Friday, April 17, 2020

नीमका जेल में कैदी और घरों में आंगनवाडी वर्कर बना रही हैं फेस मास्क

फरीदाबाद(ABTAKNEWS.COM)17अप्रैल,2020: कोरोना वायरस से बचाव के लिए जिला कारगार की ओर से भी अहम कदम उठाए गए हैं। अब जेल में बंद कैदियों ने कोरोना योद्धाओं के लिए मास्क तैयार करना आरंभ कर दिया है। इस वायरस से शरीर को सुरक्षित रखने का बेहतर इंतजाम एक तो सामाजिक दूरी है, दूसरा बाहर जाने की स्थिति में फेस मास्क का प्रयोग करना है।
जिला जेल के अधीक्षक संजीव कुमार ने बताया कि जब कोरोना वायरस के संभावित संक्रमण को रोकने के लिए हर तरफ मास्क की डिमांड बढ़ने लगी तो उन्होंने बंदियों से मास्क तैयार करने को कहा गया। इस पर बंदी तुरंत तैयार हुए और मास्क बनाने का काम शुरू कर दिया। इस समय जिला जेल फरीदाबाद में 8 पुरूष व आठ महिला बंदी प्रतिदिन मास्क बनाने का कार्य कर रहे हैं। उन्होंने अब तक कड़ी मेहनत से करीब 15 हजार से अधिक डिस्पोजल फेस मास्क व एक हजार 500 से अधिक कपड़े के मास्क तैयार किए हैं। उन्होंने बताया कि तैयार फेस मास्क को स्वास्थ्य विभाग को उपलब्ध करवाया गया व कई अन्य स्थानों पर वितरित किया गया है। अब तक करीब 5 हजार फेस मास्क सिविल सर्जन फरीदाबाद को तथा 3 हजार 900 फेस मास्क सिविल अस्पताल बल्लबगढ़ को उनकी मांग के अनुसार प्रदान किए गए हैं। इसी प्रकार करीब 200 फेस मास्क जिला जेल पलवल तथा 100 फेस मास्क बाल सुधार गृह फरीदाबार के स्टाफ व बंदियों के लिए भेजे गए हैं। इसी प्रकार नीमका जेल के बंदियों व जेल स्टाफ के कर्मचारियों को भी मास्क वितरित किए गए हैं। उन्होंने बताया कि जिला कारागार में बंदियों द्वारा निरंतर मास्क तैयार किए जा रहे हैं, ताकि कोरोना वायरस के संक्रमण को रोका जा सके।
----------------------------------------------------------------------------------
फरीदाबाद,17 अप्रैल।कोरोना वायरस के खिलाफ चल रही लड़ाई में सहयोग करने के उद्देश्य से आंगनवाड़ी कार्यकर्ता भी आगे आई हैं। आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं ने अपने घरों में मास्क बनाने का कार्य शुरू कर दिया है और वे इन मास्क को अपने आस-पड़ोस में बांट भी रही हैं। मास्क बांटते समय यह कार्यकर्ता लोगों से सामाजिक दूरी बनाए रखने और अपने घरों में ही रहने के लिए प्रेरित कर रही है। सभी कार्यकर्ता उपायुक्त यशपाल के मार्गदर्शन में जिला प्रशासन व सरकार की हिदायतों अनुसार अपने आसपास के क्षेत्रों में सामाजिक दूरी की अनुपालना भी सुनिश्चित करवा रही हैं। महिला एवं बाल विकास विभाग की जिला कार्यक्रम अधिकारी शांति जून ने बताया कि जिला में सभी सीडीपीओ अपने क्षेत्र में सुपरवाइजर व अन्य स्टाफ की मदद से सभी टीमों की स्वयं निगरानी कर रही हैं। उन्होंने बताया कि जिला में कोविड-19 से बचाव के लिए जब मास्क की जरूरत महसूस होने लगी तो एक आंगनवाड़ी कार्यकर्ता ने स्वयं मास्क बनाने का कार्य शुरू किया। सबसे पहले उन्होंने घर-परिवार के सभी सदस्यों के लिए मास्क तैयार किए तथा फिर अपने आसपास के क्षेत्र में बांटना आरंभ किया। उस आंगनवाड़ी कार्यकर्ता से प्रेरित होकर अन्य कार्यकर्ताओं ने भी मास्क तैयार करने आरंभ कर दिए तथा धीरे-धीरे लगभग सभी कार्यकर्ता अपने घरों में मास्क बनाने का कार्य कर रही हैं। उन्होंने बताया कि यह आंगनवाड़ी कार्यकर्ता घर-घर जाकर जरूरतमंद लोगों व परिवारों में मास्क बांटने का कार्य भी कर रही हैं। उन्होंने बताया कि कार्यकर्ताओं की इस पहल की स्थानीय स्तर पर भी काफी प्रशंसा हो रही है।
बल्लबगढ़ उपमंडल के शहरी व फरीदाबाद ग्रामीण ब्लाक की सीडीपीओ अनिता शर्मा ने बताया कि उनके ब्लाक में आंगनवाड़ी कार्यकर्ता देवेंद्री देवी, दर्शना देवी, पुष्पा, हेमलता, मुकेश, मीना भाट्टी, मीनू, ममता शर्मा द्वारा मास्क तैयार करके जरूरतमंद व्यक्तियों को वितरित करने का काम बेहतर तरीके से कर रही हैं। बल्लभगढ़ के ग्रामीण ब्लाक की सीडीपीओ मंजू वर्मा ने बताया कि उनके ब्लाक में आंगनवाड़ी कार्यकर्ता सविता, सरोज, उमेश देवी, सुमन, संतोष देवी, कुसुम, शालिनी, पूनम, राजबाला, विमलेश व रजनी स्वयं मास्क तैयार कर जरूरतमंद व्यक्तियों को बांट रही है। फरीदाबाद शहरी ब्लाक की सीडीपीओ मीरा देवी ने बताया कि उनके ब्लाक में आंगनवाड़ी कार्यकर्ता सुनीता दहिया, इन्दिरा देवी, लोकेश, कुसुम, कविता, ममता व सुनीता स्वयं मास्क तैयार कर जरूरतमंद लोगों मे बांट रही हैं। इसी प्रकार एनआईटी-एक व एनआईटी-दो की सीडीपीओ अनिता गाबा ने बताया कि उनके एरिया में पांच कार्यकर्ता शंकुतला, रेखा, सीमा, निर्मला व कांता द्वारा मास्क तैयार किए जा रहे हैं तथा जरूरतमंद गरीब परिवारों को वितरित किए जा रहे हैं।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages