शहर में राशन व दवाइयों की दुकानों की सूचियां सार्वजनिक कर दी गई हैंजिनमें दुकानों के पते व फोन नंबर दिये गये हैं। अतः शहरवासी दुकानों से होम डिलीवरी से सामान व दवाइयां मंगवाएं और अपने घरों से बाहर न निकलें।
जिला कंट्रोल रूम के हेल्पलाइन नंबर पर प्रतिदिन करीब 2 हजार 500 काॅल आ रहे हैं। इस हेल्पलाइन नंबर के साथ 10 टेलिफोन की लाइन कनैक्ट हैंजो सीधे अन्य नंबरों पर ट्रांसफर हो जाती है। किसी भी जरूरतमंद व्यक्ति की काॅल आने पर उसे तुरंत मदद पहुंचाई जाती है। नगर निगम की ओर से शहरी क्षेत्र तथा विकास एवं पंचायत विभाग की ओर से ग्रामीण क्षेत्रों में सेनेटाइज करने का कार्य प्रतिदिन किया जा रहा है।

No comments

Powered by Blogger.