थ्री-एस मंत्र युवाओं को देते हुए कहा कि स्टे एट होम, सोशल डिस्टेंसिंग और सैनीटाइज योर सेल्फ

चण्डीगढ़(Abtaknews.com)4 अप्रैल- हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने युवाओं का आहवान करते हुए कहा कि आजकल कोरोना को लेकर समाज के विघटन की भी कई खबरें सोशल मीडिया पर आती हैं तो हमें इस समय पर जातिमजहबक्षेत्रवाद से ऊपर उठकर सब लोगों को एक होकर चलना है और यही संदेश हमें लगातार देना है तथा यही हमारा राष्ट्रीय दायित्व हैं। उन्होंने कहा कि हम लगातार यह कोशिश करते रहेंगे तो हम उचित कदमों को आगे बढा पाएंगे।
        मुख्यमंत्री आज यहां नोवेल कोरोना वायरस (कोविड-19) के चलते किए गए लॉकडाउन के तहत लाईव टेलीविजन पर राज्य के लोगों को संबोधित कर रहे थे।
        उन्होंने युवाओं का आहवान करते हुए कहा कि नोवेल कोरोना वायरस (कोविड-19) को लेकर वर्तमान परिस्थिति के तहत लॉकडाउन के दौरान भगत सिंहसुखदेव और राजगुरू जैसे वीरों की कहानियों को याद करते हुए हमें ऐसा काम करना चाहिए कि लाकडाउन समाप्त होने पर हमें अपने ऊपर गर्व हों।
        उन्होंने कहा कि आजकल हर तरफ से कोरोना की ही खबरें आ रही हैं और हमको कोरोना से डरना नहीं हैंघबराना नहीं है और अपना साहस बनाए रखना है तथा समय का उपयोग करते हुए अपनी वास्विकता और यथार्थ को पहचानाना है। उन्होंने कहा कि हमारे पास सही जानकारियों होनी चाहिए और अपने से छोटें व बडों में आपस में सांझा करनी चाहिए और यदि हम सही जानकारियां आपस में सांझा करेंगें तो यह घबराहट समाप्त होगी।
        मुख्यमंत्री ने युवाओं को सुझाव देते हुए कहा कि वे प्रतिदिन एक दैनिक कार्य की सूची बनाकर अपनी दिनभर की गतिविधियों जैसे पढाईध्यानयोगमनोरंजन इत्यादि के लिए समय को निश्चित करें। यदि हम ये सभी काम करेंगे तो हम अपनी सोच को सही दिशा दे पाएंगें। उन्होंने कहा कि ऐसा कहा जाता है कि ‘‘मुश्किल वक्तकमांडो सख्त’’ और युवा एक कमाण्डों की तरह हैं और आज जब यह मुश्किल समय आया है तो हमारी सोच भी कमाण्डों की तरह होनी चाहिए तभी हम इस परिस्थिति का मुकाबला सफलतापूर्वक कर पाएंगें।
        उन्होंने युवाओं का आहवान करते हुए कहा कि लाकडाउन के इन दिनों को छुटियां न मानें बल्कि घर में रहकर एक-एक दिन का प्रयोग पढाई के लिए करें। उन्होंने कहा कि शिक्षा प्राप्त करने की कोई सीमाएं नहीं होती है और यह किसी भी प्रकार और किसी भी समय पर ली जा सकती है और अब सेल्फ लर्निंगलंर्निंग बाय ई-बुक्ससेल्फ स्टडी के साथ-साथ स्कूल और कालेज के अध्यापक अपने लैक्चर व पाठयक्रम रिकार्ड करते हैं और आजकल एलएमएस का साफटवेयर भी आ गया है उसका भी प्रयोग किया जा सकता हैं। 
        उन्होंने युवाओं से बातचीत करते हुए कहा कि युवाओं को प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करनी होती है और हो सकता है कि ऐसी स्थिति में इस प्रकार की प्रतियोगी परीक्षाओं की तिथियों को आगे बढा दिया गया होतो हमें इस समय का उपयोग करना चाहिए। उन्होंने युवाओं को समझाते हुए कहा कि आज जो स्थिति हैं उसमें आपकी लिखित परीक्षा नहीं बल्कि आपकी समझदारी की परीक्षा हो रही हैं और जितना आप समझदार बनेगें उतना आप अपने लक्ष्य को प्राप्त कर सकेंगे।
        मुख्यमंत्री ने युवाओं से अपील करते हुए कहा कि इन दिनों का उपयोग युवा अपनी अच्छी आदतों में लगाकर बुरी आदतों को छोडने में कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि हम इन दिनों घर के विभिन्न कामों जैसे कि पेंटिंगगार्डनिंगरसोई के काम इत्यादि को भी कर सकते हैं और सीख सकते हैैं। इसके अलावाहम साफट स्कीलिंग के तहत अग्रेंजी भाषा बोलने के अलावा जापानीकोरियनजर्मनरूसी इत्यादि भाषाओं को सीख सकते हैं। वहीं दूसरी ओर हम भारत की तमिलतेलूगूपंजाबीमराठी इत्यादि भाषाओं को सीख पाएंगें और इन भाषाओं को सीखने से न केवल अपनी जानकारी की वृद्धि कर पाएंगें बल्कि भविष्य बनाने में भी यह भाषाएं सहयोगी हो सकती हैं।
