फरीदाबाद में 14 लोगों के सैंपल पॉजिटिव मिले हैं,कोविड-19 रोकथाम व प्रबंधन के लिए प्रशिक्षण दिया



फरीदाबाद(abtaknews.com)5 अप्रैल,2020: उप सिविल सर्जन एवं जिला नोडल अधिकारी-कोरोना डा. रामभगत ने बताया कि जिला में अब तक 1214 यात्रियों को सर्विलांस पर लिया जा चुका है, जिनमें से 170 लोगों का निगरानी में रखने का 28 दिन का पीरियड पूरा हो चुका है। शेष 1044 लोग अंडर सर्विलांस हैं। कुल सर्विलांस में रखे गए लोगों में से 1200 होम आइसोलेशन पर हैं। अब तक 261 लोगों के सैंपल लैब में भेजे गए थे, जिनमें से 170 की नेगेटिव रिपोर्ट मिली है तथा 77 की रिपोर्ट आनी शेष है। अब तक 14 लोगों के सैंपल पॉजिटिव मिले हैं, जिनमें से 13 लोगों को अस्पताल में दाखिल किया गया है तथा ठीक होने के बाद एक को अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया है।
उन्होंने बताया कि सभी मेडिकल और पैरा मेडिकल स्टाफ को कोविड-19 की रोकथाम और प्रबंधन के लिए प्रशिक्षित किया गया है। इसी प्रकार पर्यावरण स्वच्छता और शुद्धीकरण के बारे में सरकारी व निजी विभागों के कर्मचारियों को दैनिक आधार पर प्रशिक्षण दिया जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस के संभावित संक्रमण की पृष्ठभूमि को देखते हुए आम जनता को सरकार द्वारा स्वास्थ्य संबंधी हिदायतों की अनुपालना करने की सलाह दी जाती हैध्यान रखना चाहिए कि खाँसी व छींकते समय रूमाल या तौलिया का उपयोग अवश्य करें, हाथों को बार-बार साबुन व पानी से धोते रहें। जब तक बहुत जरूरी न हो, घर से बाहर न निकलें। सार्वजनिक स्थलों व सभाओं में जाने से बचें। जिन लोगों ने हाल ही में कोरोना प्रभावित देशों की यात्रा की है, उन्हें राष्ट्रीय, राज्य या जिला हेल्पलाइन नंबरों पर सूचना देनी चाहिए, उन्हें भारत में आगमन की तारीख से 28 दिनों के लिए सभी से अलग रहना है और किसी से भी स्पर्श करने से बचना है, भले ही उसमें कोई लक्षण न हों।
फरीदाबाद, 5 अप्रैल।उपायुक्त यशपाल ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान जिला प्रशासन की ओर से जरूरतमंद लोगों तक प्रतिदिन सुबह व सायं के समय फूड पैकेट्स व खाद्य सामग्री से मदद पहुंचाई जा रही है, ताकि कोई भी व्यक्ति पैसे की कमी के कारण भूखा न रह सके। उपायुक्त ने बताया कि जिला में रैड क्रॉस सोसायटी विभिन्न सामाजिक संगठनों, गैर सरकारी संस्थाओं से तालमेल कर हर जरूरतमंद व्यक्ति तक खाना पहुंचाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि अब तक दो लाख 66 हजार 440 लोगों को फूड पैकेट्स तथा 9 हजार 20 लोगों को साप्ताहिक सूखा राशन वितरित किया गया। उन्होंने बताया कि अब तक दो लाख 53 हजार 940 फूड पैकेट्स विभिन्न एनजीओ तथा 12 हजार 500 पैकेट्स सरकार द्वारा तैयार करवाए गए हैं, जिनका वितरण गत दिनों शहर के सभी वार्डों में जरूरतमंद लोगों तक किया गया। इस समय जिला में बनाए गए रिलीफ सेंटर में करीब 223 लोग ठहरे हुए हैं, जिन्हें खाना व अन्य सुविधाएं उपलब्ध करवाई जा रही है। इसके अलावा खाद्य एवं आपूर्ति विभाग की ओर से जन वितरण प्रणाली के तहत जिला के सभी डिपो के माध्यम से भी राशन कार्ड धारकों को राशन वितरित किया जा रहा है।
 फरीदाबाद, 5 अप्रैललाधीश यशपाल ने राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन अधिनियम-2005 की धारा 30 के तहत आदेश पारित किए हैं कि फरीदाबाद नगर में कोई भी भवन स्वामी किसी भी स्थिति में किसी मजदूर कर्मचारी या जिले की विभिन्न इकाइयों, कंपनियों, कार्यालयों में काम करने वाले कर्मचारियों से आवासीय भवन किराए की मांग नहीं करेंगे।जिलाधीश ने आदेशों में स्पष्ट किया है कि जो भवन स्वामी इन आदेशों का उल्लंघन करेगा, उसके विरुद्ध राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 के अंतर्गत दंडात्मक कार्यवाही अमल में लाई जाएगी, जिसमें 1 वर्ष तक की सजा या अर्ध दंड या दोनों हो सकते हैं। यदि आदेशों के उल्लंघन में किसी भी तरह की जानमाल की क्षति होती है तो यह सजा 2 वर्ष तक भी हो सकती है। यदि किसी भवन स्वामी द्वारा इन आदेशों का उल्लंघन किया जाता है तो प्रभावित व्यक्ति इसकी सूचना जिले के कोविड-19 कंट्रोल रूम के दूरभाष नंबर 0129-2221000 पर दे सकते हैं।
जिलाधीश ने आदेशों में बताया है कि कोविड-19 महामारी के कारण जिला की वर्तमान परिस्थिति के दृष्टिगत यह आवश्यक है कि सभी लोगों को पूरी आवासीय सुरक्षा मिलनी चाहिए। जिला प्रशासन के संज्ञान में आया है कि कुछ भवन स्वामी ऐसे कर्मचारियों वह श्रमिकों को किराए के लिए बाध्य कर रहे हैं जिस कारण उन्हें अपना मूल स्थान छोड़ने पर विवश होना पड़ रहा है। ऐसी स्थिति में लॉकडाउन होने के बावजूद यह मजदूर व कर्मचारी अपने गृह जिलों की ओर जाने को विवश हो रहे हैं, जो कोरोना वायरस के फैलने की संभावना को और अधिक बल देता है। दूसरा इन कर्मचारियों के कारण आवश्यक वस्तुओं के उत्पादन व वितरण पर भी प्रभाव पड़ने की संभावना है जिससे प्रतिकूल परिस्थितियां पैदा हो सकती हैं। पुलिस आयुक्त फरीदाबाद इन आदेशों की अनुपालना के लिए जिला फरीदाबाद की सभी सीमाओं पर जांच नाके लगाए तथा अन्य संबंधित अधिकारी अपने एरिया में इन आदेशों की दृढ़ता से पालना सुनिश्चित कराएं। 

No comments

Powered by Blogger.