पलवल में 82 औद्योगिक प्रतिष्ठानोंं को मिली अनुमति, दो निर्माण कार्यों पर 355 श्रमिकों के साथ सशर्त कंस्ट्रक्शन वर्क

पलवल(abtaknews.com)25 अप्रैल,2020: कोविड-19 वैश्विक महामारी से बचाव के लिए राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के दौरान पलवल जिला में 82 औद्योगिक व अन्य वाणिज्यिक इकाईयों को काम करने की अनुमति प्रदान की गई है। उद्योग एवं वाणिज्य विभाग के माध्यम से ऑनलाइन आवेदनों का निपटान करते हुए इस बात  का भी ध्यान रखा गया कि कार्यस्थल पर सोशल डिस्टेंस का पालन हो और निरंतर सेनेटाइज संबंधी गतिविधियां भी जारी रहें। स्वास्थ्य सुरक्षा की दृष्टिï से जहां एक ओर हर आमजन पर प्रशासन की पारखी नजर है वहीं लॉकडाउन में श्रमिकों को किसी भी प्रकार से रोजगार की चिंता न हो इसके लिए औद्योगिक इकाईयां अनुमति के आधार पर ही शुरू की जा रही हैं।
उपायुक्त नरेश नरवाल ने कहा कि सरकार की हिदायतों के अनुसार एमएसएमई श्रेणी की औद्योगिक इकाईयों व वाणिज्यक प्रतिष्ठान्नों को अनुमति दी जा रही है। औद्योगिक इकाईयों में आवश्यक वस्तुओं का उत्पादन करने सहित अन्य उत्पाद शुरू किए गए हैं और उनकी आपूर्ति के लिए ट्रांसपोटेशन सुविधा भी अनुमति आधार पर दी गई है। आर्थिक विकास की द्योतक औद्योगिक इकाई में कोविड-19 से बचाव के लिए जहां नियमित रूप से सैनेटाइजेशन प्रक्रिया अमल में लाई जा रही हैं वहीं मास्क का उपयोग करते हुए कर्मचारियों को परिसर में ही रखने की व्यवस्था इकाई प्रबंधक की ओर से की गई है। किसी भी रूप संक्रमण का फैलाव न हो इसके लिए एहतियात बेहतर तरीके से किए जा रहे हैं और कंपनियों में कार्यरत कर्मियों को परिसर में ही सोशल डिस्टेंस बनाए रखते हुए ठहराव करने सहित भोजन उपलब्ध कराया जा रहा है।
उन्होंने बताया कि आर्थिक व्यवस्था को समुचित नियंत्रण में रखने के लिए औद्योगिक इकाईयों का विकास में अहम योगदान है। वहीं कोरोना वायरस से बचाव के लिए इन संस्थानों में सोशल डिस्टेंस व अन्य आवश्यक कार्यों के लिए पहले ही निर्देश दिए जा चुके है। वहीं इन कार्यों की निगरानी के लिए अधिकारियों की भी ड्यूटी लगाई गई ताकि स्वास्थ्य संबंधी सुरक्षा उपायों का पूरी तरीके से पालन हो। वैश्विक महामारी के दौर में जहां आमजन की स्वास्थ्य सुरक्षा का पूरा ध्यान रखा जा रहा है वहीं लोगों को आर्थिक रूप से नुकसान न हो इसके लिए प्रशासन की ओर से विशेष रूप से ग्रामीण क्षेत्र में स्थित औद्योगिक इकाईयों को खोलने की अनुमति दी है।
कंस्ट्रक्शन साइट पर ही रहेंगे श्रमिक : अनिल कुमार
पलवल जिला उद्योग केंद्र के उपनिदेशक अनिल कुमार ने प्रशासन की ओर से दी जा रही अनुमति की जानकारी देते हुए बताया कि अब तक कुल 82 प्रतिष्ठान्नों को खोलने की अनमुति दी है जिनमें करीब 6800 कर्मचारियों द्वारा शारीरिक दूरी बनाते हुए कार्य शुरू किया गया है। वहीं पलवल जिला में दो निर्माण साइट पर 355 श्रमिकों की अनुमति के साथ ही कंस्ट्रक्शन वर्क भी अधिकांश सरकारी कार्य विकासात्मक रूप के साथ शुरू किए हैं। इन निर्माण स्थलों पर श्रमिकों की बाहर मूवमेंट न हो इसके लिए इसी आधार पर अनुमति दी गई है कि कार्य स्थल पर ही श्रमिकों के रहने के लिए आवश्यक इंतजाम किए जाए। अनुमति प्राप्त इकाई में कार्यरत कर्मचारियों के ठहरने व भोजन की व्यवस्था परिसर में ही सुनिश्चित होगी तथा कोविड-19 नियमों की पालना सुनिश्चित रहेगी। वहीं औद्योगिक इकाईयों की शुरूआत किए जाने पर कार्यरत कर्मियों द्वारा सरकार द्वारा दी गई अनुमति पर आभार भी जताया है।