        उन्होंने युवाओं से कहा कि व्यायाम भी करें और अपने आपकों फिट रखें और इस पर उन्होंने खेल मंत्री संदीप सिंह से बातचीत कीजिसमें ‘‘खेल मंत्री ने खिलाडियों से कहा कि अपनी जो भी कमियां हैंलाकडाउन के दौरान उन कमियों पर काम करके दूर किया जा सकता हैंखेल के अनुसार फिटनेस करें और घर का काम करें और अपने माता-पिता का हाथ बंटा सकते हैंखिलाडी अपने खाने-पीने पर ध्यान रखें और रात को सोने से पहले पांच मिनट का ध्यान लगाकर अपने बारे में मंथन करें और अभ्यास के दौरान आपस में सोशल डिस्टेंसिंग को बनाए रखें’’। मुख्यमंत्री ने ओलंपिक खेलों के एक वर्ष आगे स्थगित होने के मदेनजर कहा कि हमारे हरियाणा के खिलाडियों को अभ्यास के लिए एक साल ओर मिल गया और आने वाले दिनों में हरियाणा के खिलाडी और ज्यादा अभ्यास करके हरियाणा का नाम रोशन कर सकता है।
        मुख्यमंत्री ने आज पंचकूला के विशाल मक्कड से बातचीत की जिसमें ‘‘मक्कड ने बताया कि वे आजकल योग व ध्यान कर रहे हैं और पुराने शौक जैसे कार्टुन इत्यादि बनाने के साथ-साथ माता-पिता की सेवा कर रहे हैं’’। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमें अपने परिवार के लोगों के साथ आपस में बातचीत करते रहना चाहिए  और ऐसे में इतिहास की बातें बुजुर्गों के साथ सांझा की जा सकती हैं। मुख्यमंत्री ने भिवानी की कोमल से बातचीत की जिसमें कोमल ने बताया कि ‘‘कोमल अपनी माता को भी पढाई करवा रही हैं और अंग्रेजी सीखा रही है’’। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस समय पर अपने साथ-साथ अपने परिवार के लोगों को मनोवैज्ञानिक तौर पर स्वस्थ रखना होगा। उन्होंने बहादुरगढ के करण इलाहावादी से बात की और जाना कि ‘‘करण ने अपने भाई व पिता जी के साथ बैठकर देश की सेवा के लिए क्या सकते हैंपर विचार आजकल किया है’’
        उन्होंने युवाओं को सचेत करते हुए कहा कि युवा वायरस को लेकर गलतफहमी में रहते हैं और सोचते हैं कि हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता अच्छी है वायरस हमारा क्या बिगाडेगालेकिन खतरे को न स्वीकार करना अपने आपमें एक नया खतरा होता है।
        मुख्यमंत्री ने कहा कि युवा इस समय का उपयोग रचनात्मक कार्यों में लगाएंइस पर उन्होंने थ्री-एस मंत्र युवाओं को देते हुए कहा कि स्टे एट होमसोशल डिस्टेंसिंग और सैनीटाइज योर सेल्फ। युवाओं को समाज में भी अपना योगदान स्वयंसेवक के रूप में देना हैं। इस कोरोना की लड़ाई के काम में डाक्टरनर्सपैरामैडिक्ससुरक्षा कर्मी और स्वच्छता कर्मी काम कर रहे हैं और घर से बाहर रहकर फील्ड में राष्ट्ररक्षक के रूप में कार्य कर रहे हैं हमें इनके परिवारों की भी चिंता करनी चाहिए।
        उन्होंने अपील करते हुए कहा कि सोशल मीडिया पर हम निर्भर हो गए हैं सोशल मीडिया गलत खबरें भी दे रहा हैं और सही भी दे रहा हैं और सोशल मीडिया की समाज को बांटने वाली खबरों पर हमें विश्वास नहीं रखना है और ऐसी खबरें आती हैं तो लोगों को समझाना भी है ताकि गलत खबरों पर वे विश्वास न रखें। परिस्थितियां समय-समय पर बदलती हैंपरंतु हमें संतुलन बनाकर रखना है।
क्रमांक-2020


चण्डीगढ़, 4 अप्रैल- हरियाणा में किसानों के हितों को देखते हुए राज्य सरकार ने आज गन्ने के बकाया के भुगतान के लिए 169 करोड़ रुपये की राशि जारी कर दी है। यह राशि राज्य की दस चीनी मिलों को जारी की गई है और संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए गए है कि राज्य के गन्ना फसल के किसानों के बकाया का भुगतान किया जाए ताकि वर्तमान में उत्पन्न हुई स्थिति में उन्हें सहयोग मिल सकें।
