पलवल जिला में 4.34 लाख क्विंटल गेहूं व 2099 मीट्रिक टन सरसों की हुई खरीद: नरेश नरवाल

पलवल(abtaknews.com)25 अप्रैल। राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के बावजूद पलवल जिला में किसानों के गेहूं की खरीद करने के व्यापक प्रबंध के चलते गेंहू खरीद प्रक्रिया के आरंभ होने के चार दिन में ही मंडियों में सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखकर अब तक लगभग चार लाख 34 हजार 65 क्विंटल अधिक गेहूं खरीदा जा चुका है। वहीं हथीन व पलवल अनाज मंडी में सरसों के लिए बनाए गए विशेष खरीद केंद्रों पर 2099 मीट्रिक टन सरसों खरीदी जा चुकी है।

उल्लेखनीय है कि जिला की मुख्य अनाज मंडियों के साथ ही अतिरिक्त खरीद केंद्रों पर गेहूं की खरीद सुचारू ढंग से जारी है। जिन मंडियों व अतिरिक्त खरीद केंद्रों पर दस हजार क्विंटल से अधिक खरीद हो चुकी है उनमें होडल में अब तक 87820 क्विंटल, हसनपुर में 64235 क्विंटल, हथीन में 55012 क्विंटल, पलवल में 40426 क्विंटल, खांबी में 34868 क्विंटल, धतीर में 22675 क्विंटल, सोम राइस मिल हसनपुर में 17528 क्विंटल, श्री बांके बिहारी राइस मिल हसनपुर में 11669 क्विंटल गेहूं की खरीद हो चुकी है। वहीं हथीन व पलवल की मंडियों में जिला के 125 गांवों के 808 किसानों की 2099 मीट्रिक टन सरसों खरीदी जा चुकी है। मंडियों में खरीद के साथ-साथ उठान का कार्य भी लगातार जारी है।  
उपायुक्त ने बताया कि हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने खरीद कार्य में शामिल सभी किसानों, आढ़तियों, मजदूरों और सरकारी कर्मचारियों चाहे वह नियमित हो या आउटसोर्सिंग, को 10 लाख रुपये के जीवन बीमा देने की घोषणा की है। उन्होंने कहा कि मंडियों में सोशल डिस्टेंस की पालना को लेकर अभी सीमित संख्या में किसानों को बुलाया जा रहा है लेकिन जिला के किसान निश्चिंत रहें उनकी फसलों का एक-एक दाना खरीदा जाएगा। उन्होंने कहा कि 1925 रुपये प्रति क्विंटल की दर से गेहूं की कीमत मंडियों से गेहूं की उठान होने के साथ ही किसानों के खातों में जमा करा दी जाएगी। उन्होंने कहा कि गेंहू की खरीद के लिए 34 खरीद केन्द्र व सरसों के 2 खरीद केन्द्र स्थापित किए हैं। इन खरीद केन्द्रों में व्यवस्था बनी रहे, हर खरीद केन्द्र को सेनिटाईजेशन के अलावा हर किसान व कर्मचारी के लिए मास्क का प्रबंध किया गया है व हैंड सेनिटाइजर और थर्मल स्कैनिंग के भी प्रबंध किए गए हैं।        
उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि पलवल जिला में गेहूं की न्यूनतम समर्थन मूल्य पर सरकारी खरीद 20 अप्रैल को आरंभ हुई थी। जिला की मुख्य मंडियों व अतिरिक्त खरीद केंद्रों पर पहले दिन 16506 क्विंटल, दूसरे दिन 58911 क्विंटल, 22 अप्रैल को तीसरे दिन 71018 क्विंटल, 23 अप्रैल को एक लाख आठ हजार 740 क्विंटल तथा 24 अप्रैल को एक लाख 78 हजार 890 क्विंटल गेहूं की खरीद हुई। उन्होंने बताया कि इस बार मेरी फसल-मेरा ब्यौरा पोर्टल पर पंजीकृत किसानों की उपज खरीदी जा रही है। सरकार ने किसानों की सुविधा के लिए पोर्टल पर पंजीकरण की प्रक्रिया को पुन: आरंभ कर दिया है। जिला में गेहूं व सरसों की सरकारी खरीद प्रक्रिया को सुचारू बनाए रखने के लिए 107 सरकारी स्कूलों में मेरी फसल-मेरा ब्यौरा पोर्टल पर नि:शुल्क पंजीकरण किया जा रहा है। किसानों को इस सुविधा का अधिक से अधिक लाभ उठाना चाहिए।
