बिल्डिंग फंड, रखरखाव फंड, एडमिशन फीस, कंप्यूटर फीस ना लें सिर्फ टयूशन फीस लें स्कूल प्रबंधक

चंडीगढ़(Abtaknews.com)24अप्रैल,2020: हरियाणा सरकार ने निजी स्कूलों को निर्देश दिए हैं कि फिलहाल वे विद्यार्थियों से केवल ट्यूशन फीस ही लेंबिल्डिंग फंडरखरखाव फंडएडमिशन फीसकंप्यूटर फीस आदि अन्य फंड न लें। अगर सरकार द्वारा जारी हिदायतों का उल्लंघन किया गया तो उस स्कूल के खिलाफ हरियाणा शिक्षा नियमावली 2003 के नियम 158 के अनुसार कार्रवाई की जाएगी।
        हरियाणा स्कूल शिक्षा विभाग के एक प्रवक्ता ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि विभाग ने राज्य के सभी जिला शिक्षा अधिकारियों व जिला मौलिक शिक्षा अधिकारियों को कोविड-19 के दृष्टिगत निजी स्कूलों द्वारा ली जाने वाली फीस से संबंधित दिशा-निर्देश जारी किए हैं। उन्होंने बताया कि लॉकडाऊन के कारण सामान्य जन की आजीविका के स्रोतों पर भी प्रतिकूल असर पड़ा है।
        उन्होंने कहा है कि वर्तमान परिस्थितियों में निजी स्कूल विद्यार्थियों से मासिक आधार पर केवल ट्यूशन फीस ही लेंअन्य सभी प्रकार के फंड जैसे बिल्डिंग फंडरखरखाव फंडएडमिशन फीसकंप्यूटर फीस आदि कोविड-19 की असामान्य स्थिति के दृष्टिगत स्थगित कर दिए जाएं। सरकार ने यह भी निर्देश दिए हैं कि न तो मासिक आधार पर ली जाने वाली ट्यूशन फीस में वृद्धि की जाए और न ही लॉकडाऊन की अवधि का यातायात शुल्क वसूला जाए। स्कूल यूनिफार्मपाठ्य-पुस्तकोंकार्य-पुस्तकोंअभ्यास-पुस्तकों, प्रैक्टिकल फाईल में भी परिवर्तन न किया जाए। यही नहींकोई भी निजी स्कूल मासिक फीस में कोई हिडन-चार्ज नही जोड़ेगा।
प्रवक्ता के अनुसार फीस न दे पाने के कारण कोई भी निजी स्कूल किसी विद्यार्थी का न तो स्कूल से नाम काटेगा और न ही ऑनलाइन शिक्षा से वंचित करेगा। उन्होंने बताया कि विभाग द्वारा जिला के शिक्षा अधिकारियों को स्पष्टï निर्देश दिए गए हैं कि उक्त सभी हिदायतों का सख्ती से पालन करवाया जाए। यदि कोई निजी स्कूल इन हिदायतों का उल्लंघन करता पाया जाता है तो उसके विरूद्ध हरियाणा शिक्षा नियमावली 2003 के नियम 158 के अनुसार कार्रवाई की जाए तथा इस संबंध में निदेशालय को भी अवगत करवाया जाए।
-------------------------------------------‐

चंडीगढ़24 अप्रैल- हरियाणा उर्दू अकादमी की ओर से सभी कार्यरत कर्मचारियों और अधिकारियों ने अप्रैल2020 माह के मूल वेतन का 10 प्रतिशत भाग स्वेच्छा से हरियाणा कोरोना रिलीफ फंड में देने का संकल्प लिया है।
अकादमी के एक प्रवक्ता ने इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि इस अकादमी के सभी अधिकारी एवं कर्मचारी मार्च माह में भी अपना एक दिन का वेतन इसी कोष में जमा करा चुके हैं। यह सिलसिला वर्तमान संकट काल में जारी रहेगा।
इसके अलावाहरियाणा उर्दू अकादमी स्टाफ ने अपने निजी स्तर पर नगर निगम पंचकूला के आयुक्त कोराशन के पैकेटसैनेटाइजर व मास्क’ आज दिए हैं। यह सिलसिला भी जारी रखने का निर्णय लिया गया है।
उन्होंने बताया कि अकादी के उपाध्यक्ष एवं निदेशक श्री चन्द्र त्रिखा ने प्रदेश के सभी ऐसे साहित्यकारों/अदीबों से भी अपील की है कि जो आर्थिक रूप से समृद्ध हैं वे अपने साम्र्थय के अनुसार हरियाणा कोरोना रिलीफ फंड’ खाता न. 39234755902 आई.एफ.एस.सी. कोड- स्क्चढ्ढहृ0001509स्टेट बैंक ऑफ इंडियासेक्टर-10पंचकूला में योगदान दें। इसके अलावाउक्त फंड’ के नाम अपना क्रास्ड चैक/ड्राफ्ट’ भेज सकते हैं ताकि अदबी वर्ग की ओर से भी इस आपदा में अपना वित्तीय योगदान दर्ज कराया जा सके।

No comments

Powered by Blogger.