        इस संबंध में जानकारी देते हुए हरियाणा के सहकारिता मंत्री डॉ० बनवारी लाल ने कहा कि पानीपत की सहकारी चीनी मिल को 15.80 करोड़ रुपयेरोहतक की सहकारी चीनी मिल को 27.30 करोड़ रुपयेकरनाल की सहकारी चीनी मिल को 18.30 करोड़ रुपयेसोनीपत की सहकारी चीनी मिल को 21.10 करोड़ रुपयेशाहाबाद की सहकारी चीनी मिल को 3.70 करोड़ रुपये की राशि जारी की गई है।
        उन्होंने बताया कि इसी प्रकारजींद की सहकारी चीनी मिल को 13.50 करोड रूपएपलवल की सहकारी चीनी मिल को 25.35 करोड रुपयेमहम की सहकारी चीनी मिल को 17.20 करोड रुपयेकैथल की सहकारी चीनी मिल को 19.15 करोड़ रुपये और गोहाना की सहकारी चीनी मिल को 7.60 करोड़ रुपये की राशि जारी की गई है।
        सहकारिता मंत्री ने बताया कि गत 31 मार्च, 2020 को किसानों के हितों को देखते हुए राज्य सरकार ने पानीपतकरनाल और फतेहाबाद जिलों के किसानों की सरप्लस गन्ने की फसल को अन्य चीनी मिलों में भेजने का निर्णय लिया ताकि किसानों को किसी भी प्रकार की दिक्कत न हो। उन्होंने बताया कि पानीपत से गोहाना की सहकारी चीनी मिल को दो लाख क्विंटल गन्ने की फसल भेजी गई है जबकि पानीपत से महम की सहकारी चीनी मिल को तीन लाख क्विंटल गन्ने की फसल भेजी है।
        डॉ० बनवारी लाल ने बताया कि इसी प्रकारपानीपत से भादसों की चीनी मिल को पांच लाख क्विंटल गन्ना भेजा गया है तथा करनाल से नारायणगढ की चीनी मिल को भी पांच लाख क्विंटल गन्ने की सरप्लस पैदावार भिजवाई गई है। उन्होंने बताया कि फतेहाबाद जिला के गांवों से जींद की चीनी मिल को लगभग चार लाख क्विंटल गन्ने की सरप्लस फसल भेजी गई है।
क्रमांक-2020


चण्डीगढ़, 4 अप्रैल- हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री श्री अनिल विज ने कहा कि 1 मार्च से आज तक तबलीगी जमात से प्रदेश में जो भी व्यक्ति आया है उन सभी का टैस्ट किया जाऐगा। जिसके लिए आज आदेश जारी कर दिए गए है। श्री विज आज यहां स्वास्थ्य विभाग के उच्चाधिकारियों के साथ कोविड-19 को लेकर समीक्षा बैठक की।
        श्री विज ने कहा कि प्रदेश का जो भी व्यक्ति जमातियों के सम्पर्क में आया है वह प्रशासन को सूचना करें ताकि उसका टैस्ट करवाया जा सके। उन्होनें ने कहा कि पीपीई किट के लिए अढ़ाई लाख किट का आडर किया हुआ है। जिसमें से कुछ किट आ चुकी है जिनका वितरण प्रदेश के सभी नागरिक हस्पतालों में किया जा चुका है।
        उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस की रोकथाम एवं प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए आयुर्वेदिक उपायों को भी अपनाना चाहिए। जिसमें तुलसीदालचीनीकालीमिर्चशुण्ठी एवं मुनक्का से बनी हर्बल टी/काढ़ा दिन में एक से दो बार पिना चाहिए। इसके साथ ही 150 एम एल गर्म दूध में आधा चम्मच हल्दी चूर्ण दिन में एक से दो बार लेना चाहिए। और ज्यादा से ज्यादा गर्म पानी का सेवन करना चाहिए।
        स्वास्थ्य मंत्री ने आज यहां अधिकारियों के साथ बैठक में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया और प्रदेश की जनता से अवाहन किया कि सभी कोरोना वायरस को मात देने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखें। उन्होनें कहा कि प्रदेश में किसी भी प्रकार की दवाईयों और स्वास्थ्य कर्मियों के लिए आवश्यक चीजों की कमी नही आने दी जाऐगी।
        बैठक में स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री राजीव अरोड़ाचिकित्सा शिक्षा विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री आलोक निगममहानिदेशकस्वास्थ्य सेवाएं श्री सूरजभान कम्बोजआयुष विभाग के महानिदेशक श्री साकेत कुमारखाद्य एवं औषधि प्रशासन के आयुक्त श्री अशोक मीणाराष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के मिशन निदेशक श्री प्रभजोत सिंहनिदेशक श्रीमती ऊषा सहित अधिकारी मौजूद थे।
