20 अप्रैल से शुरू हो रहे गेहूं की खरीद का कार्य सभी जिलों में सुचारू रूप से चलाना हो सुनिश्चित:संजीव कौशल

फरीदाबाद(Abtaknews.com)19 अप्रैल।अतिरिक्त मुख्य सचिव, कृषि एवं किसान कल्याण विभाग संजीव कौशल तथा अतिरिक्त मुख्य सचिव खाद्य एवं आपूर्ति विभाग पीके दास ने कहा कि कोरोना के कारण प्रदेश में लगे लाॅकडाउन के दौरान 20 अप्रैल से शुरू हो रहे गेहूं की खरीद का कार्य सभी जिलों में सुचारू रूप से चलाना है। इसके लिए सभी उपायुक्त कारगर योजना के साथ सोशल सिस्टेंसिंग व अन्य हिदायतों की अनुपालना करते हुए मंडियों में गेहूं की खरीद का कार्य करें। उनके साथ हरियाणा कृषि विपणन बोर्ड के मुख्य प्रशासक जी. गणेशन व खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के निदेशक चंद्रशेखर खरे भी उपस्थित थे।
अतिरिक्त मुख्य सचिव रविवार को चंडीगढ़ मुख्यालय से विडियो कांफ्रेसिंग के जरिये उपायुक्तों, एसडीएम व विभिन्न खरीद एजेंसियों के अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दे रहे थे। उन्होंने कहा कि अनाजमंडियों में मेरी फसल-मेरा ब्यौरा पोर्टल पर फसल का पंजीकरण करवाने वाले किसानों को ही फसल खरीदी जाए। किसानों को मैसेज से सूचना जाएगी कि उन्हें किस तारीख को किस समय फसल लेकर मंडी में जाना है। बिना सूचना के मंडियों में फसल लाने वाले किसानों की एंट्री नहीं होनी चाहिए। इसके लिए प्रत्येक मंडी के गेट पर पुलिस का एक नाका लगा दें, ताकि सोशल सिस्टेंसिंग जैसी हिदायतों की अनुपालना हो सके। इसी प्रकार सभी ग्राम पंचायतों को भी सूचना दी जाए कि उनके गांव के फलां किसान की फसल की बिक्री फलां तारीख को मंडी में होनी है, ताकि पंचायत के माध्यम से भी किसान को सूचना चली जाए। उन्होंने कहा कि खरीद कार्य के लिए लगाए गए मजिस्ट्रेट व अन्य अधिकारियों को प्रशिक्षित भी किया जाए। अगर कोई किसान तय तारीख पर फसल को लेकर मंडी में नहीं जा पाता है तो उसे बाद में दोबारा मंडी में फसल लाने का मौका दिया जाएगा, इसलिए किसान धैर्य का परिचय दें। अब गेहूं व सरसों दोनों फसलें मंडियों में आएंगी। इसलिए प्रतिदिन इनका उठान उचित समय पर सुनिश्चित किया जाए।
उपायुक्त यशपाल ने बताया कि जिला में गेहूं की खरीद के लिए छह नियमित व एक अतिरिक्त मंडी गांव अटाली में बनाई गई है तथा जिला में तीन खरीद एजेंसियां खाद्य एवं आपूर्ति विभाग, हरियाणा वेयर हाउस व एफसीआई हैं। सभी मंडियों में खरीद कार्य की तैयारियां पूर्ण कर ली गई हैं। मार्केटिंग बोर्ड के सचिवों को निर्देश दिए गए हैं कि वे अनाजमंडियों में गेहूं व सरसों की खरीद के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग की हिदायतों की अनुपालना सुनिश्चित करें।
उपायुक्त ने विडियो कांफ्रेसिंग के बाद संबंधित विभागों के साथ मीटिंग की तथा जिला की सभी सात मंडियों में खरीद कार्य की तैयारियों की समीक्षा की। उपायुक्त ने जिला के तीनों उपमंडलों के एसडीएम को निर्देश दिए गए हैं कि वे खरीद कार्य के दौरान स्वयं भी मंडियों का दौरा करें तथा अपने अधीनस्थ अधिकारियों की भी प्रतिदिन के आधार पर मंडियों का दौरा करने की डयूटियां लगाएं। खरीद कार्य के दौरान मंडियों में किसानों को किसी प्रकार की परेशानी नही आनी चाहिए। मंडी में उसी किसान की एंट्री होनी चाहिए, जिसे मैसेज के तहत बुलाया गया है। बाहरी प्रदेशों के किसानों की फसल की बिक्री नहीं होनी चाहिए। इसके लिए पुलिस भी अन्य प्रदेशों की सीमाओं पर नाके लगाएगी। सभी खरीद एजेंसियां उचित मात्रा में बारदाना उपलब्ध करवाएं तथा मंडियों से गेहूं का उठान भी जल्द से जल्द किया जाए।
इस अवसर पर अतिरिक्त उपायुक्त आरके सिंह, एसडीएम बल्लबगढ़ अमित कुमार, एसडीएम फरीदाबाद अमित कुमार, एसडीएम बड़खल पंकज सेतिया, जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी राकेश कुमार, जिला खाद्य एवं आपूर्ति नियंत्रक केके गोयल सहित अन्य विभागों के अधिकारी उपस्थित थे

No comments

Powered by Blogger.