----------------------------------------------------------------------------------
ड्यूटी में लापरवाही पर अधिकारी को आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत नोटिस जारी
पलवल, 25 अप्रैल। राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के दौरान ड्यूटी में कोताही बरतने पर पलवल जिला में सहायक मृदा संरक्षण अधिकारी को आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 की धारा 56 का नोटिस जारी किया गया है। नगराधीश जितेंद्र कुमार ने जानकारी देते हुए बताया कि सहायक मृदा संरक्षण अधिकारी सुमेर सिंह को संबंधित अधिनियम के तहत नोटिस जारी किया गया है।
नगराधीश ने बताया कि यह कार्रवाई जिला बाल कल्याण अधिकारी सुरेखा डागर की ओर से संबंधित अधिकारी के खिलाफ भेजी गई शिकायत के आधार पर की गई है। सुमेर सिंह को आदर्श कॉलोनी , गली नंबर 5 कृष्णा कॉलोनी व नंगला लक्खी में राशन वितरण के लिए वार्ड अधिकारी नियुक्त किया गया था लेकिन संबंधित अधिकारी ने ड्यूटी का निर्वहन नहीं किया और राशन वितरण कमेटी की बैठक से भी गैरहाजिर रहा। उन्होंने बताया कि सुमेर सिंह को उपायुक्त की ओर से आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत नोटिस जारी करते हुए दो दिन में जवाब मांगा गया है अगर संबंधित अधिकारी दो दिन के भीतर अपनी स्थिति स्पष्ट नहीं करता तो उसके खिलाफ आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।
------------------------------------------
इस्लाम के पाक महीने रमजान की डीसी नरेश नरवाल ने दी बधाई
पलवल, 25 अप्रैल। उपायुक्त नरेश नरवाल ने इस्लाम के पाक महीने रमजान के शुभारंभ अवसर पर जिलावासियों को बधाई दी है। रमजान के अपने शुभकामना संदेश में उपायुक्त ने कहा कि रमजान का महीना इबादत के लिए होता है और इस महीने की जाने वाली इबादत का सवाब अन्य महीनों की तुलना में अधिक मिलता है। श्री नरेश नरवाल ने रमजान के दौरान रोजेदारों से अपील करते हुए कहा कि कोरोना वायरस से बचाव के लिए सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए घरों में रहकर ही इबादत करें। मस्जिदों में जाने की बजाए घर पर ही नमाज पढ़े। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार रोजे रखने वाला किसी प्रकार का गलत काम नहीं करता उसी तरह स्वयं व दूसरों की सुरक्षा के लिए घर में बने रहें। उन्होंने कहा कि अजान के साथ ही इफ्तार व सहरी जैसे कार्य घर से भीतर सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए करें। इशा की नमाज के बाद तरावीह की नमाज भी घर पर ही रह कर अदा करें।  
उपायुक्त ने कहा कि रमजान का महीना संयम और संकल्प से जुड़ा हुआ है। ऐसे में कोरोना वायरस को हराने के लिए घरों में संयम के साथ रहें और दूसरों को भी इस आश्य के प्रति जागरूक बनाने का संकल्प धारण करें। उन्होंने मौलवियों व इमामों की भी प्रशंसा करते हुए कहा कि उनकी ओर से भी जिस प्रकार लोगों को कोरोना वायरस से बचाव के लिए आगाह किया जा रहा है वह भी एक प्रशंसनीय कार्य है। कोविड-19 को वैश्विक महामारी घोषित किया गया है। इस बीमारी के वायरस से बचाव के लिए सोशल डिस्टेंस को अनिवार्य माना गया है।

No comments

Powered by Blogger.