क्रमांक-2020


चंडीगढ़, 4 अप्रैल- हरियाणा सरकार ने कोरोना वायरस से निपटने के लिए अपने प्रयासों को ओर तेज करते हुए नलहड़ के शहीद हसन खान मेवाती सरकारी मेडिकल कॉलेज को विशेष रूप से कोविड-19 अस्पताल के रूप में घोषत किया है। इस अस्पताल में 600 बैड हैं और यहां सभी प्रकार के चिकित्सा उपकरण की पूर्ण उपलब्धता और आपूर्ति है।
        हरियाणा की मुख्य सचिव श्रीमती केशनी आनन्द अरोड़ा ने यह जानकारी आज यहां वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संकट समन्वय समिति की बैठक की अध्यक्षता करते दी।
        उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि जो मरीज पहले से इस अस्पताल में भर्ती हैंउन्हें स्थानांतरण प्रोटोकॉल का विधिवत पालन करते हुए जारी दिशा निर्देशों के अनुसार तुरंत नजदीकी अस्पतालों में स्थानांतरित कर दिया जाए। इसके अलावाइस अस्पताल में पीपीई किटमास्क आदि सहित पर्याप्त चिकित्सा उपकरणों की उपलब्धता और आपूर्ति सुनिश्चित की जाए।  उन्होंने निर्देश दिए कि प्रदेश के मेडिकल कॉलेजों और अस्पतालों में विशेष रूप से कोविड वार्ड बनाए जाएं।
        मुख्य सचिव ने निर्देश दिए कि मेडिकल कॉलेजों को विशेष रूप से कोविड अस्पतालों में परिवर्तित करने के लिए संभावनाएं तलाशी जाएं और प्रत्येक जिले में निजी लैब की भी पहचान की जाए ताकि सभी आवश्यक व्यवस्थाएं पूरी करने के बाद इन लैबों को कोविड- 19 के सैंपल की जांच के लिए नामित किया जा सके। इसके साथ हीहर अस्पताल और मेडिकल कॉलेज में रैपिड टेस्टिंग किट की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए।
        मुख्य सचिव ने यह भी निर्देश दिए कि सब्जियों के रेट कैप करने के आदेश पहले ही जारी किए जा चुके हैं और सभी उपायुक्त यह सुनिश्चित करें कि दुकानें और रेहड़ी वाले सब्जियों को तय रेट से अधिक न बेचें। उन्होंने कहा कि तय कीमतों को सोशल मीडिया पर व्यापक रूप से प्रसारित किया जाए ताकि लोग को कीमतों के बारे में पता लग सकें। इसके अलावाअधिकारी यह भी सुनिश्चित करें कि कीमतों की सूची दुकानों के बाहर और फेरीवालों की गाडिय़ों पर चिपकाई जाए। मुख्य सचिव ने यह भी निर्देश दिए कि मूंग दाल और सरसों के तेल की दर भी तय की जाए। इसके अलावायह भी सुनिश्चित किया जाए कि राजमार्गों पर स्थित पेट्रोल पंप भी खुले रहें।
        मुख्य सचिव ने निर्देश दिए कि जिन जिलों में जहां-जहां कोरोना के पॉज़िटिव मामले पाए गए हैंउन इलाकों में दूध की आपूर्ति करने वाले दूधवालों की संख्या को कम किया जाए और इसके स्थान पर पैक्ड दूध की आपूर्ति बढ़ाने पर अधिक ध्यान दिया जाए। उन्होंने निर्देश दिए कि किसी भी आवश्यक वस्तु की तय दर से अधिक कीमत न वसूली जाएइस पर कड़ी निगरानी रखी जाए।
        उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि पुरानी धर्मशालाओं में रहने वाले साधुओं की उचित निगरानी की जानी चाहिए और यह सुनिश्चित किया जाना चाहिए कि इन साधुओं की थर्मल स्कैनिंग की जाए और सोशल डिस्टेंसइंग का पालन करवाना सुनिश्चित किया जाए।
        बैठक में वित्त विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री टी.वी.एस.एन. प्रसाद  ने बताया कि बैंकों में अधिक भीड़ न होइसके लिए एक तंत्र बनाया गया हैजिसके तहत लोग दिनों के अनुसार बैंकों में जाएं ताकि बैंकों में आने वाले लाभार्थी सोशल डिस्टेसिंग का पालन करते हुए अपने धन को निकाल सकें।

No comments

Powered by Blogger.