पलवल में सार्वजनिक तौर पर कार्यक्रम और त्यौहारों के आयोजन पर लगाया प्रतिबंध

पलवल(Abtaknews.com)07 अप्रैल।कोविड-19 वैश्विक महामारी के चलते सरकार की ओर से नागरिकों द्वारा त्यौहारों को सोशल दूरी बनाए रखते हुए अपने-अपने घर पर रहकर मनाने के लिए कहा है। लॉकडाउन की अवधि के दौरान त्यौहारों पर सार्वजनिक तौर पर किसी प्रकार से जलसा, जुलूस व धार्मिक आयोजन नहीं होंगे।
उपायुक्त नरेश नरवाल ने बताया कि कोविड-19 के चलते 14 अप्रैल तक लॉक डाउन है। ऐसे में नागरिकों से घर से बाहर नहीं निकलने की अपील की गई है। उन्होंने बताया कि लॉकडाउन के दौरान सार्वजनिक तौर पर धार्मिक या अन्य पर्व का आयोजन नहीं किया जा सकता ताकि भीड़ एकत्रित न हो। ऐसे में सरकार द्वारा लॉकडाउन की अवधि के दौरान अपने-अपने घर पर त्यौहार मनाने का निर्णय लिया गया है। उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि 8 अप्रैल को हनुमान जयंती, 10 अप्रैल को गुड फ्राइडे, 12 अप्रैल को गुरू तेग बहादुर जयंती, 13 अप्रैल को बैशाखी का पर्व और 14 अप्रैल को बाबा साहेब डॉ. भीमराव अंबेडकर जयंती है।
उपायुक्त ने जिलावासियों से आह्वन किया कि वे इन त्यौहारों को अपनी आस्था के अनुरूप सार्वजनिक स्थान की बजाय अपने घर पर रहकर मनाएं लेकिन इस दौरान भी सोशल दूरी बनाएं रखें ताकि कोरोना संक्रमण को रोका जा सके। उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार के आदेशानुसार इस अवधि के दौरान किसी प्रकार का जलसा, जुलूस, प्रदर्शन या धार्मिक आयोजन नहीं किया जा सकता।

No comments

Powered by Blogger.