जिला प्रशासन कंट्रोल रूम की हेल्पलाइन नंबर से जरूरतमंद एवं असमर्थ परिवारों तक पहुंचा रहा है हरसंभव मदद


फरीदाबाद,(abtaknews.com)24 अप्रैल, 2020: जिला प्रशासन के कंट्रोल रूम के हेल्पलाइन नंबर जरूरतमंद  लोंगों खासकर खाने की व्यवस्था करने में असमर्थ परिवारों के लिए काफी मददगार साबित हो रहे हैं। ये हेल्पलाइन नंबर 24 घंटे एक्टिव रहते हैं तथा इसमें एक बार में करीब 10 लाइनों पर सीधी कनेक्टिविटी रहती है। हेल्पलाइन पर जब भी खाने की मांग जरूरतमंद व्यक्ति द्वारा की जाती है तो उसे तुरंत मदद पहुंचाई जाती है।मिर्जापुर कालोनी में रहने वाली सुशीला, शिल्पी, अलका व उसके पति प्रेमपाल आदि अनेक परिवारों ने जब जिला प्र्रशासन के कंट्रोल रूम के नंबर 0129-2221000 पर संपर्क किया और खाने की समस्या बताई तो इन परिवारों को तुरंत खाने की मदद पहुंचाई गई। अब इन परिवारों को करीब 18 दिनों से निरंतर भोजन पहुंचाया जा रहा है। इन परिवारों ने जिला प्रशासन की इस पहल को काफी सराहनीय बताया तथा कहा कि ऐसे वक्त जब उनकी दैनिक मजदूरी के काम बंद हो गए है तो उनके सामने दो वक्त के खाने की समस्या पैदा हो गई, तब हेल्पलाइन नंबर से उनके घर पर तुरंत मदद पहुंची।
कंट्रोल रूम के इचंार्ज डा. एमपी सिंह ने बताते हैं कि इस समय प्रतिदिन उनके कंट्रोल रूम के नंबरों पर करब 800 से 1000 काॅल आते हैं, जिनमें से करीब 60 प्रतिशत काॅल सूखे राशन व पके खाने के लिए आती हैं। शुरू में खाने के लिए अधिक काॅल आती थी, जब से सुबह व शाम के समय निरंतर खाना वितरण का कार्य शुरू हुआ है और लगभग सभी जरूरतमंदों को ट्रैक कर लिया गया है, तब से खाने की मांग के काॅल कम हुए हैं।उन्होंने बताया कि हेल्पलाइन नंबर पर फोन के बाद वांलिटियर्स की मदद से जरूरतमंद परिवार को तुरंत खाना पहुंचाया जाता है। कई बार वे स्वयं भी जरूरतमंदों तक खाना पहुंचाकर आते हैं।


---------------------------------------------------------------
सोशल मीडिया के माध्यम से प्राप्त समस्याओं का भी होता है समाधान:

फरीदाबाद, 24 अप्रैल।उपायुक्त यशपाल के मार्गदर्शन में जिला प्रशासन की ओर से प्रत्येक सूचना सोशल मीडिया जैसे फेसबुक व ट्विटर के माध्यम से भी जनता तक पहुंचाई जा रही है। कई बार जरूरतमंद व्यक्ति के संबंध में खाने की जरूतरत आदि की समस्या का पता चलता है तो उन जरूरतमंदों व असहाय लोगों के लिए तुरंत खाने की व्यवस्था करवाई जाती है। सोशल मीडिया के एकाउंट पर भी निरंतर निगरानी रखी जा रही है। सोशल मीडिया का काम देख रहे राहुल दीक्षित ने बताया कि उन्हें जब भी किसी जरूरतमंद के संबंध में सूचना मिलती है तो वे तुरंत संबंधित वार्ड के अधिकारियों या वालिंटियर्स को सूचना भिजवा देते हैं तथा उन्हेें तुरंत खाना या राशन पहुंचाया जाता है। उन्होंने बताया कि वे स्वयं भी करीब 20 से 25 लोगों को खाने के पैकेट्स देकर आते हैं। कई बार वे बुजुर्ग व्यक्तियों को डाक्टर की पर्ची के अनुसार दवाइयां देकर आते हैं। उन्होंने सोशल मीडिया का प्रयोग करने वाले लोगों से अपील की है कि वे आपदा की इस घड़ी में एक जिम्मेदार नागरिक की भूमिका निभाएं। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर भ्रामक व झूठी खबरों को न फैलाएं, बल्कि सोशल मीडिया व टेक्नोलॉजी का सदुपयोग मानव कल्याण के लिए करें।

---------------------------------------------------------------
फरीदाबाद, 24 अप्रैल।हरियाणा पर्यटन विभाग भी कोरोना महामारी के कारण बनी संकट की घड़ी में जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग के लिए खुलकर मदद कर रहा है। टूरिज्म की ओर से करीब सात होटल व हट्स में डाक्टर्स के रहने व खाने की व्यवस्था निशुल्क की गई है।पर्यटन विभाग के मंडलीय प्रबंधक राजेश जून ने बताया कि कोरोना के खिलाफ चल रही लड़ाई में डाक्टर्स की भूमिका काफी बड़ी है। इन कोरोना योद्वाओं के लिए विभाग की ओर हरसंभव मदद देने का प्रयास किया जा रहा है। डाक्टर्स लगातार अपने घरों से दूर हैं। इसलिए टूरिज्म ने उनके लिए रूकने, आराम करने व खाने की व्यवस्था की हुई है। विभाग द्वारा प्रतिदिन इन पर्यटन स्थलों को सेनेटाइज किया जाता है। इसके लिए विभाग द्वारा सेनेटाइज मशीनें भी खरीदी गई हैं, जिन्हें टूरिज्म के कर्मचारी की चलाते हैं तथा प्रतिदिन इन होटलों व हट्स को सेनेटाइज किया जाता है। इसमें दवाई सिविल सर्जन की ओर से उपलब्ध करवाई जाती है। उन्होंने बताया कि इन पर्यटक स्थलों में डॉक्टर्स, नर्सेज और पैरामेडिकल स्टाफ रूकता है। इन सभी हेल्थ वर्कर्स के परिवारों की सुरक्षा की दृष्टि से हरियाणा पर्यटन निगम ने यह कदम उठाया है। ताकि स्वास्थ्य विभाग का स्टाफ कोरोना के खिलाफ लड़ाई मजबूती के साथ लड़ सकें। उन्होंने बताया कि फरीदाबाद में सूरजकुंड पर्यटक स्थल सनबर्ड, डिजाइन गैलरी, हरमीटेज, लेक व्यू व बड़खल लेक, अरावली गोल्फ क्लब व राजा नाहर सिंह में स्वास्थ्य विभाग का स्टाफ निरंतर रूक रहा है। उन्होंने बताया कि उपायुक्त यशपाल व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी भी पर्यटन विभाग की इस पहल को काफी सराहनीय बता रहे हैं। इस दौरान पर्यटन विभाग के अधिकारी व कर्मचारी पूरी तमन्यता से कोरोना के खिलाफ लड़ाई में जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग का सहयोग कर रहा है। उन्होंने कहा कि विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री विजय वर्धन, प्रबंध निदेशक विकास यादव ने भी परिस्थिति अनुसार जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग को सहयोग देने की पहल की।


No comments

Powered by Blogger.