-----------------------------------------------------
पलवल, 25 अप्रैल।वैश्विक महामारी कोविड़-19 के संक्रमण को रोकने के लिए देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा 24 मार्च 2020 को देश में लगाए गए जनता कफर््यू के आह्वïान को देश की जनता ने पूर्ण रूप से सफल बनाया।जनता कफर््यू व लॉकडान के दौरान जिला पलवल के जरूरतमंद लोगों को खान-पान में किसी भी प्रकार की समस्या न उत्पन्न हो इसलिए सेवाभाव को समर्पित जिला की एक सामाजिक संस्था करूणामयी ने जरूरतमंद लोगों तक खान-पान व आवश्यक सामग्री पहुचाने का बीढा उठाया। जनता कफर््यू के पश्चात जिस प्रकार पूरे देश में लॉकडाउन की घोषणा हुई तो उसी दिन ही करुणामयी सामाजिक संस्था की टीम द्वारा पलवल जिले के सभी प्रशासनिक अधिकारियों को व्हाट्सएप्प द्वारा अपनी उपलब्धता और अपनी सेवाएं देने के लिए स्वयं को प्रस्तुत कर दिया। उसके उपरांत आज तक निरन्तर करुणामयी परिवार के जांबाज सेवक समाज में हर प्रकार की सेवा के लिए तत्पर खड़े हैं।
संस्था जरूरतमंद लोगों की आवश्यकताओं को पूरा करने में जुटी हुई है ताकि कोई जरूरतमंद नागरिक व उसका परिवार भूखा न सोए।
इस संस्था का सेवाभाव पहले प्रवासी लोगों की आवभगत से शुरू हुआ। पहले दिन प्रवासियों को भोजन, चाय, नाश्ता के साथ-साथ दवाइयों का वितरण किया गया। तत्पश्चात नगराधीश के आदेशानुसार नागरिक अस्पताल में आइसोलेशन वार्ड के साथ-साथ जनरल वार्ड में सभी प्रकार के मरीजों को दोपहर व रात्रि के भोजन की व्यवस्था आरंभ की गई, जोकि अभी तक निर्विघ्र रूप से निरंतर जारी है। इसके अतिरिक्त शहर के विभिन्न स्थानों पर जरूरतमंद लोगों को सूखा राशन या पका हुआ तैयार भोजन पहुंचाने के लिए सभी सदस्य सदैव प्रस्तुत रहते हैं। संस्था द्वारा दो वृद्ध व्यक्तियों को दवाई इत्यादि भी निर्बाध रूप से पहुंचाई जा रही है।
संस्था करुणामयी के अध्यक्ष मनोज छाबड़ा ने बताया कि संस्था के सभी सदस्य प्रत्येक प्रयोजनों में अपनी सहभागिता सुनिश्चित करते हुए अपना पूर्ण सहयोग करते हैं। इसके अतिरिक्त करुणामयी टीम को इन सभी प्रयोजनों में न्यू कॉलोनी के गुरुद्वारे, सेवा समिति, महालक्ष्मी मार्ट, बाला जी धर्म कांटा और सब्जी मंडी के प्रमुख प्रतिष्ठानों का समय-समय पर हर संभव सहयोग मिलता रहता है।संस्था में मुख्य साथी रणधीर चौहान, सतेंद्र उर्फ कुल्लू चौधरी, यतिन कालड़ा, रंजन सेठ, विनीत गुलाटी, उमा शंकर गर्ग, राकेश चौधरी, उमेश पंवार, अनिल गोसाईं, रविंद्र शर्मा (बिल्लू), संगीता गर्ग और रेणू छाबड़ा इत्यादि का मुख्य योगदान रहता है।

No comments

Powered by Blogger.