Sunday, March 15, 2020

फरीदाबाद में ओलावृष्टि से जमीनदोज हुई फसल से बहुत दुःखी है अन्नदाता, कोई तो ले इनकी सुध

फरीदाबाद(Abtaknews.com- दुष्यंत त्यागी ) दिल्ली एनसीआर के यमुना तलहटी से लगते गांवो में ओलावृष्टि से  सैकड़ों एकड जमीनदोज हुई फसल से अन्नदाता  बहुत दुःखी है। इस भारी नुकसान की कोई तो सुध ले। बादशाहपुर निवासी किसान डॉ धर्मपाल त्यागी ने बताया कि इस आसमानी आफत से गेहूं में 40 फीसदी और सब्जियों एवं फूल-पत्तियों वाली फसलों में 60 फीसदी नुकसान की आशंका है। फसलों की हालत देख किसान कुछ भी बोल नहीं पा रहा है और न ही ठीक से बता पा रहा है। फसलों का बीमा 50 फीसदी लोगों ने इस लिए नही कराया पिछली बार कंपनी और अधिकारियों ने आपसी मिलीभगत से मुआवज़े में हेराफेरी कर ली थी।जिसका मुकदमा किसान आज भी कोर्ट में लड रहा है । इसलिए किसानों का प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से दिल भर गया इसलिए किसानों ने फ़सल का बीमा कराना छोड दिया है। किसान सुनील चौहान ने बताया कि लालपुर, किडावली, शेरपुर, ढाढर, महावतपुर, मौजाबाद, भस्कोला, भोपानी में ओलावृष्टि से गेहूं और सब्जियों, हरा चारा की फसलों में भारी नुकसान हुआ है ।
          
 कुदरत के कहर गत दिवस देर शाम को ग्रेटर फरीदाबाद के दर्जनों गांवों के किसानों की फसल बर्बाद कर दी, देर शाम आसमान से पानी के साथ हुई ओलावृष्टि से दर्जनों गांवों की सैंकडों एकड में खडी गेंहू की फसल लगभग नष्ट हो गई, गेंहू की फसल में करीब 40 प्रतिशत का नुक्सान बताया जा रहा है तो वहीं सब्जियों की फसलमेंतो करीब 70 प्रतिशत का नुक्सान है, लहलाती हुई फसल एक पल में जमींध्वस्त होने से किसान बहुत दुखी है और अब सरकार से मुआवजे की मांग कर रहा है।

महावतपुर से सुनील चौहान और भस्कौला से कपिल चौहान ने बताया कि जमीन पर लेटी हुई गेंहू की फसल कल तक आसमान से बातें करती हुई लहराती हुई नजर आती थी, मगर देर शाम को हुई तेज बरसात के साथ चली हवा और जबरदस्त ओलावृष्टि ने सैंकडों एकड में खडी हुई गेंहू की फसल को धरती में मिला दिया। आसमान से आफत बनकर बरसे मोटे- मोटे ओलों ने खडी फसल बर्बाद  करके रख दी है। 

किसान धर्मपाल त्यागी की माने तो ग्रेटर फरीदाबाद के गावं लालपुर, किडावली ढाढर, लालपुर, महावतपुर, भसकौला, मौजाबाद, भोपानी, बादशाहपुर, बदरपुरसैद सहित यमुना किनारे बसे दर्जनों गांवों के सैंकडों एकड में खडी गेंहू की फसल ओले पडने से करीब 40 प्रतिशत नष्ट हो गई है। डॉ धर्मपाल त्यागी ने बताया कि गेहूं के साथ ही सब्जियों में ज्यादा नुकसान है करीब 70 प्रतिशत सब्जियां खराब हो गई हैं, उनकी मांग है कि सरकार गिरदावरी करवाये और फिर किसानों को मुआवजा दिया जाये।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages