मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने वीडियो कांफ्रेसिंग सभी राजनैतिक पार्टी के नेताओं से कोरोना वायरस को लेकर की चर्चा

चंडीगढ़(abtaknews.com)8 अप्रैल- हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने प्रदेश के सभी धर्म गुरुओं का आह्वान किया है कि कोरोना वायरस के कारण उत्पन्न इस परिस्थिति में सबको साथ मिलकर चलना है। कोविड -19 की रोकथाम के लिए मुख्यमंत्री ने कहा कि संकट की इस घड़ी में हमें इस तथ्य को स्वीकार करना होगा कि कोई बीमारी किसी जाति या धर्म को नहीं देखती हैइसलिए धार्मिक नेताओं को जनता को निवारक उपायों के बारे में जागरूक करना चाहिए। इसके अलावानॉवेल कोरोना वायरस के प्रकोप को फैलने से रोकने के लिए राज्य के लोगों को थ्री-एस यानि ‘‘स्टे-एट-होमसोशल-डिस्टेंसिंग एवं सैनिटेशन’’ का मंत्र देते हुए उन्होंने कहा कि कोविड-19 का मुकाबला करने के लिए अपनी तैयारियों को पूरा करते हुए राज्य सरकार ने 5 करोड़ नए मास्क के आर्डर दिए हैं।
मनोहर लाल आज यहां वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से राज्य के सभी जिलों से हिन्दूमुस्लिमसिक्खईसाईजैन इत्यादि धर्मों के लगभग 300 धर्म गुरूओं से बातचीत कर रहे थे।      उन्होंने धार्मिक नेताओं से आग्रह किया कि यदि किसी व्यक्ति में कोविड -19 के लक्षण हैंतो उन्हें समझाएँ कि वे स्वयं कोविड-19 की जांच के लिए आगे आएं तभी इस वायरस को फैलने वाली श्रृंखला को तोड़ा जा सकता है। मुख्यमंत्री ने सभी धर्म गुरुओं द्वारा दिए गए सुझाव धैर्यपूर्वक सुने और उन्होंने धार्मिक नेताओं को आश्वासन दिया कि लोगों की भावनाओं को आहत नहीं किया जाएगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने आज विभिन्न राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक की और बैठक में इन प्रतिनिधियों ने इस संकट के समय पर पूर्ण समर्थन देने की पेशकश भी की है। उन्होंने कहा कि कोरोना रिलीफ फंड में अपने एक महीने के वेतन का योगदान देने के अलावा विधायकों ने अगले एक साल के लिए अपने वेतन में से 30 प्रतिशत कटौती की पेशकश भी की है। इसके अलावाउन्होंने एक साल के लिए विधायक आदर्श ग्राम योजना’ के तहत 2 करोड़ रुपये का वार्षिक अनुदान नहीं लेने का भी फैसला किया है। इसी तरहसभी मंत्रियों ने भी अपने ऐच्छिक कोटे का आधा से अधिक हिस्सा योगदान देने का निर्णय लिया है।
राष्ट्रीय राजधानी के निजामुद्दीन इलाके में धार्मिक सभा के मुद्दे का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि इस तरह की जमात होना कोई गलत बात नहीं है क्योंकि यह एक नियमित घटना थी लेकिन उन्हें सतर्क रहना चाहिए था। उन्होंने कोरोना वायरस के खतरे के चलते समुदाय से जुड़े लोगों से आग्रह करते हुए कहा कि एहतियात के तौर पर ऐसे लोगों को इस बात पर ध्यान नहीं देना चाहिए कि वे कोरोना से प्रभावित हैं या नहींपरंतु क्वारंटीन में रहना चाहिए। किसी भी लक्षण के मामले मेंउन्हें तुरंत डॉक्टरों से संपर्क करना चाहिए और सभी आवश्यक परीक्षण करवाने चाहिए। उन्होंने कहा कि कुछ लोग डर या सामाजिक आपत्ति के कारण आगे नहीं आ रहे हैंलेकिन ऐसा करने से वे स्वयं के साथ-साथ दूसरों के जीवन को भी खतरे में डाल रहे हैं।
        उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने सोशल मीडिया पर फैलाई जा रही अफवाहों की घटना पर भी गंभीरता से विचार किया है। उन्होंने कहा कि ऐसी अफवाहें फैलाने वालों और फर्जी संदेशों के जरिए समाज में नफरत फैलाने वालों के विरूद्ध एफआईआर दर्ज की जाएगी।
        मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि ‘‘जान है तो जहान है’’। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने यह सुनिश्चित किया है कि राज्य में कोई भी गरीब व्यक्ति भोजन से वंचित न रहे। उन्होंने कहा कि प्रति सप्ताह 1000 रुपये की वित्तीय सहायता गरीब लोगों के बैंक खातों और गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले लोगों को हस्तांतरित की जा रही है। सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत खाद्यनागरिक आपूर्ति और उपभोक्ता मामले विभाग के उचित मूल्य की दुकानों पर पीलागुलाबी और खाकी कार्ड धारकों के लिए डबल राशन का प्रावधान किया है। उन्होंने कहा कि वर्तमान में लॉकडाउन के दौरान लोगों को हो रही समस्या के समाधान के लिए राज्य सरकार द्वारा पांच हेल्पलाइन संचालित की जा रही हैं।
        उन्होंने कहा कि अधिकारी मेडिकल प्रोटोकॉल का पालन कर रहे हैं और सभी को यह समझना होगा कि संकट की इस घड़ी में सभी समुदाय के लोगों को एकजुट रहना होगा तभी इस लड़ाई की जीत होगी। उन्होंने धार्मिक संगठनों से यह भी आग्रह किया कि वे अपने अनुयायियों को विभिन्न सामाजिक कार्यों जैसे खाद्य पदार्थराशन इत्यादि के वितरण में संकट के इस समय में गरीब लोगों की मदद करें। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के प्रकोप को रोकने के लिए इन संगठनों व व्यक्तियों को प्रभावी ढंग से कोरोना रिलीफ फंड में उदारतापूर्वक योगदान देना चाहिए। उन्होंने ऐसे सभी संगठनों व व्यक्तियों का भी धन्यवाद कियाजिन्होंने इस कोष में योगदान किया है। 
        श्री मनोहर लाल ने कहा कि आने वाले त्योहारों और उत्सवों को देखते हुए लोगों को किसी भी तरह के आयोजन से बचना चाहिए और इन अवसरों को अपने परिवार के सदस्यों के साथ अपने घर पर ही मनाना चाहिए।
क्रमांक-2020


चंडीगढ़, 8 अप्रैल- हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कोरोना वायरस के राष्ट्रीय संकट की घड़ी में प्रदेश की सभी राजनीतिक पार्टियों के नेताओं द्वारा आज सरकार का एकजुटता के साथ हर कदम पर साथ देने के दिए गए आश्वासन के लिए उनका आभार व्यक्त किया है।
        मुख्यमंत्री ने यह जानकारी आज विपक्ष के नेता श्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डासभी राजनैतिक पार्टियों के प्रदेश अध्यक्षोंविधायकों व मंत्रिमण्डल के कुछ सदस्यों के साथ वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से की गई चर्चा के बाद दी।
        मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्हें इस बात का सन्तोष है कि सभी विभागों के अधिकारियों व कर्मचारियों द्वारा कोरोना वायरस से लडऩे के लिए की जा रही मेहनत व सरकार द्वारा उठाए जा रहे कदमों की विपक्षी पाटिर्यों ने सराहना की।
        उन्होंने कहा कि लॉकडाउन की अवधि में सरकारों के राजस्व जुटाने में कमी आई है। हरियाणा सरकार के  राजस्व में मार्च 2020 में लगभग 2300 करोड़ रुपये की कमी रही है तथा अप्रैल माह में लगभग 4000 करोड़ रुपये कम होने का अनुमान है। उन्होंने कहा कि सरकार को आवश्यक खर्च के लिए कठिनाई न हो इसके लिए ऋण लेना भी पड़ता है और आज की बैठक में सभी विपक्षी पार्टियों के नेताओं ने भी सहमति दी है कि इस घड़ी में सरकार ऋण ले तो उन्हें कोई आपत्ति नहींक्योंकि इस महामारी से निपटना हम सबकी प्राथमिकता है।
        मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार के सभी मंत्रियों ने अपने ऐच्छिक कोष से 51 करोड़ रुपये कम खर्च करने की सहमति जताई है और यह राशि हरियाणा कोरोना रिलीफ फण्ड में देने को कहा है। उन्होंने कहा कि इसी प्रकार विधायकों ने सांसदों की तर्ज पर एक वर्ष के लिए 30 प्रतिशत मासिक वेतन में से कटौती करने तथा पूर्व विधायकों ने अपनी पेंशन में से एक महीने की पेंशन का अंशदान देने की स्वीकृति दी है।
        सभी राजनैतिक पार्टियों के नेताओं ने आश्वासन दिया कि सामाजिक सौहार्द बनाए रखने के लिए बूथ लेवल तक उनके कार्यकर्ता एकजुटता के साथ कार्य करेंगे।
सूजसविह-2020


चंडीगढ़, 8 अप्रैल- हरियाणा की सभी राजनैतिक पार्टियों ने मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल की अध्यक्षता में आज हुई एक बैठक में वित्तीय संकट के बावजूद सरकार द्वारा कोरोना से निपटने तथा किसानों की फसलों की सरकारी खरीद करने के लिए किए जा रहे विस्तृत प्रयासों की सराहना करते हुए सर्वसम्मति से निर्णय किया कि  आगे चलते हुए कोरोना को हराने तथा इस दौरान हर हरियाणवी की मूल आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए हर संभव प्रयास हर कीमत पर सरकार करती रहे और ऐसे सभी प्रयासों का समर्थन दलगत राजनीति से ऊपर उठ कर सभी दलों के नेताओं एवं कार्यकताओं द्वारा एकजुट होकर किया जाएगा।
        बैठक में सभी विधायकों द्वारा एक वर्ष के लिए अपने मासिक वेतन में से कम से कम 30 प्रतिशतराजनैतिक पार्टियों द्वारा अपनी क्षमता अनुसार तथा पूर्व विधायकों द्वारा अपनी पैंशन में से हरियाणा कोरोना रिलिफ फंड में अंशदान देनेसरकार द्वारा नि:संकोच ऋण लेने तथा तहसीलों में सोशल डिस्टैंसिंग का ध्यान रखते हुए रजिस्ट्रेशन का काम शुरू करने जैसे अनेक विषयों पर आम सहमति बनी।
        बैठक में प्रदेश के स्वास्थ्य कर्मियोंपुलिस कर्मियोंजिला प्रशासन तथा सामाजिक संस्थानों द्वारा की जा रही कड़ी मेहनत तथा सभी विभागों के कर्मचारियों द्वारा 70 करोड़ रुपये से अधिक की राशि का सहयोग हरियाणा कोरोना रिलिफ फंड में देने की प्रशंसा की गई।
        बैठक में यह आम सहमति भी बनी कि भविष्य में कर्मचारियों के वेतन तथा अंशदान बारे सरकार को कर्मचारी संघो से विचार विमर्श करके आम सहमति बनानी चाहिए। सभी राजनैतिक दलों के प्रदेश अध्यक्षों ने कहा कि संकट की इस घड़ी में वे सभी सरकार के साथ है।
        मुख्यमंत्री ने बैठक में सभी राजनैतिक पार्टियों के नेताओं से अपील की कि संकट की इस घड़ी में इस महामारी से निपटने के लिए सभी पार्टियों के कार्यकर्ता राजनीति से ऊपर उठ कर बूथ लेवल तक सामाजिक सोैहार्द बना कर एकजुटता से कार्य करें तथा सुनिश्चित करें कि कोई भी हरियाणावासी भूखा न सोए।
        मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल की पहल पर आज वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से सभी राजनैतिक पार्टियों के अध्यक्षोंनेता प्रतिपक्ष व अन्य राजनैताओं से कोरोना वायरस से लडऩे के लिए सरकार द्वारा अब तक उठाए गए कदमों पर चर्चा की और सभी राजनेताओं ने मुख्यमन्त्री की इस पहल का तहे-दिल से स्वागत किया।
        वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से उप मुख्यमन्त्री श्री दुष्यंत चौटालास्वास्थ्य मंत्री श्री अनिल विजबिजली मंत्री श्री रणजीत सिंहनेता प्रतिपक्ष श्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डाभाजपा प्रदेश अध्यक्ष श्री सुभाष बरालाहरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी की अध्यक्षा कुमारी शैलजाजननायक जनता पार्टी के अध्यक्ष श्री निशान सिंहइनैलो के विधायक श्री अभय सिंह चौटालाहरियाणा लोक हित पार्टी के विधायक श्री गोपाल कांडा ने भी विचार रखे और राष्ट्रीय संकट की इस घड़ी में हर कदम पर सरकार के साथ खड़े रहने का आश्वासन दिया।

No comments

Powered by Blogger.