हरियाणा में संक्रमित क्षेत्रों को छोड़कर प्रदेश में हालात सामान्य करने के लिए निरंतर प्रयास जारी: दुष्यंत चौटाला




चंडीगढ़(abtaknews.com) 24अप्रैल।प्रदेश के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा है कि हरियाणा सरकार संक्रमित क्षेत्रों को छोड़कर बाकी प्रदेश में हालात सामान्य करने की दिशा में निरंतर प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि सरकार उद्योगों को वापस सुचारू करनेकिसानों की फसल खरीदकोरोना के रोकथाम के लिए गांव-गांव जाकर चेकअप या अन्य राज्यों में बैठे छात्र समेत अन्य लोगों को वापस अपने घर लाने के लिए बेहतर कदम उठा रही है। उन्होंने कहा कि देश व प्रदेश के लिए आगामी 10 दिन चुनौती भरे है इसलिए प्रत्येक हिंदुस्तानी को लॉकडाउन की पालना करने के साथ जागरूक होकर कोरोना महामारी से जीतने के लिए सरकार का पूरा सहयोग करना होगा। उन्होंने अपील की कि सरकार द्वारा स्थापित की जा रही नई व्यवस्थाओं में जनता पूरा सहयोग करे ताकि कोरोना महामारी से लड़ते हुए प्रदेश में हालात सामान्य किए जा सके।

उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि आज पिछले एक माह से अपने घर से बाहर अन्य राज्यों में रह रहे छात्र समेत अन्य लोग घर आना चाहते है लेकिन कोरोना महामारी के चलते लगे लॉकडाउन के कारण परिवहन सुविधा बहाल करना देश के लिए चुनौती है। उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार ने राजस्थान सरकार के सहयोग से कोटा में बैठे 800 से ज्यादा छात्रों को घर लाने की दिशा में कदम उठाया और इसके लिए वहां हरियाणा रोडवेज की बसें भेजी गई। उन्होंने कहा कि ऐसे ही हैदराबादचैन्नईबेंगलुरु जैसे कई अन्य जगहों पर भी लोग अपने घर से दूर बैठे है। उन्होंने कहा कि सभी राज्य सरकारों को मिलकर इसपर प्लानिंग बनानी चाहिए ताकि जो लोग अपने घर आना चाहते है वे घर पहुंच सके। उन्होंने उम्मीद जताई कि इससे देश के हालात सामान्य होने में जरूर मदद मिलेगी।

दुष्यंत चौटाला ने कहा कि हरियाणा में कोरोना वायरस के लगभग 270 पॉजिटिव मरीजों में से करीब 170 ठीक हो चुके है। उन्होंने कहा कि ये सब मेडिकल टीम व जनता द्वारा लॉकडाउन की पालना करने के कारण संभव हुआ। उन्होंने कहा कि प्रदेश में अब मुख्य रूप से बस पांच जिले कोरोना संक्रमण से ग्रस्त है। उन्होंने कहा कि इसके रोकथाम के लिए प्रदेश सरकार ने प्रदेशभर में डॉक्टरों की टीम बनाकर करीब 450 बसों के जरिए उन्हें चेकअप के लिए गांव-गांव पहुंचाने का काम किया है। उन्होंने खासकर जींद जिले का उदाहरण देते हुए बताया कि पहले रोजाना वहां मात्र 2100 के आसपास लोगों को ही चैक कर पाते थे लेकिन अब बसों के जरिए डॉक्टरों की टीमें गांव-गांव जाकर 3000 हजार के आसपास लोगों को दिन-प्रतिदिन चेकअप कर रही है।
 उपमुख्यमंत्री ने कहा कि हालात वापस कैसे सामान्य किए जाए ये पूरी दुनिया के सामने चुनौती है। उन्होंने उम्मीद जताई कि तीन मई के बाद धीर-धीरे हालात सामान्य होते जाएंगे। उन्होंने कहा कि खासकर सरकार उद्योग जगत पर फोकस करके जल्द रोजगार मुहैया करवाने की दिशा में काम कर रही है। उन्होंने कहा कि औद्योगिक क्षेत्र में हजारों श्रमिक आज काम करने को तैयार बैठे है और सरकार उद्योगों को दोबारा सुचारू करके राजस्व बढ़ाने की कोशिशों में जुटी हुई है। डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने कहा कि इसी तरह सरकार नई व्यवस्थाओं के साथ किसानों की फसल खरीद में लगी हुई है जिसमें किसानों व आढ़तियों का पूरा सहयोग मिल रहा है। उन्होंने कहा कि जहां किसान सरकार द्वारा स्थापित व्यवस्था अनुसार अपनी फसल मंडी में लेकर आ रहे तो वहीं आढ़ती भाई ग्रामीण क्षेत्र में जाकर किसानों की फसल खरीद रहे हैं।

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि हमें हालात सामान्य करने के लिए सरकार द्वारा स्थापित नई व्यवस्थाओं को कामयाब बनाना होगा और इसके लिए जनता के सहयोग की आवश्यकता है। उन्होंने बताया कि राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग ने प्रदेश में तहसीलसब तहसीलों को खोलने का काम किया और यहां रोजाना 80-90 लोग आकर अपनी कागजी कार्रवाइयों को पूरा करवाते है। उन्होंने कहा कि इससे जनता को बड़ी राहत मिली है। उपमुख्यमंत्री ने ऑनलाइन स्टडी को सराहते हुए कहा कि आज छात्र घर बैठे इंटरनेट के जरिए पढ़ाई कर रहे है और इसमें उनके परिजन भी पूरा सहयोग कर रहे है।
 डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने आगे कहा कि देश ने बाढ़भूकंपसूनामी जैसी बहुत सारी बड़ी-बड़ी आपदाएं देखी है और उनका डटकर सामना करते हुए वापस हालात सामान्य किए। उन्होंने कहा इसी तरह सभी भारतीय योद्धा कोरोना महामारी को सरकार का सहयोग करते हुए हराएंगे और देशभर में वापस हालात सामान्य करेंगे।
Attachments area

No comments

Powered by Blogger.