सेक्टर 62 आशियाना फ्लैटों में संदिग्धो के सर्वे को पहुंची टीम पर पथराव,आशा वर्कर घायल

फरीदाबाद (Abtaknews.com) 21अप्रैल,2020: सेक्टर 62 आशियाना फ्लैटों में संदिग्ध की सर्वे करने पहुंची टीम पर पथराव से आशा वर्कर गंभीर रूप से घायल हो गयी है ।
सैक्टर 62 में जब कुछ पुलिस कर्मचारी और स्वास्थ्य कर्मी  कोरोना संभावितों की तलाश में गए तो वहां विशेष समुदाय के लोगों ने कर्मचारियों पर हमला कर दिया। इसमें एक सब इंस्पैक्टर और एक आशा वर्कर घायल हो गई। उन्हें उपचार के लिए भर्ती करवाया गया है।जानकारी के मुताबिक फरीदाबाद पुलिस और स्वास्थ्य विभाग ने सरकार के आदेशों के मुताबिक जिले में कोरोनावायरस तलाशी अभियान चलाया हुआ है। इसी अभियान के तहत कुछ पुलिस कर्मचारी और स्वास्थ्य कर्मचारी बल्लभगढ़ के निकट स्थित सेक्टर 62 के आशियाना फ्लैट में जांच के लिए पहुंचे थे।
उन्होंने कुछ संभावितों के बारे में पूछताछ शुरू की, तो वहां मौजूद कुछ लोगो ने  कर्मचारियों पर हमला कर दिया। घटना के बाद हमलावर फरार हो गए।इस हमले में एक सब इंस्पैक्टर और एक आशा वर्कर के घायल होने की सूचना है। सब इंस्पैक्टर व आशा वर्कर को उपचार के लिए सरकारी अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। सूचना पाकर अतिरिक्त पुलिस बल मौके पर भेजा गया है। पुलिस ने हमलावरों को गिरफ्तार करने के लिए उनकी तलाश शुरू कर दी है। 
सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा व मजदूर संगठन सीआईटीयू ने मंगलवार को कोविड 19 की सर्वे टीम व पुलिस पर सेक्टर 62 आशियाना फ्लैट में  किए गए हमले को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कड़े शब्दों में निन्दा की है। इस हमले में आशा वर्कर व पुलिस के एक एएसआई को गहरी चोटें आई हैं। सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के प्रदेशाध्यक्ष सुभाष लांबा व वरिष्ठ उपाध्यक्ष नरेश कुमार शास्त्री ने मामले की निष्पक्षता से जांच कर आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है। उन्होंने बताया कि कोरोना महामारी के खिलाफ जंग लड़ रहे योद्धाओं मेडिकल व पैरा मेडिकल स्टाफ, पुलिस कर्मियों, बिजली कर्मचारियों, सफाई कर्मचारियों, फायर ब्रिगेड स्टाफ सहित आवश्यक सेवाओं में तैनात कर्मचारियों को सुरक्षित रखना सरकार व हम सब की जिम्मेदारी है। संघ नेताओं ने इस घटना को साम्प्रदायिक रंग देकर माहौल खराब करने के किए जा रहे प्रयासों की भी निंदा की। उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया के द्वारा तरह तरह की झुठी अफवाहों को फैलाया जा रहा है। जिसके कारण नागरिकों और विशेषकर अल्पसंख्यक समुदाय मे  भय व्याप्त है। इसलिए सरकार को सभी प्रकार की अफवाहों को दूर करने और अफवाहों व नफरत फ़ैलाने वालों के खिलाफ भी कार्रवाई की पहल भी करने की आवश्यकता है। सीटू हरियाणा के जिला प्रधान निरंतर पराशर ने भी घटना की घोर निन्दा की ओर आरोपियों के खिलाफ कार्यवाही की मांग की।

आशा वर्कर यूनियन हरियाणा की जिला प्रधान हेमलता व सचिव सुधा पाल ने घटना की घोर निन्दा की। उन्होंने बताया कि रेखा आशा वर्कर हमारी यूनियन के जिला सह सचिव है और 16 अप्रैल को आशियाना में सर्वे के लिए गई है। फ्लैट में रहने वाले कुछ नागरिकों ने जानकारी देने से इन्कार कर दिया और बदतमीजी भी की। जिसकी शिकायत 17 अप्रैल को सीएमओ को लिखित में कर दी गई थी। जिसके आधार पर ही मंगलवार को आशा वर्कर रेखा व डाक्टर विपिन ओर दो पुलिस कर्मचारी पुनः सर्वे के लिए गए थे। इस टीम को भी उन लोगों ने सहयोग नही किया ओर झगड़े पर उतारू हो गए। पुलिस ने इसके जवाब में कार्रवाई की तो वहां भगदड़ मच गई। एक लड़के को ग्रिल कूदते हुए माथे पर ग्रिल का सरीया लगने से गंभीर चोट लग गई ओर खून बहने लगा। जिसको देखकर मामला बिगड़ गया। जिससे बोखलाकर आरोपियों ने फिर पुलिस पर भी हमला कर दिया। जिसमें आशा वर्कर रेखा व पुलिस के एक एसआई को गहरी चोट आई है। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर 5 आरोपियों को गिरफतार भी कर लिया है।

No comments

Powered by Blogger.